IPL नीलामी 2019: वरुण चक्रवर्ती और शिवम दुबे क्यों बिके करोड़ों में

  • 19 दिसंबर 2018
शिवम दुबे इमेज कॉपीरइट DDSportChannel
Image caption शिवम दुबे

आईपीएल के 12वें सीज़न की नीलामी में नए खिलाड़ी पुराने खिलाड़ियों पर भारी पड़ रहे हैं. 25 साल के शिवम दुबे भी उन्हीं खिलाड़ियों में से एक हैं.

शिवम दुबे की बेस प्राइस 20 लाख थी और रॉयल चैलेंजर्स ने उन्हें पाँच करोड़ में ख़रीदा. दूसरी तरफ़ युवराज सिंह की बेस प्राइस एक करोड़ थी और वो बिके तक नहीं.

शिवम मुंबई के हैं और वो ऑलराउंडर क्रिकेटर हैं. वो दाएं हाथ के मध्यम गति के तेज़ गेंदबाज़ हैं और बांए हाथ के बल्लेबाज़ हैं.

मुंबई के ऑलराउंडर शिवम दुबे ने आईपीएल में धमाकेदार एंट्री करने के लिए किसी टी20 मैच का इंतज़ार नहीं किया. और सिर्फ़ एक ओवर ने उन्हें देश भर में ख़बरों में ला दिया.

आईपीएल नीलामी से ठीक एक दिन पहले बड़ौदा के ख़िलाफ़ वो रणजी मैच खेल रहे थे, जब स्वप्निल सिंह के एक ओवर में उन्होंने लगातार गेंदों पर पांच छक्के मारे.

25 साल के दुबे ने लॉन्ग-ऑन और मिडविकेट वाले इलाके को लक्ष्य बनाया और बार-बार गेंद को बाउंड्री पार भेजते रहे. हालांकि, वो रणजी ट्रॉफ़ी मुकाबले में एक ओवर में छह छक्के मारने के रवि शास्त्री के रिकॉर्ड की बराबरी नहीं कर सके क्योंकि आख़िरी गेंद लेग साइड पर डाल दी.

शिवम दुबे का क़द लंबा है और दिखने में मज़बूत लगते हैं. पिछले एक साल में शिवम ने अपने खेल से सबका ध्यान खींचा है. मुंबई टी20 लीग में शिवम की पारी की सबने सराहना की. इस लीग के बाद भी शिवम का प्रदर्शन जारी रहा. लंबे शॉट्स खेलने की क्षमता रखने वाले शिवम मैदान में टिकना भी जानते हैं.

शिवम स्कूल के दिनों से ही क्रिकेट खेलते थे. मुंबई की तरफ से अंडर23 में शिवम ने कई अच्छी पारियां खेली हैं. 2018 में तो वो मुंबई की टीम के लिए ख़ासे अहम खिलाड़ी बन गए.

इस दौरान शिवम ने अपनी गेंदबाज़ी में भी काफ़ी सुधार किया. विजय हजारे ट्रॉफ़ी की जीत में भी शिवम की बड़ी भूमिका रही. मुंबई टी20 लीग में शिवम ने प्रवीण तांबे के एक ओवर में छह छक्के मारे थे. यह पारी रणजी ट्रॉफी में भी शिवम ने बड़ौदा के ख़िलाफ़ स्वप्निल सिंह के ओवर में दोहराई.

IPL नीलामी: युवराज को नहीं मिला ख़रीदार, जयदेव को मिले 8.4 करोड़

वरुण चक्रवर्ती हैं मिस्ट्री स्पिनर

वरुण चक्रवर्ती को किंग्स इलेवन ने 8.4 करोड़ रुपए में ख़रीदा है. तमिलनाडु के वरुण जब 13 साल के थे तो क्रिकेट खेलना शुरू किया था. 17 साल की उम्र तक वो विकेटकीपर-बैट्समैन रहे.

इमेज कॉपीरइट TNPL

वरुण चक्रव्रती बीबीसी तमिल से बात करते हुए अपनी ख़ुशी छुपा नहीं पाए. उन्होंने कहा, ''आईपीएल में किंग्स इलेवन पंजाब के लिए चुना जाना मेरे लिए बहुत ख़ुशी की बात है. मुझे पैसे से ज़्यादा ख़ुशी इस बात की है कि मैं आईपीएल में चुना गया है. मुझे बहुत गर्व है कि मेरी प्रतिभा को इतनी तवज्जो दी गई.''

एज-ग्रुप क्रिकेट में जगह नहीं मिलने कारण वरुण ने क्रिकेट छोड़ दिया था. क्रिकेट छोड़ने के बाद वरुण चेन्नई के एसआरएम यूनिवर्सिटी से आर्किटेक्चर में डिग्री कोर्स करने लगे थे.

पांच साल के कोर्स पूरा करने के बाद वरुण ने फ्रीलांस आर्किटेक्ट के तौर पर काम करना शुरू किया था लेकिन टेनिस बॉल से क्रिकेट खेलने का शौक एक बार फिर से उनका जाग गया. वरुण ने नौकरी छोड़ दी और क्रोमबेस्ट क्रिकेट क्लब जॉइन कर लिया.

वरुण ने गेंदबाज़ी पर काम करना शुरू किया. वरुण ख़ुद को ऑलराउंडर के तौर पर तैयार कर रहे थे, लेकिन घुटने की चोट ने उनके क्रिकेट पर बहुत असर डाला. इसी चोट ने वरुण को स्पिनर गेंदबाज़ बनने के लिए प्रेरित किया.

वरुण को मिस्ट्री स्पिनर कहा जाता है. चोट से लौटने के बाद वरुण ने जुबली क्रिकेट क्लब के साथ क़रार किया. इस क्लब की तरफ़ से वरुण ने चेन्नई लीग खेला. 2017-18 में वरुण ने 31 विकेट झटके थे.

इस लीग के सातवें गेम में वरुण का औसत 8.26 और इकॉनमी रेट 3.06 रहा. वरुण ने बल्लेबाज़ी में भी दमख़म दिखाया था. वरुण ने तमिलनाडु प्रीमियर लीग 2018 भी खेला. 2018 उन्हें चार दिन चेन्नई सुपरकिंग्स के साथ खेलने का मौक़ा मिला था.

उनके करोड़ों में बिकने के बाद हरभजन सिंह ने ट्वीट किया है कि उन्होंने उसे चेन्नई सुपरकिंग्स के नेट्स पर खेलते हुए देखा है और उनमें भारत की ओर से खेलने की क्षमता है. चयनकर्ताओं को उन पर नजर रखनी चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार