PAK VS SA: पाकिस्तानी कप्तान सरफ़राज़ अहमद क्या कहकर फँस गए?

  • 23 जनवरी 2019
सरफराज़ अहमद इमेज कॉपीरइट AFP

तारीख़ 22 जनवरी. जगह- डरबन. पाकिस्तान बनाम दक्षिण अफ़्रीका दूसरा वनडे मैच.

पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 203 रन बनाए थे. मैच में पाकिस्तानी की तरफ़ से हसन अली ने 59 और सरफ़राज़ अहमद ने 41 रन बनाए.

दक्षिण अफ़्रीका की तरफ़ से एंडाइल पेलुकवायो ने 22 रन देकर चार विकेट झटके. इसके बाद दक्षिण अफ़्रीका की टीम बल्लेबाज़ी करने उतरी.

पाकिस्तानी गेंदबाज़ दक्षिण अफ़्रीका को शुरुआती झटके देने में कामयाब रहे. फिर क्रीज़ पर आए गेंदबाज़ी में कमाल दिखाने वाले एंडाइल पेलुकवायो. एंडाइल ने नाबाद 69 रन बनाए. एंडाइल का साथ दिया डसेन ने जिन्होंने ख़ुद 80 रन बनाए. 42वें ओवर में दक्षिण अफ्ऱीकी टीम मैच जीत गई.

लेकिन जब एंडाइल क्रीज़ पर बल्लेबाज़ी कर रहे थे, उसी दौरान पाकिस्तानी कप्तान सरफ़राज़ अहमद की स्टंप के पीछे कही एक बात विवादों में घिर गई है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

स्टंप माइक में रिकॉर्ड हुई आवाज़

मैच का 37वां ओवर चल रहा था. एंडाइल पेलुकवायो क्रीज़ पर थे. स्टंप के पीछे सरफ़राज़ अहमद विकेटकीपिंग कर रहे थे.

तभी सरफ़राज़ ये कहते हुए सुनाई देते हैं, ''अबे काले तेरी अम्मी कहां बैठी हुई हैं. क्या पढ़वा के आया है आज तू?''

ये सुनकर कमेंट्री बॉक्स में कमेंटेटेर माइक अपने साथ मौजूद पाकिस्तानी कमेंटेटर रमीज़ राजा से पूछते हैं कि सरफ़राज़ क्या कह रहे हैं.

इस पर रमीज़ राजा कहते हैं, ''ये बहुत लंबा वाक्य बोला है. इसका अनुवाद मुश्किल है. ऐसा लगता है कि वो कहना चाह रहे हैं कि खिलाड़ी लकी है.''

सरफ़राज़ ने ये बात तब कही, जब एंडाइल को आउट नहीं कर पाने की झुंझलाहट पाकिस्तानी खिलाड़ियों के चेहरे पर साफ़ देखी जा सकती थी.

ऋषभ पंत शरारत करते हैं या करवाई गई

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सरफ़राज़ के ख़िलाफ़ एक्शन?

फॉक्स स्पोर्ट्स के मुताबिक़, माना जा रहा है कि नियमों का उल्लंघन करने पर आईसीसी सरफ़राज़ अहमद के ख़िलाफ़ एक्शन ले सकती है. नस्लभेदी टिप्पणियों पर एक्शन लेने को लेकर आईसीसी का आर्टिकल 2.2.1 है.

इस नियम के मुताबिक़, मैच के दौरान किसी खिलाड़ी, एंपायर या स्टाफ को भाषा, शारीरिक संकेत के ज़रिए बेइज्ज़त या प्रताड़ित करना मना है. इसके अलावा धर्म, जाति, सभ्यता या रंग के आधार पर कोई किसी पर आपत्तिजनक टिप्पणी करता है तो ये भी नियमों का उल्लंघन माना जाएगा.

एंडाइल को लेकर सरफ़राज़ की नस्लभेदी टिप्पणी और रमीज़ का उस बात को अनुवाद न करने की सोशल मीडिया पर चर्चा है.

ट्विटर पर बाबा उमर ने लिखा, ''ऐसा लगता है कि आईसीसी इस बारे में जवाब मांग सकती है.''

अरविंद लिखते हैं, ''सरफ़राज़ की इस नस्लभेदी टिप्पणी को बिलकुल स्वीकार नहीं किया जाना चाहिए.''

@Rossii__46 नाम के यूज़र लिखते हैं, ''आईसीसी को सरफ़राज़ के ख़िलाफ़ एक्शन लेना चाहिए. ऐसी नस्लभेदी टिप्पणियों को बिलकुल बर्दाश्त नहीं करना चाहिए.''

काशिफ़ लिखते हैं, ''सरफ़राज़ अहमद को इस नस्लभेदी टिप्पणी की वजह से सज़ा देनी चाहिए. उनकी घटिया भाषा बिलकुल बर्दाश्त नहीं की जाएगी.''

ऋषभ पंत ने टिम पेन से जीता 'चैलेंज'

इमेज कॉपीरइट BCCI

स्टंप की रिकॉर्डिंग और टीम इंडिया

इससे पहले भी स्टंप माइक में रिकॉर्ड हुई बातें चर्चाओं में रह चुकी हैं.

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टीम इंडिया के ऋषभ पंत की स्लेजिंग आपको याद ही होगी. तब ऋषभ की कही बातें स्टंप माइक के ज़रिए सभी ने सुनी.

ऋषभ पंत ने ऑस्ट्रेलिया से टेस्ट मैच के दौरान पैट कमिंस के पीछे खड़े होकर विकेट कीपिंग करते हुए इंग्लिश में कहा था, ''पैटी, यहां बैटिंग करना आसान नहीं. यहां हर कोई पुजारा नहीं है...यहां खेलना आसान नहीं.''

फ़रवरी 2018 में दक्षिण अफ़्रीका की धरती पर खेले गए वनडे मैच में महेंद्र सिंह धोनी की भी कुछ बातें लोगों ने सुनी थी.

धोनी ये सलाह टीम को दे रहे थे.

धोनी ने कहा था, ''भई ये बॉल तो आड़ा है. पक्का आड़ा मारेगा. चीकू फिर सीधा हो जा. वो पीछे चला गया.''

हालांकि धोनी एक बार क्रीज़ पर रहते हुए स्टंप माइक से गाली देते हुए सुने गए थे. धोनी ने कहा था- ***** उधर क्या देख रहा है, इधर देख न.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार