भारत ने फुटबॉल मैच में अर्जेंटीना को हराकर रचा इतिहास

  • 6 अगस्त 2018
इंडियन टीम इमेज कॉपीरइट Twitter/DDNEWS

भारत की अंडर-20 फुटबॉल टीम ने स्पेन में चल रहे कोटिफ कप 2018 के एक मुक़ाबले में अर्जेंटीना की अंडर-20 टीम को 2-1 से हराकर इतिहास रच दिया है.

भारत की इस ऐतिहासिक जीत के हीरो अनवर अली रहे जिन्होंने मैच के 68वें मिनट में एक फ्री किक को गोल में बदलकर मैच भारत के पाले में डाल दिया.

मैच के शुरुआती दौर से ही भारतीय टीम ने अपने पूरे दमख़म के साथ अर्जेंटीना के साथ टक्कर लेते हुए पहला गोल कर दिया.

भारतीय ख़िलाड़ी दीपक टांगरी ने अपने सिर का इस्तेमाल करके यानी एक शानदार हेडर खेलते हुए बॉल को अर्जेंटीना के गोल पोस्ट में डाल दिया.

इमेज कॉपीरइट Twitter/Cotif

अर्जेंटीना जैसी टीम के ख़िलाफ़ मैच के शुरुआत में ही गोल करना अपने आप में एक बड़ी बात है क्योंकि इस टीम में कई ऐसे खिलाड़ी हैं जो कई नामी क्लबों में खेल चुके हैं.

भारतीय फुटबॉल: दो शीर्ष लीग और उनका विवाद

पत्नी के पैसे चुराकर ख़रीदा फुटबॉल क्लब!

अर्जेंटीना के हाथ से निकला सेकेंड हाफ़

भारत के गोल के बाद अर्जेंटीना की टीम ने दूसरे हाफ़ के दौरान, मैच में बराबरी करने की काफ़ी कोशिश की लेकिन भारतीय टीम ने अर्जेंटीना के आक्रमण को बेअसर कर दिया.

इसके बाद 68वें मिनट में भारत की ओर से अनवर अली ने एक फ्री किक को गोल में बदलकर भारत का स्कोर 2-0 कर दिया.

लेकिन बस चार मिनट बाद ही अर्जेंटीना ने भारत के ख़ाते में एक गोल डाल दिया.

इसके बाद लगभग 18 मिनट का खेल शेष था जिसमें अर्जेंटीना को अपना दमख़म दिखाना था जिसके लिए वह जानी जाती है.

लेकिन भारतीय खिलाड़ियों जैसे अनीष राय और जीतू ने आखिर तक मजबूत किलेबंदी को कायम रखा और भारत को 2-1 से जीत दिलाकर इतिहास रच दिया.

18 साल से जीतने वालों को तमिलनाडु की लड़कियों ने हरा दिया

भारत के लिए क्यों ख़ास है ये जीत

कॉटिफ़ कप 2018 में इससे पहले भारत मर्सिया अंडर 20 और मॉरिशियाना अंडर 20 के साथ हुए शुरुआती मैचों में हार का सामना कर चुकी है. लेकिन वे वेनेजुएला की अंडर 20 टीम के साथ ड्रॉ करने में सफलता हासिल की.

अर्जेंटीना की टीम के खिलाफ़ भारतीय टीम की ये जीत अहम है इसलिए भी है क्योंकि अंडर 20 वर्ल्डकप से पहले हो रहा ये टूर्नामेंट एक क्वालिफाईंग राउंड की तरह है.

ऐसे में अर्जेंटीना के ख़िलाफ़ जीत से भारतीय ख़िलाड़ियों को तकनीक समझने और मनोबल ऊंचा रखने में मदद जरूर मिलेगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)