INDvsNZ: दिनेश कार्तिक को लगा था कि छक्का मार देंगे

  • 13 फरवरी 2019
दिनेश कार्तिक इमेज कॉपीरइट Getty Images

न्यूज़ीलैंड के साथ तीसरे टी-20 मैच में हार के कारण भारत को सिरीज़ गंवानी पड़ी थी.

इस मैच में विकेटकीपर और बल्लेबाज़ दिनेश कार्तिक के उस रुख़ की आलोचना हो रही थी जिसमें उन्होंने दूसरे छोर पर खड़े क्रुनाल पांड्या को एक रन लेने से मना कर दिया था.

अब दिनेश कार्तिक ने समाचार एजेंसी पीटीआई से कहा है कि उन्हें लगा था कि वो एक छक्का मार देंगे इसलिए सिंगल नहीं लिया था.

रविवार की रात हैमिल्टन में भारत को आख़िरी ओवर में 16 रनों की ज़रूरत थी लेकिन टीम इंडिया की रणनीति धरी की धरी रह गई थी. इस बात को 33 साल के दिनेश कार्तिक ने बड़ी सहजता से स्वीकार किया है.

कार्तिक ने तीसरे बॉल पर शॉर्ट मारा तो क्रुनाल सिंगल के लिए दौड़ गए लेकिन कार्तिक ने उन्हें वापस कर दिया.

इससे स्ट्राइक कार्तिक के पास रही जबकि क्रुनाल बढ़िया खेल रहे थे. मैच हारने के बाद कार्तिक के इस फ़ैसले की आलोचना होने लगी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

कार्तिक ने इस आलोचना पर कहा है, ''मुझे लगता है कि मैं और क्रुनाल बढ़िया खेल रहे थे. हमलोग मैच को अपने कब्ज़े में लाने में सक्षम थे क्योंकि गेंदबाज़ दबाव में थे. हम अपने-अपने खेल के साथ थे. जब मैंने सिंगल नहीं लेने का फ़ैसला किया तो मुझे पूरा भरोसा था कि छक्का मारूंगा.''

हाल के वर्षों में कार्तिक क्रिकेट के छोटे फॉर्मेट में अच्छे फिनिशर के तौर पर उभरे हैं. हालांकि हैमिल्टन में कार्तिक डगमगा गए.

इसके बावजूद क्रुनाल और कार्तिक खेल को आख़िर ओवर तक लाने में सक्षम रहे थे. भारत के 16 ओवर में 145 रन छह विकेट गिर गए थे और जीत के लिए 28 गेंद में 68 रनों की ज़रूरत थी.

कार्तिक ने कहा है, ''मध्य क्रम के बल्लेबाज़ के तौर पर दबाव में बड़े शॉर्ट्स खेलने और अपनी क्षमता पर भरोसा करने के पर्याप्त मौक़े होते हैं. यह भी अहम होता है कि आप अपने पार्टनर पर भरोसा करें. मैं जो करना चाहता था वो नहीं कर पाया लेकिन क्रिकेट के लिए यह कोई नई बात नहीं है.''

धोनी सीट खाली करो कि दिनेश कार्तिक आते हैं...

इमेज कॉपीरइट Getty Images

कार्तिक और क्रुनाल ने 28 गेंदों में 63 रन जोड़े लेकिन ये जीत के लिए नाकाफ़ी साबित हुए. भारत इस हार के साथ ही 1-2 से सिरीज़ गंवा बैठा.

कार्तिक ने इस हार पर कहा है, ''किसी दिन आप चौके-छक्के लगाने में सफल होते हैं लेकिन किसी दिन गेंदबाज़ बढ़िया प्रदर्शन करने में सक्षम होते हैं. हैमिल्टन में जीत के लिए गेंदबाज टिम साउदी को श्रेय दिया जाना चाहिए कि उन्होंने दबाव में भी यॉर्कर डाले.''

कार्तिक से पूछा गया कि क्या सिंगल नहीं लेने के लिए टीम मैनेजमेंट ने कुछ कहा भी? इस पर कार्तिक ने कहा, ''सभी हालात से अवगत थे. हम दोनों ने बेहतर करने की कोशिश की. किसी दिन हम बेहतर नहीं कर पाते हैं. लेकिन हमारी टीम भी पूरे हालात को समझती है.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक,ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार