फ़ुटबॉल वर्ल्ड कप 2018: पेनल्टी शूट आउट में मेजबान रूस ने स्पेन को बाहर किया

  • 1 जुलाई 2018
इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption पेनल्टी शूटआउट में दो गोल बचा कर रूस के गोलकीपर इगोर अकीनफ़िएफ़ बने जीत के हीरो

वर्ल्ड कप फ़ुटबॉल के अंतिम -16 मुक़ाबले में रूस ने पेनल्टी शूटआउट में स्पेन को हरा कर बाहर का रास्ता दिखा दिया. पेनल्टी शूटआउट में रूस ने स्पेन को 4-3 से हराया.

रूस के गोलकीपर इगोर अकीनफ़िएफ़ ने दो पेनल्टी पर शानदार बचाव करके अपनी टीम को क्वार्टर फ़ाइनल में पहुंचा दिया. वहीं दूसरी ओर स्पेन के कोके और लागो अस्पास पेनल्टी पर गोल करने में नाकाम रहे.

वो चार मिनट जिसमें हुआ मेसी का सपना चकनाचूर

इस बार जर्मनी पर पड़ी विश्व कप के 'अभिशाप' की मार

इमेज कॉपीरइट AFP

पेनल्टी किक का रोमांच

पेनल्टी किक में स्पेन के आंद्रेस इनिएस्ता ने पहला गोल कर अपनी टीम को मनोवैज्ञानिक बढ़त दिलाई. इसके बाद रूस के फेडर स्मोलोव ने भी गोल करने में कोई ग़लती नहीं की और इसके साथ ही स्कोर हो गया 1-1.

अब बारी थी स्पेन की और जेरार्ड पिके इसे गोल में तब्दील करने से नहीं चूके.

इसके बाद सर्गेई इग्नासेविच ने गोल कर टीम को फिर 2-2 की बराबरी पर ला दी.

पर अभी तमाशा बाक़ी था.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

स्पेन ने अगली किक के लिए डिफेंडर कोके को गेंद दी और उनके शॉट को रूस के गोलकीपर अकीनफ़िएफ़ ने रोक लिया.

अब बारी थी एलेक्जेंडर गोलोविन की और उन्होंने गोल कर रूस को मैच में पहली बार 3-2 से लीड दिलाई.

इसके बाद स्पेन के कप्तान सर्जियो रामोस ने गोल कर स्कोर 3-3 कर दिया.

रूस की ओर से चौथी पेनल्टी किक लगाने आए डेनिस चेरीशेव ने बिना कोई ग़लती गेंद गोल में डाल दिया.

अब स्पेन की ओर से सारा दारोमदार लागो अस्पास के ऊपर था लेकिन रूस के गोलकीपर अकीनफ़िएफ़ ने अपने बाएं पैर से उनके स्पॉट किक को रोक दिया और इस तरह स्पेन की टीम वर्ल्ड कप से बाहर हो गई.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption रूस के गोलकीपर अकीनफ़िएफ़

आत्मघाती गोल से खुला स्पेन का खाता

निर्धारित समय तक दोनों टीमों के बीच मुक़ाबला 1-1 से बराबरी पर था, आधे घंटे के एक्सट्रा टाइम में भी मैच का फ़ैसला नहीं हो पाया.

इससे पहले मैच के 11वें मिनट में रूस आत्मघाती गोल के चलते पिछड़ गया था. 11वें मिनट में 38 वर्षीय रूस के डिफेंडर सर्गेई इग्नासेविच के आत्मघाती गोल से स्पेन ने अपना खाता खोला. हालांकि इग्नासेविच ने महज पांच मिनट पहले ही एक शानदार बचाव किया था.

पहले हाफ के अंतिम 10 मिनटों में रूस की टीम ने स्पेन पर जोरदार हमले किए, लेकिन टीम दूसरा गोल नहीं कर सकी.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption रूसी डिफेंडर सर्गेई इग्नासेविच के आत्मघाती गोल से स्पेन ने अपना खाता खोला

रूस का पेनल्टी से गोल

महज कुछ ही देर बाद 40वें मिनट में स्पेन के बॉक्स में उसके डिफेंडर जेरार्ड पिके के हाथ पर गेंद लगी और रेफरी ने रूस को पेनल्टी दे दिया. इस पेनल्टी पर रूस के फॉरवर्ड खिलाड़ी अर्टयोम डज्युबा ने गोल करने में कोई ग़लती नहीं की. इसके साथ ही दोनों टीमें बराबरी पर आ गईं.

पहले हाफ़ के निर्धारित 45 मिनट के बाद मैच 1-1 की बराबरी पर छूटा.

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption पेनल्टी पर गोल कर रूस को बराबरी पर ले आए अर्टयोम डज्युबा

दूसरे हाफ़ में दोनों ही टीमों ने एक दूसरे पर कई आक्रमण किए लेकिन इस दौरान कोई भी टीम गोल करने में कामयाब नहीं हो सकी.

इसके बाद मैच अतिरिक्त समय में गया. लेकिन यहां भी दोनों टीमें गोल नहीं कर सकीं.

वर्ल्ड कप में रूस का सफ़र

टूर्नामेंट के पहले मैच में रूस ने सऊदी अरब को 5-0 से मात दी. इसके बाद मिस्र को भी हराया. हालांकि अपने आख़िरी ग्रुप मैच में उसे उरुग्वे के ख़िलाफ़ हार का सामना करना पड़ा.

मेजबान रूस फ़ीफ़ा वर्ल्ड कप के 21वें संस्करण में अपने बेहतरीन प्रदर्शन से सोवियत रूस के विघटन के बाद पहली बार अंतिम आठ में पहुंचा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)