#ENGvsNZ : सुपरओवर तक खिंचे मुक़ाबले को जीतकर विश्व चैंपियन बना इंग्लैंड

  • 15 जुलाई 2019
इंग्लैंड की टीम इमेज कॉपीरइट Getty Images

आईसीसी विश्वकप 2019 के बेहद रोमांचक फ़ाइनल मुक़ाबले में इंग्लैंड ने न्यूज़ीलैंड को हराकर कप जीत लिया है.

लॉर्ड्स में खेला गया यह मैच सुपर ओवर तक खिंचा और उसमें भी दोनों टीमों के स्कोर बराबर हो गए. मगर ज़्यादा बाउंड्री लगाने के कारण कप इंग्लैंड की झोली में चला गया.

इंग्लैंड को पहली बार विश्व कप जीतने में सफलता मिली है. यह पहला मौक़ा है जब 23 साल बाद वनडे वर्ल्ड कप को नया चैंपियन मिला है.

मैच में न्यूज़ीलैंड ने पहले टॉस जीतकर बल्लेबाज़ी करने का फ़ैसला किया था.

सुबह बारिश होने के कारण पिच को गेंदबाज़ों के लिए मददगार माना जा रहा था और यह देखने को भी मिला.

बावजूद इसके न्यूज़ीलैंड ने 50 ओवरों में आठ विकेट खोकर 241 रन बनाए.

इमेज कॉपीरइट Press Association

रोमांचक मैच

इंग्लैंड के सामने लक्ष्य बड़ा नहीं था मगर शुरुआती झटकों ने उसकी लय बिगाड़ दी. बावजूद इसके मैच आख़िरी ओवर तक खिंचा और अंतिम गेंद पर इंग्लैंड की टीम 241 रन बनाकर आउट हो गई.

अब फ़ैसला सुपर ओवर में होना था मगर यहां भी स्कोर बराबर हो गया.

इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए छह गेंदों में 15 रन बनाए थे.

इमेज कॉपीरइट Press Association

न्यूज़ीलैंड को जीतने के लिए 16 रन बनाने . पांच गेंदों में न्यूज़ीलैंड ने 14 रन बना लिए थे और आख़िरी गेंद में दो रन चाहिए थे.

पहला रन लेने के बाद दूसरा रन लेने की कोशिश में गप्टिल बोलर्स एंड पर पहुंच नहीं सके और रनआउट हो गए.

आख़िरकार इंग्लैंड ने यह मुक़ाबला जीत लिया क्योंकि नियमों के हिसाब से सुपर ओवर में भी स्कोर बराबर हो जाने पर जीत उसकी होती है, जिसने अधिक बाउंड्रीज़ लगाई हों.

इंग्लैंड ने सुपर ओवर में दो चौके लगाए थे जबकि न्यूज़ीलैंड की ओर से सिर्फ़ एक छक्का लगा था.

इंग्लैंड के बेन स्टोक्स प्लेयर ऑफ़ द मैच रहे जिन्होंने नॉट आउट रहते हुए 84 अहम रन बनाए.

वहीं न्यूज़ीलैंड के कप्तान केन विलियमसन प्लेयर ऑफ़ द सीरीज़ रहे जिन्होंने अपनी टीम का शानदार नेतृत्व करते हुए उसे फ़ाइनल तक पहुंचाया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार