वर्ल्ड कप 2019: शिखर धवन की जगह आख़िर कौन लेगा

  • 12 जून 2019
क्रिकेट ग्राउंड इमेज कॉपीरइट Getty Images

विश्व कप 2019 की शुरुआत उतनी अच्छी नहीं हुई क्योंकि एक हफ़्ते के दौरान ही तीन मुक़ाबले बारिश से धुल गए. मंगलवार को ब्रिस्टल में श्रीलंका और बांग्लादेश के बीच मैच इस टूर्नामेंट का ऐसा तीसरा मैच था जो बारिश की वज़ह से पूरा नहीं हो सका.

इससे पहले श्रीलंका-पाकिस्तान के बीच ब्रिस्टल में और दक्षिण अफ़्रीका-वेस्ट इंडीज के बीच साउथैम्पटन में भी कुछ ओवर्स के बाद ही मैच छोड़ना पड़ा था.

7 जून को ब्रिस्टल में पाकिस्तान और श्रीलंका का मैच रद्द करना पड़ा. इस मैच में तो टॉस तक नही हो पाया.

सोमवार (10 जून) को साउथैम्पटन में दक्षिण अफ़्रीका और वेस्ट इंडीज के बीच मुक़ाबला बारिश की वजह से 7.3 ओवर्स के आगे नहीं खेला जा सका.

वहीं अगले ही दिन 11 जून को ब्रिस्टल में श्रीलंका और बांग्लादेश के बीच मुक़ाबले में तो टॉस तक नहीं हो सका. बारिश एक बार फिर विलेन बनी.

चार जून को भी श्रीलंका और अफ़ग़ानिस्तान के बीच मुक़ाबले में बारिश ने खलल डाली और 41 ओवर तक निर्धारित किए गए. इस मैच में डकवर्थ लुईस नियम के आधार पर फ़ैसला हुआ.

अब तक किसी भी विश्व कप टूर्नामेंट में बारिश से धुले मैचों की अधिकतम संख्या दो थी. यह 1992 और 2003 के विश्व कप में हुआ था. यानी, तीन बारिश से धुले मैचों की वजह से अब 2019 का विश्व कप रिकॉर्ड बुक में चढ़ गया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

'आयोजनकर्ता को दोषी नहीं ठहरा सकते'

बारिश ने भारत के अगले मैच से पहले नॉटिंगम में उसके प्रैक्टिस को भी प्रभावित किया. पूरे हफ़्ते बारिश होने की उम्मीद है और आशंका है कि यह 13 जून को न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ और 16 जून को मैनेचेस्टर में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ मैच को भी प्रभावित कर सकता है.

दुनिया के इस हिस्से में बारिश सूरज की चमकती रोशनी के तुरंत बाद ही कुछ घंटों के लिए बूंदा-बांदी या तेज़ बौछार के रूप में होती है. लेकिन अब तक तीन मैच बारिश से धुल गए हैं जो इस टूर्नामेंट में आगे के लिए अच्छे संकेत नहीं हैं.

बीते रविवार को ओवल में मैच देखने बाथ से लंदन पहुंचे एक क्रिकेट प्रशंसक सेंथिल कुमार ने कहा, "लेकिन, आप आयोजनकर्ताओं को इसके लिए दोषी नहीं ठहरा सकते."

वो कहते हैं, "मैं उम्मीद करता हूं कि, भारत का मुक़ाबला होना चाहिए. भारतीय टीम फॉर्म में दिख रही है. अब से एक या दो मैच और फिर सेमीफ़ाइनल में जगह बनाएंगे. केवल इंग्लैंड और वेस्ट इंडीज़ के पास नॉकआउट मैचों में भारत को रोकने का बहुत थोड़ा सा मौक़ा है."

ये भी पढ़ें- टीम इंडिया को झटका, शिखर धवन हुए बाहर

दक्षिण अफ्रीका फिर मायूस, पर खुल गया खाता

ब्रिटेन के युवाओं में क्रेज नहीं

लेकिन जब ब्रिस्टल और नॉटिंघम जैसे अन्य हिस्सों में बारिश हो रही थी तो मंगलवार को लंदन में बादल उमड़े हुए थे. हालांकि एक दिन पहले ही सोमवार को लंदन में पूरे दिन लगातार बारिश हो रही थी.

शहर में पूरे हफ़्ते लगातार हो रही बारिश और बारिश से धुले तीन मुक़ाबले ने यहां विश्व कप के चढ़े बुखार को उलझा डाला है. एशियाइयों को छोड़ कर टूर्नामेंट के बारे में अन्य कोई ज़्यादा बातें नहीं कर रहा है.

भारत की तरह यहां लोग विश्व कप मैचों के लिए टीवी से नहीं चिपके होते. इंग्लैंड के अच्छा प्रदर्शन और खिताब जीतने के दावेदारों में से एक होने के बावजूद ब्रिटेन के लोगों के बीच इस टूर्नामेंट को लेकर उतना उतावलापन नहीं है.

इंग्लैंड के एक क्रिकेट प्रशंसक टेरी कहते हैं, "पिछले दो दशकों के दौरान फ़ुटबॉल यहां के युवाओं का सबसे पसंदीदा खेल रहा है. हां, यदि इंग्लैंड यह खिताब जीत लेता है या टूर्नामेंट में बड़ा प्रभाव डालने में कामयाब रहता है तो इससे इस खेल को लेकर बड़े पैमाने पर बदलाव आ सकता है."

ये भी पढ़ें- भारत की ऑस्ट्रेलिया पर जीत के ये रहे पांच कारण

विश्व कप में इस बार क्यों नहीं गिर रहीं गिल्लियां

धवन की चोट और 'उनकी जगह' पर चर्चा

जैसे ही शिखर धवन के चोटिल होने और अंगूठे की चोट की वजह से तीन हफ़्ते तक उनके नहीं खेल पाने की ख़बर आई. लोगों के बीच यह चर्चा का विषय बन गया कि विराट कोहली विनिंग कॉम्बिनेशन में शिखर की जगह किसे चुनेंगे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

जो ख़बरें आ रही हैं उससे यह संकेत मिल रहा है कि लोकेश राहुल पारी की शुरुआत करेंगे और दिनेश कार्तिक संभवतः नंबर चार पर बल्ला संभालेंगे.

धवन के बारे में ख़बरों ने भारतीय प्रशंसकों के बीच संभावित प्लेइंग इलेवन के बारे में चर्चा शुरू कर दी है. पिछले मैच में धवन के शानदार शतक और उसके बाद उनकी चोट ने भारतीय प्रशंसकों को चिंतित कर दिया है.

इस विश्व कप में भारत के अंतिम दो मैच देख चुके एक प्रशंसक पार्थिव कहते हैं, "शिखर-रोहित आर्दश सलामी जोड़ी हैं. यह निश्चित ही भारत के लिए एक नुक़सान की तरह है. धवन के रिप्लेसमेंट को लेकर कोई ख़बर नहीं है. लेकिन कोई बदलाव होता भी है तो यह ऋषभ पंत होना चाहिए, जिन्हें मौक़ा मिलते मिलते रह गया."

वहीं एक अन्य प्रशंसक केशव अपनी राय बताते हैं, "धवन की जगह किसी को टीम में लेना आसान नहीं है. लोकेश राहुल भले ही पहले ओपनिंग कर चुके हैं लेकिन अभी सलामी बल्लेबाज़ के रूप में वो सही विकल्प नहीं हो सकते. अगले कुछ मैच भारत और ख़ास कर रोहित शर्मा दोनों के लिए कठिन होंगे."

'पाकिस्तान को आने दो'

हालांकि सभी प्रशंसक बारिश या धवन की चोट को लेकर चिंतित नहीं हैं.

नवीन टूर्नामेंट में भारत के फॉर्म को लेकर आश्वस्त थे. वो कहते हैं, "नॉटिंघम में बारिश हो या नहीं. हम तो मैनेचेस्टर के मुक़ाबले पर नज़र टिकाए हैं. पाकिस्तान को आने दो. भारत अपने सबसे बेहतरीन फॉर्म में होगा. बुमराह एंड कंपनी निश्चित ही पाकिस्तान की बल्लेबाज़ी की धज्जियां उड़ा देंगे."

ओवल के मुक़ाबले के लिए लंदन के दूसरे हिस्सों से पहुंचे भारतीय दर्शकों ने यहां ख़रीदारी का आनंद लिया और मैनेचेस्टर के मुक़ाबले को लेकर आशावादी दिखे.

यशवंत और उनके दोस्त भारत से यहां विश्व कप का कुछ मुक़ाबला देखने पहुंचे हैं. वो बुधवार को नॉटिंघम जा रहे हैं और उम्मीद जता रहे हैं कि वहां पहले से तय कार्यक्रम के अनुसार ही मैच खेला जाएगा.

यशवंत कहते हैं, "ओवल में जीत के बाद, हम लंदन में दो दिन घूमे और ख़रीदारी की. हम इंग्लैंड के इस दौरे को पाकिस्तान के ख़िलाफ़ जीत के साथ ख़त्म करना चाहते हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार