फुटबॉल विश्व कप: करिश्माई क्रोएशिया पहली बार फाइनल में, इंग्लैंड का सपना टूटा

  • 12 जुलाई 2018
क्रोएशियाई टीम इमेज कॉपीरइट Getty Images

रूस में चल रहे फीफा विश्व कप 2018 की लड़ाई 32 देशों से शुरू हुई थी और इसके आख़िरी दो योद्धा कौन से होंगे, यह तय हो गया है.

इस विश्व कप का फाइनल रविवार को फ्रांस और क्रोएशिया के बीच खेला जाएगा.

अतिरिक्त समय तक खिंचे दूसरे सेमीफाइनल में क्रोएशिया ने इंग्लैंड को 2-1 हराकर फाइनल में प्रवेश किया.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption इंग्लैंड ने किया पहला गोल

हालांकि मैच शुरू होने के पांच मिनट बाद ही इंग्लैंड ने बढ़त ले ली थी. कीयरन ट्रिपियर ने शानदार फ्री किक को सीधे गोल पोस्ट में डाल दिया था. पहले हाफ तक क्रोएशिया कोई गोल नहीं कर सका और इंग्लैंड की बढ़त बरक़रार रही.

अतिरिक्त समय तक रोमांचक खेल

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption गोल के बाद जश्न मनाती क्रोएशियाई टीम

लेकिन दूसरे हाफ में क्रोएशिया ने वापसी की. 68वें मिनट में क्रोएशिया की तरफ़ से इवान पेरिसिट्स ने साइम व्रासल्जको से मिले पास को गोल पोस्ट में पहुंचा दिया.

मैच का तय समय पूरा होने तक दोनों टीमें कोई गोल नहीं कर सकीं और मुक़ाबला अतिरिक्त समय तक खिंचा.

108वें मिनट में हेडर से मिले पास पर मारियो मांद्ज़ुकित्श ने मौक़ा नहीं गंवाया और क्रोएशिया को विजयी बढ़त दिला दी. इंग्लैंड के विलक्षण गोलकीपर जॉर्डन पिकफोर्ड भी इस बार गेंद को गोल पोस्ट में जाने से नहीं रोक सके.

इमेज कॉपीरइट PA

आंकड़ों के आधार पर भी क्रोएशियाई टीम इंग्लैंड की टीम से बीस साबित हुई. मैच के दौरान 55 फीसदी समय तक गेंद क्रोएशियाई खिलाड़ियों के क़ब्ज़े में रही. क्रोएशियाई टीम ने गोल पोस्ट को निशाने पर लेकर सात शॉट लगाए, जबकि इंग्लैंड सिर्फ दो बार ऐसा कर सका.

क्रोएशियाई टीम को कुल आठ और इंग्लैंड की टीम को चार कॉर्नर मिले.

40 लाख की आबादी वाला क्रोएशिया पहली बार फीफा विश्व कप का फाइनल खेलेगा. वहीं 52 साल बाद फाइनल में पहुंचने का इंग्लैंड का सपना अधूरा रह गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए