जापान ने वर्ल्ड कप फ़ुटबॉल में रचा इतिहास

  • 19 जून 2018
इमेज कॉपीरइट Getty Images

रूस में चल रहे वर्ल्ड कप फ़ुटबॉल में अप्रत्याशित नतीजों का सिलसिला जारी है.

ग्रुप एच के एक मुक़ाबले ने जापान ने अपने से कहीं ज़्यादा मज़बूत मानी जा रही कोलंबिया टीम को 2-1 से हराकर नया इतिहास रच दिया है.

ये पहला मौका है जब किसी भी एशियाई टीम ने किसी दक्षिण अमरीकी टीम को वर्ल्ड कप फुटबॉल में हराने का कारनामा कर दिखाया है.

कोलंबिया को इस मुक़ाबले में 86 मिनट से भी ज़्यादा समय तक 10 खिलाड़ियों के साथ खेलना पड़ा.

मैच के तीसरे मिनट में ही कोलंबिया के कार्लोस सांचेंज को रेड कार्ड दिखाया गया, ये मौजूदा वर्ल्ड कप का पहला रेड कार्ड है.

इसके बाद शिंजी कागावा ने जापान की ओर से पहला गोल दागकर जापान को बढ़त दिला दी. पहले हाफ़ में कोलंबिया ने जुआन क्विंटेरो ने फ्री किक पर शानदार गोल दागकर टीम को बराबरी पर ला दिया.

मैच के दूसरे हाफ़ में कोलंबिया ने अपने स्टार खिलाड़ी हामिश रोड्रिगेज़ को ज़रूर उतारा लेकिन वे अपनी पूरी लय में नहीं दिखे.

वहीं मैच के 73वें मिनट में जापान के ओसाको ने मैच का निर्णायक गोल दागा.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इस जीत के साथ ही जापान ने 2014 वर्ल्ड कप में कोलंबिया के हाथों मिली 1-4 की हार का बदला ले लिया.

वहीं दूसरी ओर 2014 वर्ल्ड कप में क्वार्टर फ़ाइनल तक पहुंचने वाली कोलंबिया के लिए ये बेहद ख़राब शुरुआत है, क्योंकि टीम को अगले ग्रुप मुक़ाबलों में कहीं बेहतर टीम पोलैंड और सेनेगल से मुक़ाबला होना बाकी है.

जापान की जीत से बना इतिहास:-

  • जापान पहली एशियाई टीम बनी, जिसने वर्ल्ड कप में दक्षिण अमरीकी टीम को हराया
  • 1974 के बाद ये पहला वर्ल्ड कप है जब दक्षिण अमरीका की चारों टीम अपनी शुरुआती मैच में जीत हासिल नहीं कर सकी
  • वर्ल्ड कप में कोलंबिया ने अब तक 19 मैच खेले हैं, कोई भी मुक़ाबला ऐसा नहीं है जिसमें गोल नहीं हुआ हो

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे