IPL 2019 : एक भूल जिससे किंग्स इलेवन पंजाब हारी

  • 28 मार्च 2019
नीतीश राणा इमेज कॉपीरइट fb page
Image caption नीतीश राणा

बुधवार को आईपीएल-12 में अपने ही घर ईडन गार्डंस में खेलते हुए मेज़बान कोलकाता नाइटराइडर्स अपने आर फैक्टर के दम पर पंजाब से पार पाने में कामयाब रही.

उसने अपने मालिक सुपर स्टार शाहरूख खान की मौजूदगी और दर्शकों से खचाखच भरे स्टेडियम में किंग्स इलेवन पंजाब को 28 रन से मात दी.

पंजाब के सामने जीत के लिए 219 रन जैसा भारी भरकम लक्ष्य था लेकिन वह 20 ओवर में चार विकेट खोकर 190 रन बना सकी. पंजाब को शुरूआत में ही तब बड़ा झटका लगा जब केएल राहुल केवल एक रन बनाकर चलते बने.

उसके बाद पिछले मैच में 79 रन बनाकर आईपीएल में इस बार घमाकेदार शुरूआत करने वाले क्रिस गेल 20 रन बनाकर रसेल का शिकार हो गए.

रसेल ने इसके बाद सरफराज़ खान को भी सस्ते में निपटाया. सरफराज़ खान 13 रन बना सके. वह तो मयंक अग्रवाल ने अगर 58 और डेविड मिलर ने नाबाद 59 रनों की पारी ना खेली होती तो उसकी हालत और भी खराब होती.

चला आर फैक्टर

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption डेविड मिलर

आंद्रे रसेल ने 21 रन देकर दो विकेट हासिल किए. इससे पहले कोलकाता के लिए आर फैक्टर साबित हुए राणा (नीतीश), रॉबिन (उथप्पा) और रसेल (आंद्रे).

दरअसल टॉस हारकर पहले बल्लेबाज़ी की दावत का कोलकाता ने जमकर लुत्फ उठाया.

उसने नीतीश राणा के 63, रॉबिन उथप्पा के नाबाद 67 और आंद्रे रसेल के 48 रन की मदद से निर्धारित 20 ओवर में चार विकेट खोकर 218 रन बनाए.

वैसे इससे पहले सुनील नारायण ने सलामी बल्लेबाज़ के तौर पर केवल नौ गेंदों पर तीन छक्कों की मदद से 24 रन बनाकर संकेत दे दिये थे कि आर अश्विन के गेंदबाज़ों का इस मैच में क्या हाल होने वाला है.

पंजाब के गेंदबाज़ों ने इस मैच में 17 छक्के खाए.

सही पड़ा दांव

इस मैच में कोलकाता के कप्तान दिनेश कार्तिक ने नीतीश राणा को सलामी बल्लेबाज़ की जगह मध्यम क्रम में उतारा.

उनका दांव सही पड़ा. नीतीश राणा ने लगातार दूसरे मैच में 60 से अधिक रन जोड़कर कोलकाता की जीत में अपना अहम योगदान दिया.

मिड विकेट पर लम्बे-लम्बे शॉट लगाने वाले नीतीश राणा को साल 2015 में खिलाड़ियों की नीलामी में मुंबई इंडियंस ने केवल 10 लाख रूपये में खरीदा. हालांकि नीतीश राणा को तब आईपीएल में एक भी मैच खेलने का अवसर नही मिला.

नीतीश राणा का इंतज़ार आखिरकार साल 2017 में समाप्त हुआ और उन्होंने उस सीज़न में 13 मैचों में 333 रन बनाए.

उस दौरान शुरूआती मैचों में मुंबई की जीत में उनका अहम योगदान रहा.

उनके प्रदर्शन पर तब मुंबई के कोच रिकी पोंटिंग ने कहा था कि नीतीश राणा अगर भारत की टी-20 टीम में खेलते हुए नज़र आते है तो उन्हें कोई आश्चर्य नही होगा.

उनकी तारीफ माइकल क्लार्क ने भी की थी. नीतीश राणा के लिए पिछला आईपीएल भी बेहद कामयाब रहा. उन्होंने 2018 में 15 मैचों में 304 रन बनाए.

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption रॉबिन उथप्पा

नीतीश राणा के अलावा कोलकाता के रॉबिन उथप्पा का कमाल भी देखने को मिला.

रॉबिन ने 50 गेंदों पर छह चौके और दो छक्कों की मदद से नाबाद 67 रन बनाए.

रॉबिन उथप्पा ने अपनी पारी के दौरान जब समझदारी दिखाई जब उन्हें आंद्रे रसेल का साथ मिला.

उन्होंने अधिकतर स्ट्राइक आंद्रे रसेल को दी. उन्हें मालूम था कि ताक़तवर रसेल का बल्ला पंजाब पर भारी पडेगा. और ऐसा ही हुआ. रसेल ने नीतीश राणा के आउट होने के बाद मोर्चा संभाला. रसेल ने मैदान में उतरते ही दिखा दिया कि टी-20 में वह क्या कर सकते है.

उन्होंने केवल 17 गेंदों पर तीन चौके और पांच छक्कों के सहारे 48 रन बनाए.

पारी के 19वें ओवर में तो उन्होंने स्टेडियम में तूफान मचा दिया. यह ओवर यॉर्कर के माहिर मोहम्मद शमी कर रहे थे.

रसेल ने उनकी लगातार तीन गेंदों पर छक्के उडाए, चौथी गेंद पर भी उनके बल्ले से चौका निकला.

रॉबिन उथप्पा और रसेल के बीच चौथे विकेट के लिए 67 रनों की साझेदारी हुई.

रसेल ने इससे पहले सनराइजर्स हैदराबाद के ख़िलाफ भी केवल 19 गेंदों पर नाबाद 49 रन बनाए थे.

इस तरह से उन्होंने एक तरह से अपनी पुरानी पारी को ही दोहराया.

उनके शॉट्स की टाइमिंग इतनी ज़बरदस्त थी कि पंजाब के फिल्डर्स बस देखते रहे गए.

आखिरकार वह एंड्रयू टाई की गेंद पर छक्का लगाने की कोशिश में ठीक बाउंड्री लाइन पर मयंक अग्रवाल के हाथों लपके गए.

मैच का टर्निंग प्वाइंट

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption आंद्रे रसेल

वैसे इस मैच का टर्निग प्वाइंट तब आया जब मोहम्मद शमी की गेंद पर आंद्रे रसेल बोल्ड हो गए लेकिन गेंद नो बॉल निकली.

दरअसल पंजाब के केवल तीन फिल्डर्स सर्कल में थे जबकि वहां चार होने चाहिए थे.

यह कप्तान के रूप में आर अश्विन की सबसे बड़ी भूल थी.

बस यही से मैच भी पंजाब के हाथ से निकल गया. तब रसेल केवल तीन रन बनाकर खेल रहे थे और पारी का 17वां ओवर चल रहा था.

इसके बाद जो कुछ हुआ वह पूरे स्टेडियम ने देखा. मैच के बाद पंजाब के कप्तान आर अश्विन ने अपनी ग़लती स्वीकार की लेकिन तब तक चिड़िया खेत चुग चुकी थी.

यह कोलकाता की लगातार दूसरी जीत रही. गुरूवार को आईपीएल-12 में रॉयल चैलेंजर्स बैंग्लोर अपने ही घर में मुंबई इंडियंस का सामना करेगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे