#PAKvNZ पाकिस्तान जीतकर भी क्या हार जाएगा, सेमी फ़ाइनल की राह और उलझी

  • 26 जून 2019
पाकिस्तान इमेज कॉपीरइट Getty Images

विश्व कप 2019 में अब तक अपराजित रही न्यूज़ीलैंड को हराकर पाकिस्तान ने सेमीफ़ाइनल में पहुंचने की अपनी उम्मीदें ज़िंदा रखी हैं.

न्यूज़ीलैंड जीत जाता तो सेमीफ़ाइनल में पहुंच जाता लेकिन अब उसे थोड़ा इंतज़ार और करना होगा.

पाकिस्तान को अब अफ़ग़ानिस्तान और बांग्लादेश से मुक़ाबला करना है. अगर वो दोनों मैचों को जीत जाता है और इंग्लैंड अपना एक मैच हार जाता है तो पाकिस्तान को सेमीफ़ाइनल में जगह मिल सकती है.

पाकिस्तान को उम्मीद है कि वो 1992 को दोहराएगा क्योंकि तब भी उसने बहुत ही ख़राब शुरुआत की थी. 1992 में पाकिस्तान ने सेमीफ़ाइनल में न्यूज़ीलैंड को ही हराया था.

न्यूज़ीलैंड के लिए सेमीफ़ाइनल में जाना कोई बड़ी बात नहीं रही है. अगर न्यूज़ीलैंड इस बार भी सेमीफ़ाइनल में पहुंचता है को विश्व कप में उसका यह आठवाँ सेमी फ़ाइनल होगा.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

पाकिस्तान की उम्मीदें

पाकिस्तान ने रविवार को लॉर्ड्स में दक्षिण अफ़्रीका को हराकर इस टूर्नामेंट में अपनी उम्मीदें ज़िदा रखी थीं. पाकिस्तान से हारने के बाद विश्व कप में 10 देशों की टीमों के अंक तालिका में दक्षिण अफ़्रीका नीचे से दूसरे नंबर यानी नौवें नंबर पर आ गया है.

दक्षिण अफ़्रीका से नीचे केवल अफ़ग़ानिस्तान है. ऑस्ट्रेलिया सेमी फ़ाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम बन गई है. ऑस्ट्रलिया से हारने के बाद सेमी फ़ाइनल में इंग्लैंड की राह भी मुश्किल हो गई है. इंग्लैंड के हारने से पाकिस्तान, बांग्लादेश और श्रीलंका की उम्मीदें बढ़ गई हैं.

पाकिस्तान में इस बात की चर्चा ज़ोरों पर है कि इस विश्व कप में भी पाकिस्तान का अभियान 1992 में इमरान ख़ानी की कप्तानी वाली टीम की तरह है.

पाकिस्तान को सात मैचों में सात अंक मिले हैं. पाकिस्तान अगर बाक़ी दोनों मैच भी जीत गया तो उसके 11 अंक हो जाएंगे.

इसके बाद भी पाकिस्तान को इंतजार करना होगा कि इंग्लैंड अपने बाक़ी दो में से एक मैच हारे. इसके साथ ही श्रीलंका और बांग्लादेश भी कम से कम एक-एक मैच हारें.

इमेज कॉपीरइट ICC

मंगलवार को लॉर्ड्स में ऑस्ट्रेलिया से इंग्लैंड का हारना पाकिस्तान के हक़ में गया. इंग्लैंड न केवल मेजबान टीम है बल्कि उसे इस विश्व कप में लोग पसंदीदा टीम भी बता रहे थे. हालांकि इंग्लैंड को पाकिस्तान और श्रीलंका से हार का सामना करना पड़ा है.

ऐसे में इंग्लैंड का सेमीफ़ाइनल में भी पहुंचना तय नहीं है. इंग्लैंड के अगले मैच भारत और न्यूज़ीलैंड से हैं. ज़ाहिर है दोनों टीमें मज़बूत हैं. अगर इंग्लैंड दोनों मैच हार जाता है तो वह अंक तालिका में आठ अंक पर ही सिमट कर रह जाएगा. अगर वो दोनों मैच जीत जाता है तो सेमीफ़ाइनल में पहुंच जाएगा.

अगर इंग्लैंड एक ही मैच जीतता है तो सेमीफ़ाइनल की कोई गारंटी नहीं होगी. अगर श्रीलंका बाक़ी के सभी मैच जीत जाता है तो उसके 12 अंक हो जाएंगे और इंग्लैंड पीछे छूट जाएगा. इंग्लैंड दोनों मैच हारने के बाद क्या टूर्नामेंट में बना रह सकता है? अगर बांग्लादेश बाक़ी के दोनों मैच (भारत, पाकिसतान) हार जाता है तो उसका अभियान सात अंक पर ही ख़त्म हो जाएगा.

पाकिस्तान अगर अफ़ग़ानिस्तान से हार जाता है तो सात अंकों पर ही मामला ख़त्म हो जाएगा. श्रीलंका के कुल तीन मैच बचे हैं और अगर इसमें से दो मैच हार जाता है तो आठ अंक पर ही उसका अभियान ख़त्म हो जाएगा.

वेस्टइंडीज़ अगर बाक़ी के तीन मैचों में से कम से कम एक हार जाता है तो उसका अभियान सात अंकों पर ख़त्म हो जाएगा.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

बांग्लादेश ने पाकिस्तान को हरा दिया तब?

बांग्लादेश को सात मैचों में सात अंक मिले हैं. बांग्लादेश का अगला मैच भारत और पाकिस्तान से है. पाकिस्तान चाहेगा कि बांग्लादेश कम से कम एक मैच हारे. अगर बांग्लादेश दोनों मैच जीत जाता है तो उसके भी 11 अंक हो जाएंगे.

श्रीलंका को छह मैच में छह अंक मिले हैं. श्रीलंका को अभी दक्षिण अफ़्रीका, वेस्ट इंडीज़ और भारत से मैच खेलने हैं. अगर श्रीलंका तीनों मैच जीत जाता है तो उसके 12 अंक हो जाएंगे.

लेकिन दो मैच जीतता है तो उसके कुल दस अंक होंगे ऐसे में उसे इंतजार करना होगा कि इंग्लैंड सभी मैच हारे, बांग्लादेश दो से ज़्यादा नहीं जीते और पाकिस्तान कम से कम एक मैच हारे.

अगर श्रीलंका तीनों मैच हार जाता है तो वो टूर्नामेंट से बाहर हो जाएगा. पाकिस्तान चाहेगा कि श्रीलंका कम से कम एक मैच हारे.

वेस्ट इंडीज को छह मैचों में महज तीन अंक मिले हैं और उसके तीन और मैच भारत, श्रीलंका, अफ़ग़ानिस्तान के ख़िलाफ़ बचे हैं. अगर वेस्ट इंडीज़ तीनों मैच जीत जाता है तब भी उसे इंतजार करना होगा कि इंग्लैंड सभी मैच हारे. इसके साथ ही बांग्लादेश और श्रीलंका को एक से ज़्यादा मैच नहीं जीतना होगा और पाकिस्तान कम से कम दो मैच हारे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

न्यूज़ीलैंड, भारत और ऑस्ट्रेलिया की राह आसान

न्यूज़ीलैंड और भारत इस टूर्नामेंट में काफ़ी मज़बूत स्थिति में हैं. न्यूज़ीलैंड के 11 अंक हैं और उसे सेमीफ़ाइनल में पहुंचने के लिए महज एक मैच जीतना है. भारत को पाँच मैचों से कुल नौ अंक मिले हैं और उसे दो और मैच जीतने की दरकार है जबकि उसके चार मैच बाक़ी हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार