IPL 12: धोनी चोटिल होकर बाहर, चेन्नई गई हार

  • आदेश कुमार गुप्त
  • खेल पत्रकार, बीबीसी हिंदी के लिए
इमेज कैप्शन,

सुरेश रैना

आईपीएल-12 में बुधवार को जब हैदराबाद में चेन्नई सुपर किंग्स के नियमित कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की जगह सुरेश रैना सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन के साथ टॉस करने पिच पर पहुंचे तो सब थोड़ी देर के लिए हैरान रह गए.

धोनी ख़राब फिटनेस के कारण मैच नहीं खेले, और बस इतनी सी ख़बर से लगातार तीन मैच में हार से परेशान हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन का दाढ़ी के पीछे मुरझाया चेहरा खिला उठा.

और इस खुशी को अंजाम तब मिला जब हैदराबाद ने धोनी की ग़ैरमौजूदगी का पूरा फ़ायदा उठाते हुए यह मैच छह विकेट से जीत लिया.

हैदराबाद के सामने जीत के लिए 133 रनों का लक्ष्य था जो उसने सलामी बल्लेबाज़ डेविड वार्नर के 50 और जॉनी बेयरस्टो के नाबाद 55 रन की मदद से 16.5 ओवर में चार विकेट खोकर हासिल कर लिया.

इन दोनों के बीच पहले विकेट के लिए केवल 5.4 ओवर में 66 रनों की साझेदारी मैच का टर्निंग पॉइंट भी साबित हुई.

डेविड वार्नर ने तो केवल 25 गेंदों पर 50 और बेयरस्टो ने केवल 44 गेंदों पर धुआंधार नाबाद 61 रन बनाकर चेन्नई के गेंदबाज़ों की जमकर ख़बर ली.

इमेज कैप्शन,

डेविड वार्नर

ग़लत साबित हुआ पहले बल्लेबाज़ी का फ़ैसला

इससे पहले टॉस जीतकर चेन्नई के कार्यवाहक कप्तान सुरेश रैना ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करने का हैरतअंगेज़ फ़ैसला किया.

आईपीएल में शायद ही किसी कप्तान ने इतना दिलेर फ़ैसला लिया हो, जो हैदराबाद की गेंदबाज़ी के सामने बिल्कुल ग़लत साबित हुआ.

ख़ैर चेन्नई ने सलामी जोड़ी शेन वॉटसन के 31 और फाफ डू प्लेसी के 45 रनों के सहारे जैसे-तैसे निर्धारित 20 ओवर में पांच विकेट खोकर 132 रन बनाए.

वह तो अंबाति रायडू 25 रन बनाकर नाबाद रहे वरना हालत और भी ख़राब होती.

चेन्नई के बल्लेबाज़ों को मुश्किल में डाला लेग स्पिनर राशिद ख़ान ने.

उन्होंने चार ओवर में केवल 17 रन देकर दो विकेट हासिल किए.

उनके अलावा विजय शंकर, शाहबाज़ नदीम और खलील अहमद ने भी बेहद किफायती गेंदबाज़ी करते हुए एक-एक विकेट हासिल किया.

इमेज कैप्शन,

राशिद खान-महेंद्र सिंह धोनी

धोनी की कमी

अब अगर महेंद्र सिंह धोनी इस मैच में नहीं खेले तो क्या यही चेन्नई की हार का कारण रहा क्योंकि केवल एक खिलाड़ी के दम पर तो कोई टीम मैदान में नहीं उतरती है.

लेकिन चेन्नई ने जिस अंदाज़ में धोनी की ग़ैरमौजूदगी में घुटने टेके और हैदराबाद ने चेन्नई के क़िले में जीत की सेंध लगाई उससे यह बात सच ही साबित होती है और इस पर अपनी मोहर लगाई क्रिकेट समीक्षक अयाज़ मेमन ने.

अयाज़ मेमन मानते हैं कि कुछ ऐसा ही इस मैच में हुआ.

महेंद्र सिंह धोनी चेन्नई के प्रतिभा के धनी खिलाड़ी और कप्तान रहे हैं.

उनका इस मैच में ना होना हैदराबाद के लिए मनोवैज्ञानिक बढ़त थी.

इमेज कैप्शन,

महेंद्र सिंह धोनी

धोनी ना केवल बेहद शानदार विकेटकीपर हैं, बल्लेबाज़ है और जो उनकी तरकीब होती है, एक कप्तान का किरदार होता है, बहुत कठिन से कठिन

परिस्थिति में भी जीता देते हैं, वह कुछ सुरेश रैना की कप्तानी में देखने में नही आया.

इस मैच में मनोवैज्ञानिक लाभ शुरू से ही हैदराबाद के साथ था.

इसके अलावा टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी का फ़ैसला सुरेश रैना ने क्यों लिया.

इसके जवाब में अयाज़ मेमन कहते है कि यह निर्णय तो उनकी समझ में भी नही आया.

क्या इससे पहले कोच और धोनी से टॉस को लेकर बातचीत हुई थी.

ऐसा लगता है कि कभी-कभी ज़्यादा ज़िंदादिली दिखाने से समझदारी दिखाना बेहतर होता है.

और यह धोनी का ही कमाल था कि चेन्नई कम स्कोर वाले मैच में भी जीत रही थी.

इसे लेकर अयाज़ मेमन का मानना है कि इसमें दो बातें महत्वपूर्ण हैं.

एक तो धोनी बेहद अनुभवी है.

वह ख़ुद एक बहुत बड़े बल्लेबाज़ और विकेटकीपर हैं.

इमेज कैप्शन,

महेंद्र सिंह धोनी

खेल को पढ़ने की क्षमता

इसके अलावा एक कप्तान के रूप में उनके पास खेल को पढ़ने की बड़ी ज़बरदस्त क्षमता है.

वह इसी के दम पर गेंदबाज़ी में परिवर्तन करते है और बल्लेबाज़ पर दबाव बनाए रखते हैं.

ऐसा कोई अगर मुंबइया भाषा में कहे तो बहुत पहुंचा हुआ या बेहद सुलझा हुआ खिलाड़ी ही कर सकता है.

सब जानते है कि धोनी कितने बड़े कप्तान रहे हैं, और इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि वह दूसरे कप्तान से हमेशा एक कदम आगे रहते हैं जो रैना की कप्तानी में नज़र नही आया.

इसके अलावा इस मैच में जॉनी बेयरस्टो और डेविड वार्नर का बल्ला जैसा गरजा उसे लेकर भी अयाज़ मेमन कहते हैं कि अभी तक हैदराबाद को जितनी भी जीत मिली हैं उसमें इन्ही दोनों का योगदान रहा है.

इमेज कैप्शन,

जॉनी बेयरस्टो

वॉर्नर और बेयरस्टो के अलावा किसी और बल्लेबाज़ ने हैदरबाद के लिए बड़ी पारी नही खेली है.

यहां तक कप्तान केन विलियमसन इस मैच में भी कुछ ख़ास नहीं कर सके.

हां हैदराबाद की गेंदबाज़ी अच्छी है.

राशिद खान शायद टी-20 में दुनिया के सबसे बेहतरीन लेग स्पिनर है.

अयाज़ मेमन यह भी मानते हैं कि वॉर्नर और बेयरस्टो के अलावा दूसरे बल्लेबाज़ों को भी लय में आना चाहिए क्योंकि 'लॉ ऑफ़ एवरेज' के मुताबिक ऐसे भी दिन होंगे, जब उनका बल्ला नहीं चलेगा.

ख़ैर जो भी हो अभी भी चेन्नई सुपर किंग्स नौ मैच में सात जीत और दो हार और 14 अंको के साथ अंक तालिका में अभी भी पहले स्थान पर है.

दूसरी तरफ सनराइजर्स हैदराबाद आठ मैचो में चार जीत और चार हार के बाद आठ अंको के साथ पांचवें पायदान पर है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)