FIFA वर्ल्ड कप: तीन राष्ट्रपति और वर्ल्ड चैंपियन लेकिन चर्चा छाते की

  • 16 जुलाई 2018
FIFA इमेज कॉपीरइट Reuters

फ़ीफ़ा वर्ल्ड कप फ़िलहाल अगले चार सालों के लिए ख़त्म हो गया है लेकिन पीछे छोड़ गया है अपनी ख़ुमारी और ऐसे तमाम लम्हे जो लोगों के जेहन में हमेशा ताज़ा रहेंगे.

ऐसा ही एक लम्हा वर्ल्ड कप के फ़ाइनल मैच के बाद देखने के बाद मिला. वो लम्हा, जब दुनिया के तीन देशों के राष्ट्रपति और वर्ल्ड चैंपियन टीम की मौजूदगी में सबका ध्यान एक छाते पर चला गया.

टूर्नामेंट के ग्रैंड फ़िनाले ने फ़ुटबॉल प्रेमियों को निराश नहीं किया. फ़्रांस ने दूसरी बार मॉस्को में हुए रोमांचक फ़ाइनल मैच में क्रोएशिया को 4-2 से हराकर वर्ल्ड कप अपने नाम कर लिया.

हालांकि मैच खत्म होने के बाद थोड़ी असहज स्थिति हो गई थी क्योंकि ट्रॉफ़ी आने में वक़्त लगा और ख़िलाड़ियों को मैदान में तक़रीबन 20 मिनट तक खड़े होकर इंतज़ार करना पड़ा.

आख़िरकार, पिछली बार वर्ल्ड कप विजेता रही जर्मन फ़ुटबॉल टीम के पूर्व कप्तान फ़िलिप लाम ट्रॉफ़ी लेकर आए और कार्यक्रम आगे बढ़ सका.

दूसरी तरफ़ रूसी राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन, फ़्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों और क्रोएशिया की राष्ट्रपति कोलिंदा ग्रैबर किटारोविच मैदान पर पहुंचे.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption व्लादीमिर पुतिन और फ़ीफ़ा अध्यक्ष गियानी इन्फेंटिनो वर्ल्ड कप ट्रॉफी के साथ.

देखते ही देखते बारिश भी शुरू हो गई.

पुतिन इस बारिश से ज़रा भी परेशान नहीं दिखे. शायद इसलिए क्योंकि वो पूरे वक़्त छाते के साथ खड़े रहे लेकिन मैक्रों और कोलिंदा बारिश में भींग रहे थे.

हालांकि शिकन तो मैक्रों और कोलिंदा के चेहरों पर भी नहीं दिखी. वे खिलाड़ियों को गले लगाने में व्यस्त थे.

दोनों ने अपनी टीमों के अलावा दूसरी टीम के खिलाड़ियों को भी गले लगाया.

इन छोटे-छोटे लम्हों पर सबकी नज़र थी.

फ़ेसबुक और ट्विटर पर लोग इस दौरान हो रहे हर छोटी-बड़ी चीज़ के बारे में बात कर रहे थे. सोशल मीडिया पर एक छाते और तीन राष्ट्रपतियों की भी ख़ूब चर्चा हुई.

गैलिन ने ट्वीट किया, "मैक्रों बारिश में भींग रहे हैं और छाता लगाए पुतिन उन्हें मजे से देख रहे हैं. यह पुतिन का असली रूप है."

इमेज कॉपीरइट TWITTER

क्रोएशियाई राष्ट्रपति कोलिंदा ग्रैबर ने जिस गर्मजोशी से फ़्रांसीसी टीम के युवा खिलाड़ी किलियान एमबापे को गले लगाया, उसने सबका दिल जीत लिया.

बहुत से लोग कोलिंदा को क्रोएशियाई टीम के कप्तान लुका मोद्रिच के आंसू पोंछते देख भावुक हो गए.

घाना के मशहूर हिप-हॉप म्यूज़िशियन पैपी कोजो न ट्वीट किया,

इमेज कॉपीरइट TWITTER/PAPPY KOJO

"कोई मुझ उस तरह गले लगाए जैसे क्रोएशिया की राष्ट्रपति ने एमबापे को."

साद ने लिखा,

"क्रोएशियाई राष्ट्रपति अपने देश के हीरो मोद्रिच के आंसू पोंछ रही हैं, क्या दृश्य है!"

इमेज कॉपीरइट TWITTER

इन सब के बीच मेडल देने का औपचारिक कार्यक्रम ख़त्म हुआ.

अब फ़्रांस की विजयी टीम के कप्तान ह्यूगो लोरिस के हाथों में चमचमाती ट्रॉफ़ी देने का.

इमेज कॉपीरइट EPA

लोरिस ने ट्रॉफ़ी उठाकर हवा में लहराई और टीम के सभी खिलाड़ी उछल पड़े.

तो, 24 दिनों के मुक़ाबले और 160 से ज़्यादा गोल के बाद, फ़्रांस की जीत के साथ कुछ यूं ख़त्म हुआ फ़ीफ़ा वर्ल्ड कप-2018.

ये भी पढ़ें: 'लोग चीख रहे हैं, पाकिस्तान में इलेक्शन नहीं सेलेक्शन होने वाला है'

सनी लियोनी की फ़िल्म के नाम पर विरोध क्यों?

कहां रहना स्वास्थ्य के लिए फ़ायदेमंद है, गांव या शहर?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे