INDvsPAK: क्या विराट कोहली आउट हुए बिना वापस लौटे?

  • 16 जून 2019
virat kohli इमेज कॉपीरइट Getty Images

पाकिस्तान के ख़िलाफ़ 46.4 ओवर का खेल होने के बाद बारिश की वजह से मैच रुक गया और जब दोबारा शुरू हुआ तो वहाब रियाज़ गेंदबाज़ी कर रहे थे. इस ओवर की अंतिम गेंद पर विराट कोहली ने थर्ड मैन पर चौका जड़ा.

अगले ओवर में गेंद मोहम्मद आमिर के हाथों में थी लेकिन विराट भी आत्मविश्वास से भरे दिख रहे थे.

आमिर के इस ओवर की तीसरी गेंद पर स्क्वायर कट से विराट ने दो रन बनाये और अब 65 गेंदों पर 77 रन बना कर खेल रहे थे. लेकिन अगली ही गेंद पर वो आउट हो गये.

आमिर ने बाउंसर फेंका और विराट ने बल्ला घूमा कर हुक शॉट से इसे फाइन लेग की ओर मारना चाहा. ऐसा लगा कि गेंद उनके बल्ले से हल्की सी लगी और विकेटकीपर कप्तान सरफ़राज़ अहमद ने विकेट के पीछे गेंद पकड़ने में कोई ग़लती नहीं की. इसके बाद विराट खुद ही पवेलियन की ओर लौटना शुरू कर दिये.

इस समय भारत का स्कोर 47.4 ओवर में पांच विकेट पर 314 रन था. कोहली चल दिये लेकिन तब तक अंपायर की उंगली भी नहीं उठी थी.

जब कुछ देर बाद टीवी पर कमेंटेटर अल्ट्रा एज़ पर कोहली के आउट होने का रिएक्शन देख रहे थे तब वहां गेंद के बल्ले से छूने का कोई स्पाइक नहीं दिखा.

शायद विराट को शॉट मारते समय कुछ आवाज़ सुनाई पड़ी थी जिसकी वजह से वो खुद को आउट मानते हुए वापस पवेलियन चल दिये थे.

अलट्रा एज क्या है?

क्रिकेट में डीआरएस यानी डिसीज़न रिव्यू सिस्टम के लिए हॉक-आई और स्निकोमीटर की जगह बेहतर तकनीक वाले अल्ट्रा एज का इस्तेमाल किया जाता है.

अल्ट्रा एज तकनीक के उपयोग से खेल के दौरान बैट, पैड और कपड़े से निकले आवाज़ के अंतर को पकड़ना आसान होता है. इस तकनीक में स्टंप्स में लगे माइक्रोफ़ोन के इस्तेमाल से अलग-अलग आवाज़ों को पकड़ने में मदद ली जाती है. इसकी मदद से यह पता लगाया जाता है कि गेंद बल्ले या पैड या बल्लेबाज़ के शरीर के किसी अन्य हिस्से से लगी है या नहीं. एलबीडब्ल्यू या कैच आउट होने की स्थिति में यह बहुत कारगर है.

इमेज कॉपीरइट Twitter @BCCI

क्या विराट के हैंडल से निकली थी आवाज़?

टीवी पर कमेंटरी कर रहे सौरव गांगुली ने यह बताया कि हो सकता है कि विराट को पुल शॉट लगाने के क्रम में बल्ले के हैंडल से चरचराहट की आवाज़ सुनाई पड़ी हो.

उन्होंने कहा कि कभी कभी बल्ले के हैंडल से चरचराने की आवाज़ सुनाई पड़ती है.

पवेलियन लौटने पर विराट के बल्ले को धोनी चेक करते हुए दिखे. वो संभवतः बल्ले के हैंडल से कुछ आवाज़ सुनने की कोशिश कर रहे थे.

विराट का पवेलियन लौटना कितना अहम था इसे इससे समझा जा सकता है कि उनके आउट होने के बाद भारत अगले 14 गेंदों में महज 22 रन जोड़ सका और पाकिस्तान के सामने जीत के लिए 337 का लक्ष्य रखा.

आउट होने से पहले सचिन का रिकॉर्ड तोड़ा

अपनी 77 रनों की पारी के दौरान 57 रन बनाते ही विराट कोहली के वनडे इंटरनेशनल में 11 हज़ार रन पूरे हो गये. इसके साथ ही विराट कोहली ने सबसे तेज़ 11 हज़ार रन बनाने का कीर्तिमान अपने नाम कर लिया.

विराट ने अपने वनडे करियर के 11000 रन पूरे करने के लिए महज 222 पारियां लीं, जबकि सचिन ने 276 पारियों में इतने रन पूरे किए थे. यानी उन्होंने सबसे कम पारियों में यह कीर्तिमान रचा.

विराट के नाम सबसे कम पारियों में 8 हज़ार, 9 हज़ार और 10 हज़ार रन पूरे करने का वर्ल्ड रिकॉर्ड पहले से दर्ज है.

इमेज कॉपीरइट TWITTER @VIRAT KOHLI
Image caption सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग के साथ विराट कोहली

11 हज़ार रन बनाने वाले 9वें बल्लेबाज़

एकदिवसीय क्रिकेट में 11 हज़ार रन बनाने वाले विराट भारत के तीसरे और दुनिया के 9वें बल्लेबाज़ हैं.

वनडे क्रिकेट में 11 हज़ार रन बनाने वाले क्रिकेट हैं- सचिन तेंदुलकर (18,426), कुमार संगकारा (14,234), रिकी पोंटिंग (13,704), सनथ जयसूर्या (13,430), महेला जयवर्धने (12,650), इंजमाम उल हक़ (11,739), जैक कैलिस (11,579) और सौरव गांगुली (11,363).

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार