फ़ख़र ज़मां ने रचा इतिहास, बने दोहरा शतक जड़ने वाले पहले पाकिस्तानी बल्लेबाज़

  • 20 जुलाई 2018
फ़ख़र ज़मां, क्रिकेट, पाकिस्तान क्रिकेट, पाकिस्तान, वनडे रिकॉर्ड, 200 रन बनाने वाले बल्लेबाज़, वनडे में दोहरा शतक इमेज कॉपीरइट AFP

पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाज़ फ़ख़र ज़मां ने अपने देश की ओर से सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर बनाया और पहली बार वनडे में दोहरा शतक जड़ने का कारनामा किया है.

21 साल पुराने सईद अनवर के रिकॉर्ड को तोड़ते हुए फ़ख़र ज़मां ने नाबाद 210 रन बनाए. पूर्व सलामी बल्लेबाज़ सईद अनवर ने चेन्नई में 1996 में भारत के ख़िलाफ़ 194 रन की पारी खेली थी.

बुलावायो में ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ पांच वनडे मैचों की सिरीज़ के चौथे मैच में यह मुकाम हासिल करने वाले फ़ख़र ज़मां ने अपनी इस पारी के दौरान 155 गेंदों में 24 चौके और पांच छक्के जड़े. फ़ख़र की इस पारी की बदौलत पाकिस्तान ने 399 रनों का पहाड़ खड़ा किया. यह पाकिस्तान का वनडे में सबसे बड़ा स्कोर भी है.

अपनी पारी के दौरान फ़ख़र ने इमाम-उल-हक़ के साथ मिलकर पहले विकेट के लिए 304 रनों की साझेदारी निभाई जो वनडे क्रिकेट में पहले विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी का नया रिकॉर्ड भी है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

रमीज़ राजा का वो ट्वीट

फ़ख़र ने यह कारनामा पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेट कप्तान रमीज़ राजा के उस ट्वीट के महज चार दिनों बाद ही आया जिसमें तीसरे वनडे में मिली जीत के बाद उन्होंने लिखा था कि उन्होंने पाकिस्तान की जीत का आनंद नहीं उठाया. उन्होंने लिखा था कि क्यों कोई पाकिस्तानी बल्लेबाज़ वनडे में 200 रन बनाने की कोशिश नहीं करता. क्यों नहीं.. अगर ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ नहीं करेंगे तो किसके ख़िलाफ़ यह कोशिश करेंगे?

इमेज कॉपीरइट Reuters

वनडे में दोहरा शतक जड़ने वाले छठे बल्लेबाज़

फ़ख़र के अलावा भारत के सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग, रोहित शर्मा, न्यूज़ीलैंड के मार्टिन गप्टिल और वेस्टइंडीज के क्रिस गेल वनडे में दोहरा शतक जमा चुके हैं.

रोहित ने वनडे में तीन बार 200 का आंकड़ा पार किया है जबकि सहवाग दो बार और गप्टिल और गेल एक एक बार यह कारनामा कर चुके हैं. गौरतलब है कि वनडे क्रिकेट का पहला दोहरा शतक भारत के पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने लगाया था.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

कौन हैं फ़ख़र ज़मां?

फ़ख़र जमान वही बल्लेबाज़ हैं जिनकी शानदार शतकीय पारी की बदौलत पाकिस्तान ने भारत को हरा कर चैंपियंस ट्रॉफ़ी 2017 का ख़िताब अपने नाम किया था. यह वनडे में फ़ख़र ज़मां का पहला शतक भी था. इसके बाद अपने दूसरे वनडे शतक के लिए फ़ख़र को एक साल से अधिक का इंतज़ार करना पड़ा. उन्होंने अपना दूसरा वनडे शतक इसी सिरीज़ के दूसरे वनडे में बनाया और 210 रनों की यह पारी उनका महज तीसरा वनडे शतक है.

चौथे वनडे में शतक और 17वें मैच में दोहरा शतक जमाने वाले फ़ख़र वनडे मैचों में सबसे तेज़ 90 चौके जड़ने वाले खिलाड़ी भी बने गए हैं और सबसे तेज़ 100 वनडे चौके जड़ने वाले क्रिकेटर बनने की कगार पर हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ अपनी विस्फ़ोटक पारी के दौरान फ़ख़र ज़मां

विस्फ़ोटक बल्लेबाज़ी

2015 में ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ ही अपने वनडे करियर का आगाज करने वाले 28 साल के फ़ख़र ज़मां पाकिस्तान के लिए टी20 भी खेलते हैं और बेहद विस्फ़ोटक बल्लेबाज़ हैं. उनकी आतिशी बल्लेबाज़ी का अंदाजा इसी लगाया जा सकता है कि पिछले महीने (जून में) ज़िम्बाब्बे में खेले गए त्रिकोणीय टी20 सिरीज़ के वो हीरो रहे.

टूर्नामेंट के दौरान उनकी विस्फ़ोटक पारियों की बदौलत ही पाकिस्तान ने फ़ाइनल में ऑस्ट्रेलिया को हराते हुए खिताब अपने नाम किया. 55.60 रनों की औसत और 157.06 के स्ट्राइक रेट के साथ फ़ख़र ज़मां ने पांच मैचों में 278 रन बनाए और 46 गेंदों में 91 रनों की बदौलत फ़ाइनल में मैन ऑफ़ द मैच और टूर्नामेंट के मैन ऑफ़ द सिरीज़ भी रहे.

फ़ाइनल की पारी के दौरान ही फ़ख़र एक कैलेंडर साल में पाकिस्तान की ओर से 500 रन बनाने वाले पहले क्रिकेटर भी बने.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

एक और विश्व रिकॉर्ड के मुहाने पर खड़े हैं फ़ख़र

फ़ख़र ने अब तक 17 वनडे में 75.38 की औसत से 980 रन बनाए हैं. इसके साथ ही फ़ख़र वनडे क्रिकेट के सबसे तेज़ एक हज़ार रन बनाने वाले बल्लेबाज़ बनने के मुहाने पर खड़े हैं.

फिलहाल इस रिकॉर्ड के लिए 21 वनडे पारियां खेली गई हैं और जो एक साथ पांच क्रिकेटरों वेस्टइंडीज के विवियन रिचर्ड्स (1980), इंग्लैंड के केविन पीटरसन (2006) और इयान ट्रॉट (2011), दक्षिण अफ्रीका के क्विंटन डिकॉक (2014) और पाकिस्तान के बाबर आज़म (2017) के नाम है.

ये भी पढ़ें:

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे