INDvsNZ: भारतीय क्रिकेट टीम को लेकर न्यूज़ीलैंड पुलिस ने लोगों को जारी की ‘चेतावनी’

  • 27 जनवरी 2019
भारतीय क्रिकेट टीम इमेज कॉपीरइट Getty Images

न्यूज़ीलैंड के दौरे पर गई हुई भारतीय क्रिकेट टीम के प्रदर्शन पर न्यूज़ीलैंड की ईस्टर्न डिस्ट्रिक्ट पुलिस ने चुटकी ली है. उन्होंने लोगों को फ़ेसबुक पर 'चेताते' हुए लिखा है कि वह इस समूह से 'सावधान' रहे.

ग़ौरतलब है कि पांच एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला में भारत न्यूज़ीलैंड से 2-0 से आगे है.

भारत ने नेपियर में खेले गए पहले एकदिवसीय मैच में न्यूज़ीलैंड को डकवर्थ लुईस मैथड के तहत आठ विकेट से हराया था जबकि माउंट मॉन्गनुई में खेले गए दूसरे एकदिवसीय मैच में उसे 90 रनों से शिकस्त दी थी.

दूसरे एकदिवसीय मैच में भारतीय टीम ने मेज़बान टीम को 234 रनों पर ऑलआउट कर दिया था.

इन दो हारों के बाद न्यूज़ीलैंड के हॉक्स बे और टेरोहिती क्षेत्र की ईस्टर्न डिस्ट्रिक्ट पुलिस ने अपने देश की टीम पर तंज़ कसा है और इसमें भारतीय टीम के प्रदर्शन को भी लपेटा है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption कुलदीप यादव ने दूसरे मैच में चार विकेट लिए थे

क्या कहा है पुलिस ने

ईस्टर्न डिस्ट्रिक्ट पुलिस ने अपनी फ़ेसबुक पोस्ट में लिखा है, "पुलिस लोगों को देश का दौरा कर रहे एक समूह के कारनामों को लेकर एक चेतावनी जारी करना चाहती है. चश्मदीदों ने बताया है कि उन्होंने देखा है कि पिछले हफ़्ते नेपियर और माउंट मॉन्गनुई में इस समूह ने मासूम से दिखने वाले न्यूज़ीलैंड के एक समूह पर बुरी तरह से हमला बोला है. अगर आप क्रिकेट के बल्ले या बॉल जैसे दिखने वाले किसी सामान के साथ कोई समूह देखते हैं तो उससे सावधान रहें."

ईस्टर्न डिस्ट्रिक्ट पुलिस की इस पोस्ट के साथ टीम इंडिया की तस्वीर भी लगी हुई है.

दूसरे एकदिवसीय मैच में सबसे बड़ी भूमिका चाइनामैन गेंदबाज़ कुलदीप यादव की रही जिन्होंने चार विकेट लिए. भुवनेश्वर कुमार और युज़वेंद्र चहल ने दो-दो विकेट लिए.

रनों (90) के लिहाज़ से न्यूज़ीलैंड की ज़मीन पर यह भारतीय टीम की अब तक की सबसे बड़ी जीत है. इससे पहले 2009 में भारतीय टीम ने न्यूज़ीलैंड में 84 रनों से जीत दर्ज की थी.

भारत का तीसरा एकदिवसीय मैच सोमवार को इसी मैदान पर खेला जाएगा. भारतीय टीम जहां यह मैच जीतकर सीरीज़ में अजेय बढ़त बनाना चाहेगी. वहीं, न्यूज़ीलैंड का उद्देश्य सीरीज़ में बने रहना होगा.

ये भी पढ़ें:

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार