विराट कोहली ने वर्ल्ड कप टीम में ऋषभ पंत को क्यों नहीं रखा

  • 15 मई 2019
विराट कोहली इमेज कॉपीरइट Getty Images

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि दिनेश कार्तिक अनुभवी और दबाव में आत्मसंयम रखने वाले खिलाड़ी हैं इसलिए विश्व कप के लिए टीम के चयन में दूसरे विकेट कीपर के तौर पर युवा सलामी बल्लेबाज़ ऋषभ पंत की जगह उन्हें प्राथमिकता दी गई.

महेंद्र सिंह धोनी विश्व कप में पहले विकेट कीपर के तौर पर टीम में हैं जबकि 15 लोगों की टीम में दूसरे विकेट कीपर के तौर पर दिनेश कार्तिक को जगह दी गई है. ऋषभ पंत की पहचान आक्रामक बल्लेबाज़ की है लेकिन उन्हें विश्व कप में नहीं चुने जाने पर कई लोग सवाल उठा रहे थे.

इन्हें सवालों के बाद ऋषभ पंत और अंबाती रायडू विश्व कप टीम में अतिरिक्त खिलाड़ी के तौर पर शामिल किया गया था. सुनील गावस्कर ने पंत के बाहर रहने पर हैरानी जताई थी, साथ ही गौतम गंभीर ने रायडू के बाहर रहने पर सवाल खड़ा किया था.

23 मई तक टीम में बदलाव किया जा सकता है. कई लोगों का कहना है कि विश्व कप में टीम इंडिया इस युवा खिलाड़ी की कमी महसूस करेगी. इंग्लैंड में 30 मई से क्रिकेट विश्व कप शुरू हो रहा है.

इमेज कॉपीरइट AFP/GETTY IMAGES

विराट कोहली ने टाइम्स ऑफ इंडिया अख़बार से बातचीत में कहा है, ''दबाव की स्थिति में दिनेश कार्तिक आत्मसंयम रखते हैं. यह ऐसी चीज़ है जिससे हर कोई सहमत था. उनके पास अनुभव है. अगर धोनी के साथ कुछ अनहोनी होती है तो ऐसी स्थिति में विकेट के पीछे दिनेश कार्तिक काफ़ी अहम साबित होंगे. एक फिनिशर के तौर पर भी वो काफ़ी बढ़िया हैं.''

दिनेश कार्तिक ने 2004 में एकदिवसीय अंतरर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेलना शुरू किया था और उन्होंने भारत के लिए कुल 91 मैच खेले हैं. इन मैचों में दिनेश ने ख़ुद को साबित किया है कि वो किसी भी नंबर पर बढ़िया बल्लेबाज़ी कर सकते हैं.

टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री ने कहा है कि जिन 15 लोगों को चुना गया है वो काफ़ी प्रतिभाशाली हैं. यह काम आसान नहीं था. कई लोग इस बात को मानते हैं कि कुछ योग्य लोग छूट गए हैं. हम उनकी भावनाओं को समझते हैं. लेकिन अनहोनी की स्थिति में इन्हें भी तैयार रहना है.''

विश्व कप की टीम में अपना नाम नहीं होने के बाद रायडू का एक ट्वीट काफ़ी चर्चित हुआ था. रायडू ने 16 अप्रैल को एक ट्वीट में लिखा था, ''विश्व कप देखने के लिए अभी 3डी चश्मे के लिए ऑर्डर किया है.''

इमेज कॉपीरइट Getty Images

1983 और 2011 का वर्ल्ड कप भारत जीत चुका है. इस बार भी भारतीय टीम की स्थिति अच्छी है और कई विशेषज्ञों को लगता है कि अच्छा मौक़ा है. जसप्रीत बुमराह की गेंदबाज़ी की दुनिया भर में तारीफ़ हो रही है. मोहम्मद शमी और भुवनेश्वर कुमार स्विंग गेंद फेंकने की क्षमता रखते हैं.

कोहली ने कहा कि वो चुने गए खिलाड़ियों की क्षमता से आश्वस्त हैं और उन्हें उम्मीद है कि सभी खिलाड़ी बढ़िया प्रदर्शन करेंगे. कोहली ने कहा, ''किसी भी कामयाबी के लिए कोई स्थायी नियम नहीं होता. हम ख़ुद पर भरोसा रख सकते हैं और उसे हासिल भी कर सकते हैं.''

भारत पाँच जून को साउथम्पटन में दक्षिण अफ़्रीका के साथ पहला मैच खेलेगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार