IND Vs AUS: जसप्रीत बुमराह के बाद पैट कमिंस का कहर

  • 28 दिसंबर 2018
जसप्रीत बुमराह, Jasprit Bumrah इमेज कॉपीरइट Getty Images

मेलबर्न टेस्ट का तीसरा दिन दो गेंदबाज़ों जसप्रीत बुमराह और पैट कमिंस के नाम रहा. तीसरे दिन कुल 15 विकेट गिरे और इन दोनों ने इनमें से 10 विकेट चटकाए.

तीसरे दिन के खेल की समाप्ति तक भारत ने अपनी दूसरी पारी में पांच विकेट के नुकसान पर 54 रन बनाए हैं. मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर जारी इस मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ अब तक 346 रनों की बढ़त हासिल कर ली है. मेहमान टीम की तरफ से मयंक अग्रवाल (28) और ऋषभ पंत (6) तीसरे दिन नाबाद लौटे हैं.

इससे पहले तीसरे दिन भारतीय गेंदबाज़ों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम को 151 रनों पर समेट दिया. इस प्रदर्शन के अगुवा रहे तेज़ गेंदबाज़ जसप्रीत बुमराह जिन्होंने 6 विकेट लिए और अपने गेंदबाज़ी के वेरिएशन से बल्लेबाज़ों की नाक में दम कर दिया.

तीसरा दिन शुरू होने के साथ जब पहले चार ओवरों में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ हैरिस और फिंच ने चार के औसत से रन जोड़ने शुरू किए तो लगा कि ऑस्ट्रेलियाई टीम वापसी कर सकती है. लेकिन अचानक सब कुछ बदल गया.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

पहले ईशांत शर्मा ने फिंच को वापस भेज दिया और फिर बुमराह ने हैरिस को आउट कर दिया.

लंच ब्रेक से ठीक पहले बॉलिंग करते हुए बुमराह की गेंदबाज़ी में वो सब कुछ दिख रहा था जो एक सधे हुए तेज़ गेंदबाज़ में दिखता है. वो इन कटर, आउटस्विंग, स्लो बॉल और बाउंसर सभी वेरियएशन से बल्लेबाज़ को चकमा दे रहे थे.

आमतौर पर 140 किलोमीटर की स्पीड से गेंद डालने वाले बुमराह ने 33वें ओवर की आखिरी गेंद को स्लोअर डाला. उन्होंने फुल लेंथ गेंद फेंकी जो पिछली गेंद से 25 मील धीमी थी. बुमराह की इस गेंद को शॉन मार्श समझ नहीं सके और बॉल ठीक मिडिल विकेट के सामने उनके बाएं पैड पर जा लगी. अंपायर को उंगली उठाते वक्त नहीं लगा. यह ऑस्ट्रेलियाई पारी का चौथा विकेट था.

बुमराह की ये गेंद सोशल मीडिया पर ख़ासी चर्चा बटोर रही है.

इमेज कॉपीरइट Twitter/ICC

लंच के बाद का खेल शुरू हुआ तो बुमराह एक बार फिर अपने रंग में थे. इस ओवर की पहली गेंद बुमराह ने 135.2 किलोमीटर की, दूसरी यॉर्कर और पांचवी 143 किलोमीटर के स्पीड से फेंकी.

उनकी बॉलिंग के दौरान ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क टीवी पर कमेंट्री के दौरान बोले कि जसप्रीत बुमराह कोहली के लिए वैसे ही बॉलर हैं जैसे उनकी कप्तानी के दौरान रायन हैरिस थे.

"जब भी मुझे विकेट चाहिए होता था तो मैं गेंद हैरिस के हाथों में दे देता था. बुमराह कोहली के लिए ठीक वैसे ही हैं."

अगले ही ओवर में बुमराह ने हेड को बोल्ड कर एक बार फिर यह साबित कर दिया. ये लंच के बाद बुमराह का दूसरा ओवर था. पहली तीन गेंद खेलकर मार्श ने अभी अभी अपना खाता खोला था और बुमराह की चौथी गेंद पर हेड सामने थे.

लंच से पहले जिस गेंद पर बुमराह ने शॉन मार्श को आउट किया था वो 115 किलोमीटर की स्पीड से फेंकी गई थी. लेकिन ट्रेविस हेड को आउट करने वाली गेंद बुमराह ने 142 की रफ़्तार से फेंकी थी. हेड पूरी तरह चकमा खा गए और उनकी गिल्लियां बिखर गईं.

हेड के आउट होने के साथ ही आधी ऑस्ट्रेलियाई टीम पवेलियन लौट चुकी थी. स्कोर था 37 ओवर्स में 92/5.

टी ब्रेक से पहले ऑस्ट्रेलियाई पारी में केवल दो और विकेट गिरे. एक छोर पर कप्तान टिम पेन जमे हुए थे. टी ब्रेक के बाद कमेंटेटर्स के बीच एक बार फिर बुमराह की चर्चा चली. दूसरा ओवर उन्होंने फेंका और पहली गेंद ही स्टार्क के थाई पैड पर जा लगी. दूसरी गेंद फुल स्विंग थी, स्टार्क एक रन लेने में कामयाब रहे. अब सामने पेन थे और बुमराह ने उन्हें गुड लेंथ बॉल डाली जो उनके बल्ले से लगते हुए सीधी ऋषभ पंत के ग्लव्स में जा पहुंची. पेन के आउट होने तक 65 ओवर्स में ऑस्ट्रेलिया का स्कोर हो गया 147/8.

पिच पर नाथन लॉयन आए, बुमराह ने बाउंसर से उनका स्वागत किया. अगली दो गेंदों पर कोई रन नहीं बने. अगला ओवर जडेजा ने फेंका इसमें भी कोई रन नहीं बने. फिर 67वें ओवर की पहली गेंद पर ऑस्ट्रेलिया को बाई में चार रन मिले लेकिन बुमराह ने अगली ही गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया और इसी ओवर की अंतिम गेंद पर हेज़लवुड को बोल्ड कर ऑस्ट्रेलियाई पारी को समाप्त कर दिया.

ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 151 रन बनाए और पहली पारी के आधार पर भारत को 292 रनों की बढ़त मिली लेकिन इसके बावजूद विराट कोहली ने ऑस्ट्रेलिया को फॉलोऑन नहीं दिया.

क्रिकेट एक्सपर्ट हर्षा भोगले ने लिखा है, "भारत शायद कल लंच तक पारी घोषित कर सकता है. अगर तेज़ खेले तो पहले भी. शायद 50 ओवर खेलकर 160-170 रन बनाएं?"

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार