आख़िरी टेस्ट में शतक लगाकर कुक ने बनाया नया कीर्तिमान

  • 10 सितंबर 2018
इमेज कॉपीरइट Reuters

अपना आख़िरी टेस्ट मैच खेल रहे एलेस्टर कुक ने शतक लगाकर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है. वैसे तो वे ऐसा करने वाले पहले खिलाड़ी नहीं हैं.

लेकिन उनका आख़िरी टेस्ट शतक इसलिए ख़ास है, क्योंकि उन्होंने अपने पहले टेस्ट में भी शतक लगाया था. ऐसा करने वाले वे इंग्लैंड के पहले क्रिकेटर हैं.

पहले और आख़िरी टेस्ट में शतक लगाने वाले खिलाड़ियों में भारत के मोहम्मद अज़हरुद्दीन के साथ-साथ ऑस्ट्रेलिया के ग्रेग चैपल, रेजिनाल्ड डफ़ और विलियम पोन्सफोर्ड शामिल हैं.

एलेस्टर कुक ने भारत के ख़िलाफ़ ही अपना पहला टेस्ट खेला था और आख़िरी टेस्ट भी वे भारत के ख़िलाफ़ खेल रहे हैं.

वर्ष 2006 में एक से पाँच मार्च तक नागपुर में हुआ भारत और इंग्लैंड का टेस्ट मैच कुक का पहला टेस्ट मैच था. उस टेस्ट की पहली पारी में कुक ने 60 और दूसरी पारी में 104 रन बनाए थे.

जबकि भारत के ख़िलाफ़ अपने करियर का आख़िरी टेस्ट मैच खेल रहे कुक ने पहली पारी में 71 रन बनाए थे. दूसरी पारी में फ़िलहाल वे शतक बनाकर खेल रहे हैं. ये उनके करियर का 33वाँ शतक है.

वर्ष 2017 के दिसंबर के बाद से उन्होंने पहली बार शतक लगाया है.

संन्यास की घोषणा

इमेज कॉपीरइट Reuters

पिछले सप्ताह इंग्लैंड की ओर से सर्वाधिक टेस्ट रन बनाने वाले एलेस्टर कुक ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा की थी.

59 टेस्ट मैचों में अपने देश की कप्तानी करने वाले कुक ने कहा कि उन्होंने जितना सोचा था, उससे ज़्यादा हासिल किया है.

भारत के ख़िलाफ़ मौजूदा टेस्ट सिरीज़ इंग्लैंड पहले ही 3-1 से जीत चुका है.

दुनियाभर में टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक रन बनाने वाले कुक छठे खिलाड़ी हैं. पहले नंबर पर भारत के सचिन तेंदुलकर हैं.

इमेज कॉपीरइट PA

साउथैम्पटन: भारत के हाथ से क्यों फिसली जीत

कोहली का टूटा ख्वाब, इंग्लैंड ने जीता मैच-सिरीज़

इस भारतीय को पहचानने में मदद मांग रहा है ICC

वो जगह जहां अब भी प्रैक्टिस करते नज़र आते हैं सर डॉन ब्रैडमैन

संन्यास की घोषणा के समय उन्होंने अपने बयान में कहा था, "मैं जानता हूँ कि ये सही समय है. हालांकि मेरे लिए ये एक पीड़ा का विषय भी है. ये सोचकर मुझे दुख होता है कि आने वाले समय में अब मैं अपने साथी खिलाड़ियों के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर नहीं कर पाऊँगा."

कुक ने स्पष्ट किया कि वे काउंटी खेलना जारी रखेंगे.

करियर

इमेज कॉपीरइट AFP

एलेस्टर कुक ने 21 वर्ष की उम्र में अपना पहला टेस्ट मैच खेला था. टीम प्रबंधन ने उन्हें 2006 में भारत के ख़िलाफ़ नागपुर टेस्ट में माइकल वॉन की जगह उतारा था. कुक ने दूसरी पारी में शतक लगाया.

कुक बीमार होने के कारण तीसरा टेस्ट नहीं खेल पाए, लेकिन उसके बाद उन्होंने लगातार 159 टेस्ट मैच खेले, जो एक रिकॉर्ड है.

'चहल की पहल से, इंग्लैंड गया दहल'

इंग्लैंड ने भारत को 86 रनों से हराया

इंग्लैंड ने भारत को 5 विकेट से हराया

रद्द होने सकती है भारत-इंग्लैंड सिरीज़?

सात ऐशेज़ सिरीज़ में कुक को खेलने का मौक़ा मिला, जिनमें से चार में इंग्लैंड की टीम विजयी रही.

वर्ष 2012 में कुक को एंड्रयू स्ट्रॉस की जगह टीम की कप्तानी मिली. उन्होंने अपनी कप्तानी में इंग्लैंड को 24 टेस्ट मैच जितवाया. सिर्फ़ वॉन ने ही उन्हें ज़्यादा 26 टेस्ट मैच अपनी कप्तानी में जितवाए हैं.

वर्ष 2012 में कुक ने अपनी कप्तानी में भारत को भारत में हराया. ऐसा 27 साल बाद हुआ.

इमेज कॉपीरइट PA

कप्तान के रूप में उन्होंने दो ऐशेज़ सिरीज़ जीते. इंग्लैंड की ओर से 10 हज़ार टेस्ट रन बनाने वाले वे पहले खिलाड़ी बने.

कुक ने इंग्लैंड की ओर से 92 एक दिवसीय मैच भी खेले हैं और 36.40 की औसत से 3240 रन बनाए हैं. 2014 के बाद से उन्होंने कोई वनडे नहीं खेला है. उन्होंने इंग्लैंड की ओर से चार टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच भी खेला है.

इंग्लैंड की ओर से कुक के रिकॉर्ड्स

  • सर्वाधिक टेस्ट शतक: 33
  • सर्वाधिक 150 से ज़्यादा टेस्ट स्कोर: 11
  • सर्वाधिक टेस्ट: 161
  • सर्वाधिक लगातार टेस्ट: 158
  • सर्वाधिक टेस्ट कप्तान के रूप में: 59
  • सर्वाधिक कैच: 173

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए