मिताली राज ने रमेश पोवार पर लगाया अपमा​नित करने का आरोप

  • 27 नवंबर 2018
भारतीय महिला क्रिकेट, मिताली राज इमेज कॉपीरइट Getty Images

महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान मिताली राज पिछले कुछ समय से चर्चा में हैं.

उन्हें टी-20 विश्व कप के सेमीफाइनल मैच में शामिल न करने को लेकर विवाद चल रहा है.

मंगलवार को ट्विटर पर #Mithali Raj और #coach ramesh powar हैशटैग अचानक ट्रेंड करने लगे हैं. इसकी वजह है कि मिताली राज ने बीसीसीआई को महिला टीम के कोच रमेश पोवार और कमिटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर्स (सीओए) की सदस्य डायना एडुलजी पर आरोप लगाते हुए एक पत्र लिखा है.

पत्र में मिताली राज ने रमेश पोवार और डायना पर भेदभावपूर्ण रवैया अपनाने और उन्हें अपमानित करने का आरोप लगाया है. मिताली ने कोच पर उन्हें बर्बाद करने की कोशिश करने का भी आरोप लगाया है. उन्होंने पत्र में टी-20 सेमी फ़ाइनल मैच का भी जिक्र किया है.

महिला टी-20 वर्ल्ड कप में मिताली राज ने लगातार दो मैचों में अर्धशतक जमाया था और उन्हें वूमेन ऑफ़ द मैच का अवॉर्ड भी मिला लेकिन इसके बावजूद उन्हें सेमी फ़ाइनल मुक़ाबले में टीम के प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं किया गया.

​इस ख़बर के सामने आने के बाद से ही लोगों के बीच चर्चा शुरू हो रही है और वो सोशल मीडिया पर अपनी राय जाहिर कर रहे हैं.

यूज़र पाइरेटेड डैक्टर्नि ने ​ट्वीट किया है, ''​महिला क्रिकेट की स्टार परफॉर्मर के साथ ऐसा व्यवहार किया जा रहा है!! श्री पोवार को अपनी हीनता से निपटने के लिए एक बेहतरीन खिलाड़ी को सजा देने की जगह कोई और तरीका अपनाना चाहिए.''

इमेज कॉपीरइट Twitter/ @MonoChronica

सर जडेजा नाम के यूजर ने लिखा है, ''मिताली राज ने सीओए सदस्य डायना एडुलजी पर पक्षपात का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा है कि कोच रमेश पोवार ने सेमीफ़ाइनल से उन्हें निकाल कर अपमानित किया है.''

एक अन्य यूजर वीरा राघव रेड्डी ने ट्वीट किया है, ''मिताली राज- उन्होंने बहुत सारे रन ज़रूर बनाए हैं लेकिन मैं कोच रमेश पोवार का समर्थन करता हूं. वह टी-20 की खिलाड़ी नहीं हैं. मैं मिताली राज को खेलता देखकर बोर हो जाता हूं.''

इमेज कॉपीरइट Twitter/@vsn23041

यूजर जैक स्पैरो ने लिखा है, ''यहां तक पुरुषों की अंडर-19 टीम को राहुल द्रविड़ जैसा कोच दिया गया है लेकिन महिलाओं की अंतरराष्ट्रीय स्तर की टीम को रमेश पोवार जैसा बी ग्रेड कोच दिया गया है.''

यूजर ​अभिनव मिश्रा ने लिखा है कि एक महान महिला खिलाड़ी मिताली राज ने अपनी कहानी बताई है कि कैसे उनके कोच रमेश पोवार ने उनका अपमान किया है. घृणित और दुखदायी... शर्मनाक!!.

कौन हैं रमेश पवार

रमेश पोवार पूर्व भारतीय क्रिकेटर हैं. वह एक ऑफ़ स्पिनर के तौर पर भारतीय क्रिकेट टीम में खेल चुके हैं. 14 अगस्त 2018 को उन्हें भारतीय महिला क्रिकेट टीम का कोच बनाया गया था.

वह टीम के साथ वेस्ट इंडीज में एक सीरिज़ और विश्व टी-20 मैचों में कोच के तौर पर जा चुके हैं.

पवार घरेलू क्रिकेट के अच्छे खिलाड़ी माने जाते हैं और मुंबई क्रिकेट टीम के साल 2002-03 की रणजी ट्रॉफ़ी जीतने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका थी. वह किंग्स XI पंजाब की तरफ़ से भी खेल चुके हैं.

नवंबर 2015 में रमेश पोवार ने क्रिकेट के सभी तरह के फॉर्मेट से संन्यास ले लिया.

इमेज कॉपीरइट TWITTER @IMHARMANPREET
Image caption टीम इंडिया की कप्तान हरमनप्रीत कौर

सेमी फ़ाइनल में हारा भारत

जिस सेमी फ़ाइनल मैच को लेकर विवाद चल रहा है उसमें भारतीय टीम को हारना का सामना करना पड़ा था. इसके बाद मिताली राज ने उन्हें बाहर रखने पर सवाल खड़ा किया था.

लेकिन, टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर ने कहा था कि ये मिताली के चयन की बात नहीं है बल्कि एक विजयी ​टीम बनाने की बात है. वह ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ जीत दर्ज करने वाली टीम में कोई छेड़छाड़ नहीं करना चाहती थीं.

इसके बाद भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली ने भी मिताली राज का समर्थन किया था. उन्होंने कहा था कि उन्हें भी एक मैच से तब बाहर कर दिया गया था. उन्होंने 15 महीनों एक भी वनडे मैच नहीं खेला था जबकि वो वन-डे मैच में अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार