विश्व कप: क्रोएशियाई खिलाड़ियों के जश्न में उनकी जान पे बन आई

  • 12 जुलाई 2018
क्रोएशिया के खिलाड़ी इमेज कॉपीरइट YURI CORTEZ/AFP
Image caption फ़ीफ़ा विश्व कप के सेमीफ़ाइनल में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ दूसरा और निर्णायक गोल करने के बाद क्रोएशिया के खिलाड़ी जश्न मना रहे थे. तभी कुछ खिलाड़ियों ने एक अनजान शख़्स को अपने नीचे दबा पाया.

ये कहानी विश्व कप सेमीफ़ाइनल में क्रोएशिया के दूसरे गोल से शुरू होती है.

90 मिनट का खेल पूरा होने तक दोनों टीमें 1-1 गोल की बराबरी पर थीं. मुक़ाबला अतिरिक्त समय तक खिंचा और 108वें मिनट में हेडर से मिले पास पर मारियो मांद्ज़ुकिच ने मौक़ा नहीं गंवाया.

इंग्लैंड के गोलकीपर जॉर्डन पिकफ़ोर्ड भी इस बार गेंद को गोल पोस्ट में जाने से नहीं रोक सके और क्रोएशिया को विजयी बढ़त दिला दी.

क्रोएशिया के खिलाड़ी इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption कोर्टेज़ ने अचानक ही ख़ुद को क्रोएशिया के खिलाड़ियों के नीचे दबा पाया

दूसरे गोल के साथ क्रोएशिया ने इंग्लैंड को 2-1 से हराकर फ़ाइनल में प्रवेश किया.

मॉस्को के लुज़निकी स्टेडियम में क्रोएशिया के सभी खिलाड़ी एक दूसरे को गले लगाकर जश्न मना रहे थे.

रविवार को विश्व कप के फ़ाइनल में क्रोएशिया का मुक़ाबला फ़्रांस से होगा इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption रविवार को विश्व कप के फ़ाइनल में क्रोएशिया का मुक़ाबला फ़्रांस से होगा

लेकिन कुछ सबसे ज़्यादा उत्साही खिलाड़ी खुशी-खुशी में मैदान के कोने की ओर चले गये, जहाँ अक्सर फ़ोटोग्राफ़र बैठते हैं.

फ़ोटोग्राफ़रों के बैठने के लिए कई अन्य जगहों में से एक जगह कॉर्नर के पास होती है ताकि एक ख़ास एंगल से तस्वीरें खींची जा सकें.

BBC
फ़ुटबॉल और फ़ोटोग्राफ़र इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption पेशेवर फ़ोटोग्राफ़र यूपी कोर्टेज़ क्रोएशियाई खिलाड़ियों के नीचे दबे हुए भी तस्वीरें लेते रहे

यहीं कुर्सी पर सैल्वाडोर के फ़ोटोग्राफ़र यूरी कार्टेज़ बैठे थे. यूरी को समाचार एजेंसी एएफ़पी ने रूस में फ़ीफ़ा विश्व कप कवर करने भेजा है.

क्रोएशिया और इंग्लैंड इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption स्पोर्ट्स फ़ोटोग्राफ़र गोल पोस्ट को कवर करने के लिए कॉर्नर के पास बैठना पसंद करते हैं

एक अख़बार को दिए संक्षिप्त इंटरव्यू में कार्टेज़ ने बताया है कि कैसे उन्होंने क्रोएशिया के खिलाड़ियों को अपनी तरफ आते देखा.

उन्होंने कहा, "जब मैंने खिलाड़ियों को अपनी तरफ आते हुए देखा तो मैंने वाइड एंगल लेंस वाला कैमरा निकाल लिया. मुझे लगा था कि इससे बेहतर क्लोज़-अप तस्वीरें मिल सकेंगी. खिलाड़ियों के चेहरे पर जो जोश था उसे मैं कैमरे में क़ैद कर सकूंगा."

क्रोएशिया और इंग्लैंड इमेज कॉपीरइट YURI CORTEZ/AFP
Image caption यूरी कहते हैं कि खिलाड़ियों के चेहरे के भाव अपने कैमरे में क़ैद करने के लिए वो वाइड एंगल लेंस का इस्तेमाल करते हैं

यूरी ने बताया, "मैंने महसूस किया कि मेरी कुर्सी मेरे नींचे से निकल गई. मैं तस्वीरें लेता रहा. तब तक, जब तक सभी खिलाड़ी मेरे ऊपर नहीं आ गये. सभी लोग एक-दूसरे को चूम रहे थे."

यूरी कहते हैं कि उन्हें एक बार को तो लगा कि वो क्रोएशिया टीम के ही 12वें खिलाड़ी हैं.

क्रोएशिया के खिलाड़ी इमेज कॉपीरइट YURI CORTEZ/AFP
Image caption ये उन तस्वीरों में से एक है जो कार्टेज़ ने टीम के बीच फंसे हुए खींची

हालांकि बाद में क्रोएशिया टीम के खिलाड़ियों ने यूरी कोर्टेज़ से इसके लिए माफ़ी भी मांगी और उनसे पूछा कि उन्हें कहीं चोट तो नहीं लग गयी है.

Cortez with Croatian players इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption कोर्टेज़ ने कहा कि ये क्रोएशियाई टीम के साथ-साथ उनके लिए भी ये एक यादगार पल रहेगा

बहरहाल, न चाहते हुए भी यूरी कोर्टेज़ क्रोएशियाई टीम के जश्न का हिस्सा बन गए.

Photographers crowd around the Croatian players इमेज कॉपीरइट Getty Images

15 जुलाई 2018 को विश्व कप का फ़ाइनल क्रोएशिया और फ़्रांस के बीच खेला जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार