#INDvAFG: वर्ल्ड कप में अफ़ग़ानिस्तान के ख़िलाफ़ ऋषभ पंत को उतारेंगे विराट?

  • 22 जून 2019
ऋषभ पंत को अफ़ग़ानों के ख़िलाफ़ उतारेंगे विराट? इमेज कॉपीरइट Getty Images

विश्व कप जैसा टूर्नामेंट जो चार साल में एक बार होता है, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद यानी आईसीसी का सबसे बड़ा टूर्नामेंट है और यही वजह है कि इसे क्रिकेट का महाकुंभ भी कहा जाता है....ज़ाहिर है टीमें इस ट्रॉफ़ी को हासिल करने के लिए सालों-साल तैयारियां करती हैं, दुनिया के बेहतरीन क्रिकेट ब्रेन्स की सेवाएं लेती हैं और विपक्षी को मात देने के नए हथियार ईज़ाद करती हैं.

कहने की ज़रूरत नहीं कि किसी भी देश का टीम प्रबंधन इस टूर्नामेंट को हल्के में नहीं लेता और न ही उसके पास प्रयोग करने के बहुत अधिक मौके होते हैं. फिर चाहे वो टीम इंडिया हो, इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया या फिर बांग्लादेश, अफ़ग़ानिस्तान ही क्यों न हों.

30 मई को शुरू हुए टूर्नामेंट में अभी तक भारत और न्यूज़ीलैंड ही दो ऐसी टीमें हैं जो अपराजेय रही हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

शनिवार को भारतीय टीम अपना पाँचवां मुक़ाबला खेलने के लिए उतरेगी. साउथैम्पटन में विराट कोहली एंड कंपनी के सामने अफ़ग़ानिस्तान की टीम होगी. वहीं न्यूज़ीलैंड मैनचेस्टर में वेस्ट इंडीज़ से भिड़ेगी.

टूर्नामेंट में भारतीय टीम अबतक एक भी मैच नहीं हारी है, जबकि अफ़ग़ानिस्तान को एक भी जीत नहीं मिली है.

ऐसे में भारत के मामले में कहा जा सकता है कि उसे अपनी बेंच स्ट्रेंग्थ को आजमाने का मौका मिल सकता है.

सलामी बल्लेबाज़ शिखर धवन अंगूठे में चोट के कारण बाहर हैं, भुवनेश्वर भी चोटिल हैं और कहा जा रहा है कि विजय शंकर के पैर के अंगूठे में बुधवार को प्रैक्टिस के दौरान जसप्रीत बुमराह की गेंद लग गई थी, हालाँकि कहा जा रहा है कि यह चोट बहुत गंभीर नहीं है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

करीब-करीब तय माना जा रहा है कि भुवनेश्वर की जगह मोहम्मद शमी को टीम में लिया जाएगा.

लेकिन क्या भारत दिल्ली के बाएं हाथ के विस्फोटक बल्लेबाज़ ऋषभ पंत को अंतिम 11 में उतारने का फ़ैसला कर सकता है?

इस सवाल का जवाब इतना आसान नहीं है, क्योंकि विकेट का विश्लेषण करने वाले तमाम क्रिकेट पंडितों को विराट कोहली अपने फ़ैसलों को हैरान कर चुके हैं. माना जाता है कि वो विनिंग कंबिनेशन के साथ छेड़छाड़ में ज़्यादा यकीन नहीं करते और 'ट्राइड एंड टेस्टेड' फॉर्मूले पर चलते हैं.

अगर इसका जवाब हाँ में है तो फिर टीम प्रबंधन किस खिलाड़ी को बाहर बिठाएगा.

बाएं हाथ के बल्लेबाज़ पंत अगर खेले तो उनके लिए विजय शंकर या केदार जाधव को जगह बनानी पड़ेगी. विजय शंकर ने पाकिस्तान के ख़िलाफ़ शानदार खेल दिखाया था. अपने ऑलराउंड खेल से उन्होंने दिखाया था कि क्यों कई अनुभवी खिलाड़ियों के मुक़ाबले वर्ल्ड कप के लिए उनका चयन सही था.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

हालाँकि केदार जाधव का प्रदर्शन भी ख़राब नहीं कहा जाएगा. उन्हें बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी दोनों में कुछ ख़ास करने का मौका ही नहीं मिल सका है. ऐसा भी नहीं है कि भारत के लिए अफ़ग़ानिस्तान बहुत ही आसान शिकार हो.

शरणार्थी शिविरों से निकलकर वर्ल्ड क्रिकेट लीग में परचम लहराने वाली ये टीम अपना दिन होने पर किसी भी विपक्षी टीम को हैरान करने की कूवत रखती है. भारत पिछले साल एशिया कप को नहीं भूला होगा जब अफ़ग़ानों ने भारत को जीत के लिए जमकर पसीना बहाने के लिए मजबूर कर दिया था.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

पंत का दावा क्यों मजबूत?

पंत बाएं हाथ से बल्लेबाज़ी करते हैं और शिखर धवन के चोट के कारण बाहर होने के बाद वो भारतीय टीम में इकलौते खब्बू बल्लेबाज़ बचे हैं. बीच के ओवरों में जब स्पिनर आक्रमण पर होते हैं तो उनके ख़िलाफ़ पंत ख़ासे फ़ायदेमंद हो सकते हैं.

ऑस्ट्रेलिया के एडम जम्पा को भी शिखर धवन के ख़िलाफ़ काफ़ी मुश्किलें आई थी. धवन ने ज़म्पा के ख़िलाफ़ करारे शॉट खेले थे और खूब रन बटोरे थे.

दूसरे 21 साल के पंत किसी भी गेंदबाज़ी आक्रमण के धुर्रे उड़ाने की काबिलियत रखते हैं, हालाँकि उनका अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय मैचों का अनुभव पाँच मुक़ाबलों तक ही सीमित है. वनडे में उन्होंने 23.25 की औसत से रन बनाए हैं और जहाँ तक लिस्ट ए मैचों की बात है तो उनका औसत 30 के करीब है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

लेकिन उन्होंने अपनी पारियों से क्रिकेट प्रशंसकों पर छाप छोड़ी है, शायद यही वजह थी कि पूर्व कप्तानों सौरभ गांगुली, रिकी पोन्टिंग और माइकल वॉन ने वर्ल्ड कप के 15 खिलाड़ियों में पंत को शामिल नहीं करने के चयन समिति के फ़ैसले को एक भूल बताया था.

बीसीसीआई ने भी युजवेंद्र चहल के साथ ऋषभ पंत की बातचीत को ट्वीट किया. पंत ने कहा, "क्रिकेटर के रूप में मैंने बचपन से यही सोचा था कि एक वर्ल्ड कप ज़रूर खेलना है चाहे कुछ भी हो और उसमें भारत के लिए खेलना है और अभी कॉल आया है तो काफी अच्छा लग रहा है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार