हॉकी वर्ल्ड कप 2018: सलमान की दीवानी है पाकिस्तान की टीम

  • 12 दिसंबर 2018
भारतीय कप्तान मनप्रीत सिंह इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption भारतीय कप्तान मनप्रीत सिंह

पाकिस्तानी हॉकी टीम के वर्तमान मैनेजर हसन सरदार अपने दौर में जब मैदान पर हॉकी लेकर दौड़ते थे तो दुनिया उनके खेल की कायल हो जाती थी.

लेकिन हसन सरदार कहते हैं कि उन्हें भारत के भुवनेश्वर में खेले जा रहे हॉकी वर्ल्ड कप में भारतीय हॉकी खिलाड़ी सरदार सिंह की कमी खल रही है.

हसन सरदार कहते हैं, "सरदार मेरा पसंदीदा खिलाड़ी था. खेल के मैदान पर मैं उसकी कमी महसूस कर रहा हूं. लेकिन भारतीय टीम भी बहुत अच्छा खेल रही है. भारत के कप्तान मनप्रीत सिंह और युवा स्ट्राइकर दिलप्रीत सिंह को खेलते हुए देखने में बहुत अच्छा लगता है. मनप्रीत सिंह तो आपके सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक है."

पाकिस्तान की जानी-मानी सिंगर नूरजहां के दामाद हसन सरदार साल 1982 में भी भारत आ चुके हैं.

अपने पिछले दौरे को याद करते हुए वे कहते हैं, "जब मैं 1982 में भारत आया था तो तत्कालीन भारतीय कप्तान असलम शेर ख़ान ने मेरी मुलाक़ात राजीव गांधी से कराई थी. राजीव गांधी को एशियन खेलों के आयोजन की ज़िम्मेदारी दी गई थी. उन्होंने मुझे बताया कि उनकी मां इंदिरा गांधी ने कहा कि ये उनके लिए ये पहला मिशन है. राजीव ने मुझे ये सब बताया और इसके बाद हमारे बीच दोस्ती हो गई. इसके बाद कई सालों बाद जब राजीव गांधी पाकिस्तान पहुंचे तो वहां एक बार फिर हमारी मुलाक़ात हुई और उनकी मौत तक हमारी दोस्ती बनी रही."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

"कई मौकों पर मेरी मुलाक़ात बॉलीवुड की अभिनेत्रियों से भी हुई. इनमें सायरा बानो और परवीन बॉबी शामिल थीं. मैं दिलीप कुमार से भी मिल सका. वो दिन ही कुछ और थे."

भारतीय मैचों की ख़ास मेहमान

इस विश्वकप के दौरान भारत के हर मैच में एक विशेष मेहमान शामिल होता है.

ये मेहमान है आठ साल की निष्ठा कौर स्रा, जिन्हें ओडीशा सरकार मेलबर्न से लेकर आई है और वह हर मैच में एक दर्शक के रूप में शामिल होती हैं.

इमेज कॉपीरइट HARPREET LAMBA/BBC

जब भारत और कनाडा के बीच मुक़ाबला हुआ तो छोटी सी निष्ठा कप्तान मनप्रीत का हाथ पकड़कर उन्हें मैदान तक ले गईं.

साल 1994 में फेडरेशन कप और भारत के बेमिसाल डिफेंडर दिलीप तिर्की के साथ खेल चुके गुरविंदर सिंह निष्ठा के पिता हैं.

अपने पिता के साथ आई निष्ठा से जब पूछा गया कि उन्हें कैसा लग रहा है तो उन्होंने कहा, "मेरे पिता एक हॉकी प्लेयर थे. इसलिए मुझे हॉकी में बहुत रुचि है. कल मनप्रीत भइया ने मुझसे पूछा कि मैं कहाँ रहती हूं और क्या करती हूं तो उनके और टीम के साथ बात करके बहुत मज़ा आया."

लेकिन जब उनसे भारत की महिला हॉकी टीम के बारे में पूछा गया तो निष्ठा ने कहा, "महिला टीम में मेरी फेवरेट प्लेयर टीम की कप्तान रानी रामपाल हैं और मैं ऑस्ट्रेलिया में उनसे मिल चुकी हूं."

ऑस्ट्रेलिया बनाम इंडिया मैच हो तब...

निष्ठा से जब ये सवाल किया गया कि अगर ऑस्ट्रेलिया और इंडिया के बीच मैच हो तो वह किस टीम का समर्थन करेंगी.

इस सवाल पर निष्ठा कहती हैं, "मैं अपने पिता से कहूं कि वे ऑस्ट्रेलियाई जर्सी पहन लें और मैं इंडियन जर्सी पहन लूंगी. इस तरह हम दोनों लोग जीतने वाली टीम की तरफ होंगे."

निष्ठा को स्पेशल गेस्ट ऑफ़ ऑनर मिलने के पीछे भी एक कहानी है.

इमेज कॉपीरइट HARPREET LAMBA/BBC
Image caption निष्ठा पूर्व हॉकी खिलाड़ी जुगराज सिंह के साथ

साल 2018 के अप्रैल महीने में निष्ठा ऑस्ट्रेलिया में आयोजित हुए कॉमनवेल्थ खेलों के दौरान भारतीय टीम की हौसला-अफ़जाई कर रही थीं.

इसी दौरान संयोगवश ओडीशा के युवा मामलों के मंत्री चंद्र सारथी बहेरा और खेल सचिव विशाल कुमार देव की मुलाक़ात निष्ठा से हो गई.

खेल के प्रति इस लड़की का समर्पण और ज्ञान देखकर दोनों नेता काफ़ी प्रभावित हुए और उन्होंने निष्ठा को अपने परिवार के साथ वर्ल्ड कप देखने का न्योता दिया.

कक्षा तीन की छात्रा निष्ठा कहती हैं, "मुझे हॉकी खेलना पसंद है और मेरे पास कई विशेष जर्सियां भी हैं. मैं भी रानी रामपाल की तरह 28 नंबर की जर्सी पहनती हूं."

सलमान से मिलना चाहते हैं इमरान

पाकिस्तान की हॉकी टीम के भारत में कई प्रशंसक होंगे लेकिन अगर पाकिस्तानी हॉकी टीम किसी से मिलना चाहती है तो वह शख़्स है सलमान ख़ान.

वर्ल्ड कप में शामिल होने आई टीम के गोलकीपर इमरान बट सलमान ख़ान के बहुत बड़े फैन हैं और उनसे मिलना चाहते हैं.

सलमान बट कहते हैं, "जब मैं स्कूल में था तब सलमान ख़ान की फ़िल्में देखा करता था. मेरी फेवरेट फिल्म 'हम आपके हैं कौन' थी. और आप विश्वास नहीं करेंगे कि मैं अपने कपड़ों से लेकर बालों तक में सलमान ख़ान की स्टाइल को कॉपी किया करता था."

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption पाकिस्तानी गोलकीपर इमरान बट

पाक टीम के वर्तमान कोच और पूर्व स्ट्राइकर रेहान इमरान बट के ही भाई हैं और वह भी सलमान के फैन हैं.

पाकिस्तानी टीम में दिग्गज फॉरवर्ड खिलाड़ी रहे रेहान कहते हैं, "सलमान की एक फ़िल्म किक आई थी जिसके डायलॉग पाकिस्तान में फेमस हो गए थे. आप जहां भी जाएं, लोग आपको ये कहते मिल जाएंगे कि 'किक नहीं आई'. सलमान एक ऐसे सितारे हैं जिन्हें पाकिस्तान में बेहद पसंद किया जाता है और शाहरुख ख़ान को लेकर भी यही स्थिति है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार