यूएस ओपन में बड़ा विवाद, सरीना विलियम्स ने अंपायर पर लगाया लैंगिक भेदभाव का आरोप

  • 9 सितंबर 2018
US Open 2018, Serena Williams, sexism, अमरीकी ओपन 2018, सेरेना विलियम्स, लैंगिक भेदभाव, नाओमी ओसाका, Naomi Osaka, सरीना विलियम्स इमेज कॉपीरइट Getty Images

यूएस ओपन के फ़ाइनल मुकाबले के दौरान सरीना विलियम्स एक बार फिर विवादों में घिर गईं.

सरीना ने अंपायर को झूठा और चोर कहा.

मैच के बाद सेरना ने कहा, "मैं यूएस ओपन के फ़ाइनल में बेईमानी नहीं कर रही थी."

मैच के बाद उन्होंने कहा, "मुझ पर एक गेम का जुर्माना लगाना लैंगिक भेदभाव है. यही मुकाबला अगर पुरुषों के बीच हो रहा होता तो अंपायर 'चोर' कहने पर कभी एक गेम का जुर्माना नहीं लगाते. मैं पुरुष खिलाड़ियों को अंपायर को कई बातें कहते सुन चुकी हूं.

"मैं यहां महिलाओं के अधिकार और पुरुषों से उनकी बराबरी के लिए लड़ रही हूं."

क्या है पूरा मामला

दरअसल, अमरीकी ओपन के फ़ाइनल मुकाबले में छह बार की चैम्पियन सरीना विलियम्स और पहली बार ग्रैंडस्लैम जीतने वाली जापान की नाओमी ओसाका के बीच मुक़ाबला चल रहा था. सरीना पहला सेट 6-2 से हार चुकी थीं.

दूसरे सेट के दूसरे गेम में चेयर अंपायर ने सरीना को चेतावनी दी कि 'क्योंकि उनके (सरीना के) कोच पैट्रिक मोराटोग्लू ने हाथ से कुछ इशारा किया जिसे चेयर अंपायर रामोस ने मैदान पर खेल के दौरान कोचिंग देना माना और साथ ही ग्रैंडस्लैम के नियमों का उल्लंघन भी.'

लेकिन सरीना ने चेयर अंपायर के पास जाकर कहा कि वो केवल मनोबल बढ़ा रहे थे. उन्होंने यह भी कहा कि वो जानती हैं कि ग्रैंडस्लैम प्रतियोगिताओं में खेल के दौरान कोचिंग नहीं ले सकते इसलिए वो ऐसा नहीं करेंगी.

सरीना ने रूखे स्वर में कहा, "मैं मैच जीतने के लिए बेईमानी नहीं करूंगी. इसके बजाय हारना पसंद करूंगी."

इसके बाद सरीना ने अपना गेम जीत लिया और फिर ओसाका की सर्विस को तोड़ते हुए दूसरे सेट में 3-1 से लीड ले ली. लेकिन इसके तुरंत बाद ओसाका ने भी सरीना की सर्विस तोड़ दी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

जैसे ही यह गेम खत्म हुआ सरीना ने गुस्से में अपना रैकेट मैदान पर ही पटक कर तोड़ दिया. मैच के नियमों का उल्लंघन मानते हुए अंपायर ने सरीना पर एक पॉइंट का जुर्माना लगा दिया.

इसे सुनते ही सरीना भड़क गईं और उन्होंने अंपायर रामोस से माफ़ी मांगने को कहा और कहा कि वो माइक पर दर्शकों को बताएं कि सरीना कोचिंग नहीं ले रही थी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इसके बाद जब ओसाका 4-3 से आगे थीं उनके चेहरे और हाव भाव से साफ़ झलक रहा था कि वो अंपायर के फ़ैसले से नाखुश हैं. उन्होंने एक बार फिर अंपायर रामोस से कहा कि उन्होंने एक पॉइंट चुराया है. साथ ही सरीना ने रामोस को 'चोर' कहा. इस पर मैच के दौरान तीसरी बार नियमों का उल्लंघन करने पर रामोस ने सरीना पर एक गेम का जुर्माना लगा दिया. इससे ओसाका की लीड बढ़कर 5-3 हो गई.

कोच का पक्ष

मैच के बाद कोच पैट्रिक मोराटोग्लू ने यह स्वीकार किया कि वो सरीना को कोचिंग दे रहे थे, लेकिन साथ ही यह भी कहा, "मुझे नहीं लगता कि उसने मेरी तरफ़ देखा भी था."

उन्होंने यह भी कहा कि ओसाका के कोच भी यह कर रहे थे और बाकी सभी कोच भी ऐसा करते हैं.

गौरतलब है कि कोर्ट पर कोचिंग देना ग्रैंडस्लैंम टूर्नामेंट को छोड़कर बाकी सभी डब्ल्यूटीएफ़ मैचों में मान्य है.

हालांकि मैच के बाद जब सरीना विलियम्स से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, "मुझे कोई कोचिंग नहीं दिया जा रहा था और तब मोरोटोग्लू क्या कहना चाह रहे थे ये मुझे समझ नहीं आया."

उन्होंने यह भी कहा, "हमने पहले से कोई तय संकेत नहीं बना रखा था और ना ही कभी मैंने उन्हें ऐसा करने को कहा."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

नाओमी ओसाका बनीं यूएस ओपन चैम्पियन

हालांकि इस समूचे प्रकरण के बीच जापान की 20 वर्षीय नाओमी ओसाका ने बेहद शानदार प्रदर्शन करते हुए 6-2, 6-4 से अमरीकन ओपन का ख़िताब अपने नाम कर लिया. पहले सेट में तो वो सरीना पर पूरी तरह से हावी रहीं.

ये दोनों दूसरी बार किसी मैच के लिए आमने-सामने थीं और दोनों ही बार ओसाका को जीत मिली. ओसाका ने इसी साल मार्च में मयामी ओपन के पहले राउंड में सरीना को हराया था. पिछले साल मां बनने के बाद मैदान पर सरीना की वापसी के बाद मयामी ओपन उनका दूसरा ही टूर्नामेंट था.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ओसाका सरीना विलियम्स को अपना आदर्श मानती हैं. जब ओसाका केवल 3 महीने की थीं तब सरीना विलियम्स ने अपना पहला ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट जीता था.

20 साल की ओसाका यूएस ओपन के फ़ाइनल में जगह बनाने वाली पिछले नौ साल में सबसे युवा खिलाड़ी हैं. इससे पहले, डेनमार्क की कैरोलिन वोज्नियाकी 2009 में 19 साल की उम्र में टूर्नामेंट के फ़ाइनल में पहुंची थीं.

वैसे, सबसे कम उम्र में यूएस ओपन खेलने का रिकॉर्ड मारिया शारापोवा के नाम है. 2006 में महज़ 19 साल की उम्र में उन्होंने यह ख़िताब अपने नाम किया था.

ओसाका ग्रैंडस्लैम जीतने वाली जापान की पहली टेनिस खिलाड़ी बनीं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सरीना 24वें ग्रैंडस्लैम ख़िताब से चूकीं

लातविया की अनस्तासिया सेवस्तोवा को हराकर फ़ाइनल में पहुंची छह बार की यूएस ओपन चैम्पियन सरीना विलियम्स अपने 23वें ग्रैंडस्लैम ख़िताब के लिए खेल रही थीं.

पिछले साल अपनी बेटी ओलंपिया के जन्म के बाद से वो दूसरी बार किसी ग्रैंडस्लैम के फ़ाइनल में जगह बनाने में कामयाब हुईं.

यूएस ओपन से पहले सरीना विम्बलडन के फ़ाइनल में भी पहुंची थीं, लेकिन जर्मनी की टेनिस खिलाड़ी कर्बर के हाथों हार गई थीं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

हालांकि सरीना विलियम्स यूएस ओपन के फ़ाइनल में 9वीं बार पहुंची थीं.

मैच के बाद ओसाका ने कहा, "मुझे नहीं पता था कि अंपायर और सरीना के बीच क्या चल रहा है. चूंकि यह मेरा पहला ग्रैंडस्लैम फ़ाइनल था इसलिए मैं बहुत ज़्यादा उत्साहित नहीं होना चाहती थी."

उन्होंने कहा, "सरीना जब बेंच पर आईं तो उन्होंने मुझसे कहा कि उन्हें एक पॉइंट का जुर्माना लगा है और जब उन्हें एक गेम का जुर्माना लगा तो मुझे नहीं पता था कि ये क्या हो रहा है. मैं पूरी तरह से खेल पर ध्यान केंद्रित करने की कोशिश कर रही थी."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे