पाकिस्तान की हार के बाद रोने वाला वो लड़का कौन है?

  • 20 जून 2019
मोमिन साक़िब इमेज कॉपीरइट FACEBOOK/mominsaqibofficial

मैनचेस्टर में भारत और पाकिस्तान के बीच मुक़ाबले में पाकिस्तान की हार के बाद सोशल मीडिया पर तमाम पाकिस्तानी फैंस अपना दुख जताते हुए नज़र आए थे.

ऐसे ही एक फैन मोमिन साक़िब ने मैच के बाद अपनी भावनाएं ज़ाहिर की थीं. चुटीले पंचों और कॉमिक टाइमिंग से लैस उनकी प्रतिक्रिया सोशल मीडिया पर वायरल हो गई.

इसके बाद से इंटरनेट पर लोगों के बीच उन्हें लेकर एक तरह की दिलचस्पी पैदा हो गई है.

कौन हैं मोमिन साक़िब?

साक़िब के फ़ेसबुक प्रोफ़ाइल के मुताबिक़, उनके नाम किंग्स कॉलेज लंदन की लंदन स्टूडेंट यूनियन के पहले ग़ैर-यूरोपीय अध्यक्ष बनने का रिकॉर्ड दर्ज है.

वह कॉलेज काउंसिल के भी सदस्य रह चुके हैं जो कि उनके विश्वविद्यालय की सबसे बड़ी गवर्निंग बॉडी थी. सोशल मीडिया पर उनका वीडियो वायरल होने के बाद क़यास लगाए जा रहे थे कि वो एक कॉमेडियन, यूट्यूबर या ब्लॉगर हैं.

लेकिन बीबीसी हिंदी के साथ बातचीत में उन्होंने बताया है कि वह यूट्यूबर या ब्लॉगर नहीं हैं.

मोमिन कहते हैं, "मैं एक सामान्य व्यक्ति हूं. स्नैपचैट पर अपने वीडियो प्रकाशित करता हूं. लेकिन मेरे वीडियो को दस हज़ार लोग देखते हैं. हमारे लोगों को लगता है कि आप अगर गंभीर पढ़ाई करते हैं तो आप एक्टिंग नहीं कर सकते या आप एक्टिंग करते हैं तो गंभीर पढ़ाई नहीं कर सकते. हमारे लोगों को अपनी सोच बदलने की ज़रूरत है."

भारतीयों से क्या कहना चाहते हैं मोमिन

हिंदुस्तानियों की बात करते हुए मोमिन कहते हैं, "मैं अपने भारतीय दोस्तों से कहना चाहता हूं कि अपने अंदर थोड़ी सहिष्णुता लाएं. हमें बातचीत करके मसलों को हल करना चाहिए. हम एक ऐसी रणनीतिक जगह पर हैं जहां से हम पूरी दुनिया पर राज कर सकते हैं. आप लोग थोड़ी मोहब्बत तो करके देखें और हम भी कर रहे हैं."

इसके साथ ही अपने वीडियो पर मिल रही प्रतिक्रियाओं पर उन्होंने कहा कि हमें बहुत अच्छी प्रतिक्रियाएं मिल रही हैं और कुछ ऐसे संदेश भी आ रहे हैं जिनमें गाली-गलौच का इस्तेमाल किया गया है.

मैं कहना चाहता हूं कि लोगों को गाली-गलौच का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. लेकिन जब आप कोई बड़ा काम करने निकलते हैं तो दुनिया ग़लत मंशा से आपकी आलोचना भी करते हैं.

ऐसे में ज़रूरी ये है कि आप उसका सामना करें. हम अपनी टीम और क्रिकेट की बेहतरी के लिए ये सब कर रहे हैं. लेकिन जिस इंसान ने ग़लत मंशा के साथ की गई आलोचना का सामना करना नहीं सीखा वो इंसान दुनिया में क्या कर सकता है.

सरफराज़ के मोटापे पर क्या बोले मोमिन

मोमिन साक़िब ने मैच में हार के बाद जो प्रतिक्रिया दी थी उसमें उन्हें पाकिस्तानी टीम के कप्तान सरफ़राज़ की तोंद पर भी टिप्पणी की है.

इमेज कॉपीरइट TWITTER

बीबीसी से बातचीत में उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा है, "मैं बॉडी शेमिंग के ख़िलाफ़ हूं. मैं रचनात्मक आलोचना के पक्ष में हूं."

"समस्या जम्हाई लेने से नहीं है, बल्कि जम्हाई क्यों आ रही है, इस बात से समस्या है. आपके इंडिया में एसीपी प्रद्युम्न हैं. मैं उनका बहुत बड़ा फैन हूं. इसकी जांच होनी चाहिए कि क्या खाना ज़्यादा खाया, क्या नींद पूरी नहीं हुई, मुझे लगता है कि अब इस केस को सीआईडी को देना ही पड़ेगा."

इमरान ख़ान के ट्वीट पर बात करते हुए मोमिन ने कहा कि इमरान ख़ान ने ट्वीट किया था लेकिन लंदन में बारिश की वजह से वो ट्वीट सरफ़राज़ तक पहुंचने में लेट हो गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार