क्रिकेट विश्वकप 2019: पाकिस्तान ने अजेय न्यूज़ीलैंड को किया परास्त

  • 27 जून 2019
पाकिस्तान इमेज कॉपीरइट Getty Images

पाकिस्तान ने मौजूदा विश्वकप में अपनी सबसे बड़ी जीत दर्ज कर दी है. यह जीत आंकड़ों के लिहाज़ से भले ही छह विकेट की हो लेकिन उसने इस विश्वकप में अब तक अपराजित रही टीम न्यूज़ीलैंड को मात देने में कामयाबी पाई है.

इस जीत के साथ ही पाकिस्तान ने सेमीफ़ाइनल में पहुंचने की अपनी उम्मीदों को और ज़्यादा पुख्ता कर दिया है. उसके सात मैचों में अब सात अंक हो गए हैं. फिलहाल अंकतालिका में पाकिस्तान छठें पायदान पर है.

बुधवार को न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ उतरने से पहले पाकिस्तान खेमे में यही बात चल रही थी कि विश्वकप में अभी तक किसी से हार ना मानने वाली टीम से वह कैसे पार पाएगी.

शुरुआत में हुई थोड़ी बारिश की वजह से मैच घंटेभर की देरी से शुरू हुआ. टॉस न्यूज़ीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने जीता और पहले बल्लेबाज़ी करने का फ़ैसला किया.

बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ों से सजी पाकिस्तान की पेस बैट्री के सामने न्यूज़ीलैंड को उसकी अभी तक की सबसे खराब शुरुआत मिली. न्यूज़ीलैंड की आधी टीम 83 रनों पर पवैलियन का रास्ता नाप चुकी थी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ऐसा लगने लगा था कि न्यूज़ीलैंड की टीम 150 का आंकड़ा भी नहीं छू पाएगी. लेकिन इसके बाद न्यूज़ीलैंड ने वापसी की राह पकड़ी.

जिमी नीशम और कोलिन डी ग्रैंडहोम ने मिलकर अपनी टीम को धीरे-धीरे संभालना शुरू किया.

शुरुआत में दोनों बल्लेबाज़ों ने पाकिस्तानी गेंदबाज़ों को भरपूर सम्मान दिया लेकिन एक बार पिच का मिज़ाज समझने के बाद उन्होंने मनमाफिक शॉट भी लगाए.

नीशम और ग्रैंडहोम के बीच 132 रनों की साझेदारी हुई. ग्रैंडहोम 64 रन बनाकर रनआउट हुए जबकि नीशम ने अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए नाबाद 97 रन बनाए.

इन दोनों बल्लेबाज़ों के दम पर न्यूज़ीलैंड ने छह विकेट खोकर 237 रनों का सम्मानजनक स्कोर खड़ा किया.

पाकिस्तान के लिए युवा तेज़ गेंदबाज़ शाहीन अफरीदी ने 10 ओवर में महज़ 28 रन देकर तीन विकेट हासिल किए, जबकि मोहम्मद आमिर और शादाब ख़ान को एक-एक विकेट मिला.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption जिमी नीशम

बाबर का शानदार शतक

238 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाकिस्तान टीम को एक ठोस शुरुआत की ज़रूरत थी, लेकिन 19 रन के कुल योग पर ही ट्रेंट बोल्ट ने फ़खर ज़मान को आउट कर दिया. इसके थोड़ी देर बाद इमाम उल-हक़ भी चलते बने.

50 का आंकड़ा छूने से पहले पाकिस्तान के दो विकेट गिर चुके थे और लगने लगा था कि न्यूज़ीलैंड अपना अपराजित रहने के सिलसिले को जारी रखेगा. लेकिन इसके बाद बल्लेबाज़ी करने आए बाबर आज़म ने शानदार बल्लेबाज़ी की.

उन्होंने मोहम्मद हफ़ीज़ के साथ मिलकर 66 रनों की साझेकारी की. हफ़ीज़ 32 रन बनाकर आउट हुए. पाकिस्तान के जीत के लिए अभी भी 100 से अधिक रनों की ज़रूरत थी और बाबर यह लक्ष्य हासिल करने के लिए एक मजबूत साथी की तलाश कर रहे थे.

उनका साथ निभाया हारिस सौहेल ने. दोनों बल्लेबाज़ों ने मिलकर पाकिस्तान को जीत की दहलीज़ तक पहुंचाया. इस बीच बाबर ने अपना 10वां शतक पूरा किया. उन्होंने नाबार 101 रनों की पारी खेली जबकि हारिस सौहेल ने 68 रन बनाए. जब जीत के लिए महज़ दो रन चाहिए थे तब हारिस सौहेल रन आउट हो गए.

इसके बाद पाकिस्तान के कप्तान सरफ़राज़ अहमद ने चौका लगाकर अपनी टीम के लिए विजयी रन बनाया.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption शतक पूरा करने के बाद बाबर आज़म

पाकिस्तान के लिए सेमीफ़ाइनल की राह

पाकिस्तान को अंतिम चार में जगह बनाने के लिए अपनी हरएक मैच में जीत दर्ज करना ज़रूरी है. उसकी राह में सबसे मुश्किल टीम न्यूज़ीलैंड ही थी, जिसे पाकिस्तान ने हरा दिया है.

अब पाकिस्तान के बचे हुए दो मैच बांग्लादेश और अफ़ग़ानिस्तान से होने हैं. अगर वह इन दोनों मैचों में जीत जाता है तो उसके 11 अंक हो जाएंगे.

ऐसे में पाकिस्तान चाहेगा कि इंग्लैंड अपने बचे हुए दो में से कोई एक मैच हार जाए. इंग्लैंड का मुक़ाबला अभी भारत और न्यूज़ीलैंड से होना है.

इसके अलावा अगर न्यूज़ीलैंड या भारत में से कोई एक टीम अपनी बाकी बचे सारे मैच हार जाती है तब भी पाकिस्तान सेमीफ़ाइनल खेल सकता है.

पाकिस्तान की जीत के बाद उसकी आलोचना करने वाले तमाम आलोचक और पूर्व खिलाड़ियों के बोल भी बदल गए हैं. भारत से मिली शिकस्त के बाद पाकिस्तान के पूर्व तेज़ गेंदबाज़ शोएब अख्तर ने टीम के कप्तान सरफ़राज़ ख़ान को ब्रेनलेस कैप्टन कहा था.

अब न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ जीत दर्ज करने के बाद शोएब ने अपनी टीम के खिलाड़ियों को टाइगर बताया है.

उन्होंने एक वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें कहा है, ''पाकिस्तान को आप कॉर्नर नहीं कर सकते, जब आप पाकिस्तान को किनारे करते हैं तो वह उल्टा बदला लेते हैं. पाकिस्तान टीम आपने बेहतरीन खेल दिखाया. आपको जगाने के लिए कुछ झटके देने पड़ते हैं वो आपने लिए. लेकिन आखिरकार आपने टाइगर्स की तरह खेला.''

पाकिस्तान की न्यूज़ीलैंड पर जीत दर्ज़ करने के साथ ही अब इस विश्वकप में सिर्फ एक टीम ऐसी है जिसे हार का सामना नहीं करना पड़ा है और वह टीम है भारत.

ये भी पढ़ेंः

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार