विराट कोहली बने टेस्ट क्रिकेट के नंबर वन बल्लेबाज़

  • 5 अगस्त 2018
विराट इमेज कॉपीरइट Getty Images

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली टेस्ट क्रिकेट में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ बन गये हैं.

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने रविवार को ट्वीट किया, "पूर्व भारतीय कप्तान सचिन तेंडुलकर के बाद विराट कोहली पहले ऐसे भारतीय बल्लेबाज़ हैं जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में ये रैंकिंग हासिल की है."

शनिवार को भारतीय टीम इंग्लैंड के ख़िलाफ़ अपना पहला टेस्ट मैच हार गई थी.

लेकिन इंग्लैंड के एजबेस्टन क्रिकेट मैदान में खेले गये इस मुक़ाबले में विराट कोहली का प्रदर्शन शानदार रहा था.

भारतीय टीम 31 रनों से ये टेस्ट मुक़ाबला हार गई थी.

इस मैच में विराट कोहली ने पहली पारी में 149 रन और दूसरी पारी में 51 रन जोड़े थे.

इसी के दम पर उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज़ स्टीव स्मिथ से 'टेस्ट क्रिकेट में नंबर वन बल्लेबाज़' होने का तमगा छीन लिया.

एजबेस्टन टेस्ट के बाद विराट कोहली के सर्वाधिक 934 रेटिंग पॉइंट हैं, जबकि स्टीव स्मिथ 929 पॉइंट के साथ दूसरे नंबर पर खिसक गये हैं.

इमेज कॉपीरइट www.icc-cricket.com

शनिवार को आईसीसी ने टेस्ट क्रिकेट की जो नई रैंकिंग लिस्ट जारी की, उसमें विराट कोहली के अलावा चेतेश्वर पुजारा का भी नाम टॉप-10 बल्लेबाज़ों में शामिल है. पुजारा 791 पॉइंट के साथ छठे स्थान पर हैं.

फ़िलहाल आईसीसी की लिस्ट में भारतीय टीम 125 अंकों के साथ टेस्ट क्रिकेट में पहले नंबर पर है, जबकि इंग्लैंड 97 अंकों के साथ पाँचवे स्थान पर है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

नंबर वन रहे अन्य भारतीय बल्लेबाज़

विराट कोहली से पहले, साल 2011 में सचिन तेंडुलकर टेस्ट क्रिकेट में नंबर वन बल्लेबाज़ बने थे.

उनसे पहले सुनील गावस्कर, दिलीप वेंगसरकर, राहुल द्रविड़, विरेंद्र सहवाग और गौतम गंभीर भी टेस्ट क्रिकेट में नंबर एक बल्लेबाज़ रह चुके हैं.

कोहली से पहले सुनील गावस्कर अकेले ऐसे भारतीय बल्लेबाज़ थे जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 900 से ज़्यादा रेटिंग पॉइंट हासिल किये. उनका टॉप स्कोर था 916 पॉइंट.

हालांकि, मशहूर क्रिकेटर डोनल्ड ब्रैडमैन 961 और स्टीव स्मिथ 947 रेटिंग पॉइंट के साथ टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में बल्लेबाज़ी के लिए सबसे ज़्यादा अंक हासिल करने वाले बल्लेबाज़ हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

पर कोहली खुश नहीं!

एजबेस्टन टेस्ट ख़त्म होने के बाद 29 वर्षीय भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि जब तक उनकी टीम नहीं जीतती, उनकी सेंचुरी का कोई मतलब नहीं.

बीबीसी स्पोर्ट्स टीम से बात करते हुए उन्होंने कहा, "पहले मैं सोचता था कि विभिन्न परिस्थितियों में और दूसरे देशों में खेलना कैसा होगा. वहाँ अपने लिए कैसे रणनीति बनाई जायेगी. लेकिन अब मैं सोचता हूँ टीम को आगे कैसे ले जाना है. कप्तान बनने के बाद खिलाड़ी का नज़रिया बदल जाता है."

कोहली ने कहा, "मेरी सेंचुरी का अब कोई मतलब नहीं. टीम मैच हार गई है. वैसे भी जब नज़र बड़े मकसद पर हो तो ये सब चीज़ें छोटी दिखाई पड़ती हैं."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

स्टीव स्मिथ के पिछड़ने की वजह

बॉल टैंपरिंग विवाद के बाद मार्च में ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ को सस्पेंड कर दिया गया था.

वो केप टाउन में दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ खेले गये तीसरे टेस्ट मुक़ाबले में कैमरे पर गेंद के साथ छेड़खानी करते हुए पकड़े गये थे. उनके साथ उप-कप्तान डेविड वार्नर को भी सस्पेंड किया गया था.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
जब बच्चों की तरह रोने लगे स्टीव स्मिथ

इसके बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने इन दोनों खिलाड़ियों के खेलने पर एक साल का बैन लगा दिया था. स्टीव स्मिथ सिरीज़ का तीसरा मैच नहीं खेल पाये थे और ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ़्रीका से 3-1 से सिरीज़ हार गया था.

अगर स्टीव स्मिथ ये सिरीज़ पूरी खेलते तो उनके अंक और भी ज़्यादा होते, क्योंकि आख़िरी मैच में उन्होंने कुल 142 रन बनाये थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)