भारत-पाकिस्तान का मैच क्या इंग्लैंड का मौसम बिगाड़ देगा?- वर्ल्ड कप डायरी

  • 15 जून 2019
भारत-पाकिस्तान इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption फ़ाइल फोटो

मैनचेस्टर शहर आज सूरज की रोशनी से चमक रहा है. शाम के साढ़े छह बज चुके हैं, एक लंबे सफ़र के बाद मैं मैनचेस्टर पहुंच चुका हूं और हर भारतीय और पाकिस्तानी क्रिकेट फ़ैंस की तरह मुझे भी इंतज़ार है रविवार को होने वाले भारत-पाकिस्तान के मैच का. लेकिन जैसे ही मैंने यहां से फ़ेसबुक लाइव करने के लिए फ़ोन निकाला तेज़ बारिश ने मेरी योजना पर पानी फ़ेर दिया.

पिछले दो दिनों से मैंने काफ़ी सफ़र कर लिया है. एक देश से दूसरे देश पहुंचना और फिर एक शहर से दूसरे शहर विश्व कप मैचों की कवरेज के लिए घूमना, ये काफ़ी थकान भरा है लेकिन जब बात सबसे रोमांचक और आपके ड्रीम मैच की हो तो कुछ भी नामुमकिन नहीं लगता. आज मैं रविवार को ओल्ड ट्रैफ़र्ड में होने वाले भारत-पाकिस्तान की कवरेज के लिए नॉटिंघम से मैनचेस्टर आया हूं. और ये इंग्लैंड में मेरा दूसरा दिन है जहां मौसम मेरे मन लायक ही नज़र आ रहा है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption फ़ाइल फोटो

पलभर में बदलता इंग्लैंड का मौसम

जब आज सुबह मैं सो कर उठा और खिड़की के पर्दे हटाए तो लगा जैसे मैं मुंबई में हूं और यहां मॉनसून ने दस्तक दे दी है. कल से मैं नॉटिंघम में हूं और एक भी ऐसा पल नहीं है जब यहां बारिश रुकी हो. मैं और कीव (मेरे सहकर्मी) ने आज सुबह मैनचेस्टर की ट्रेन ली. इसी ट्रेन में हमारा एक भारतीय परिवार भी सफ़र कर रहा था. अखिल और ज्योति के साथ उनके दो बेटे भारत और पाकिस्तान का मैच देखने मैनचेस्टर जा रहे थे. अखिल ने ही मुझे बताया कि "मैनचेस्टर में बारिश नहीं हो रही है."

इस विश्वकप में बारिश ने मैच को बर्बाद करने का काम किया है और इससे कई क्रिकेट फ़ैंस का दिल भी तोड़ा है. हम और अखिल मैच पर बात ही कर रहे थे और बेहद खुश थे कि मैनचेस्टर में बारिश नहीं हो रही कि तभी मेरे साथी कीव जो एक ब्रिटिश नागरिक हैं उन्होंने बताया कि मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक वहां शनिवार और रविवार को बारिश हो सकती है. ये सुनते ही माने अखिल के चेहरे से सारी हंसी और खुशी मायूसी में बदल गई हो.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इसके ठीक आठ घंटे बाद कुछ ऐसी ही मायूसी का एहसास मुझे भी हुआ. मेरी तरह कई क्रिकेट फैंस को लग रहा है कि मौसम विभाग का अनुमान ग़लत साबित होगा और उम्मीदों के आसमान बेहद बुलंद हैं. लेकिन बावजूद इसके फ़ैस में थोड़ी चिंता ज़रूर है. कई लोग सोशल मीडिया पर आईसीसी को ग़लत लोकेशन चुनने के लिए कोस रहे हैं, लेकिन ये जानना बेहद दिलचस्प है कि आखिर इंग्लैंड का मौसम इतना अप्रत्याशित क्यों है?

मौसम इंग्लैंड में इतना कुछ बदल सकता है?

बीते दिन कीव ने मुझे सुझाव दिया कि अगर मैं किसी ब्रिटिश शख़्स से बात करना चाहता हूं तो मुझे ये बातचीत मौसम के हालचाल से शुरू करना चाहिए. और सफ़र के दौरान मैंने इन सुझावों का पालन किया, लेकिन मुझे लगा कि मौसम को लेकर मेरी सारी दुविधाएं खुद कीव ही दूर कर सकता है.

दरअसल, इंग्लैंड एक द्वीप देश है जो चार हिस्सों में बंटा हुआ है. उत्तर में आर्कटिक है, पश्चिम में अटलांटिक महासागर है, इसके पूर्व में पूरा यूरोप है और दक्षिण में गर्म अफ्रीका. इन सभी दिशाओं से अलग-अलग तरह की हवाएं आती हैं. ये सभी तेज़ हवाएं आपस में लड़ती हैं ऐसे में यहां के मौसम का अंदाज़ा लगना मुश्किल हो जाता है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption फ़ाइल फ़ोटो

वैसे तो अभी यहां इंग्लैंड में गर्मी का समय माना जाता है, लेकिन बारिश ने गर्मी में भी बेहद ठंडक पैदा कर दी है.

लेकिन यह मायने नहीं रखता कि यहां मौसम कैसा है? इंग्लैंड में बारिश एक निरंतर चीज़ है , किसी भी मौसम में और कभी भी यहां बारिश हो सकती है. यहां के लोग हमेशा एक छाता लेकर चलते हैं.

क्या रविवार को मैच ख़राब करेगी बारिश?

मौसम का पूर्वानुमान बताता है कि बारिश शनिवार को भी जारी रहेगी. लेकिन सबसे अहम है रविवार का दिन, उम्मीद है कि रविवार की सुबह और दोपहर में मौसम खेल के लिहाज़ से अच्छा रह सकता है. पूर्वानुमान के मुताबिक रविवार को दोपहर 2 बजे के बाद बारिश संभव है लेकिन फिलहाल कोई भी इस बात की पुष्टि नहीं कर रहा है कि बारिश होगी या नहीं.

यहां एक कैब ड्राइवर शाहिद ने सुबह बेहद सटीक बात कही, "आईसीसी को ये मैच जरूर करवाना चाहिए. अगर 50 ओवर नहीं तो 20 ओवर ही सही, लेकिन मैच होना चाहिए."

शाहिद पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में पैदा हुए और फिर अपने परिवार के साथ लंदन आ गए.

वो आगे कहते हैं, "द शो मस्ट गो ऑन".

लेकिन अभी यहां मैनचेस्टर में मुझे केवल बारिश नज़र आ रही है. ये तो वक़्त बताएगा कि इंद्र देवता हम पर कितने खुश होते हैं?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार