#ENGvzNZ: विश्व कप फ़ाइनल में इंग्लैंड को जीत दिलाने वाले नियम की क्यों हुई आलोचना

  • 15 जुलाई 2019
आईसीसी विश्वकप 2019 इमेज कॉपीरइट Clive Mason/Getty Images

आईसीसी विश्वकप 2019 का ख़िताब इंग्लैंड ने अपने नाम कर लिया है. फ़ाइनल के बेहद रोमांचक मुकाबले में इंग्लैंड ने न्यूज़ीलैंड को हराया.

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करने उतरी न्यूज़ीलैंड टीम ने आठ विकेट के नुक़सान पर 241 रन बनाए. इसके बाद इंग्लैंड ने भी पूरे 50 ओवरों में 241 रन ही बनाए.

इसके बाद मैच सुपर ओवर में चला गया और उसमें भी दोनों टीमों के स्कोर बराबर हो गए. मगर ज़्यादा बाउंड्री लगाने के कारण कप इंग्लैंड की झोली में चला गया.

जीत के बाद इंग्लैंड के कप्तान इयॉन मॉर्गन ने कहा, "केन और उनकी टीम के प्रति मेरी सहानुभूति है. मुझे लगता है कि आज का मुक़ाबला बेहद कड़ा रहा. इस तरह की पिच पर खेलना हमारे लिए मुश्किल था. लेकिन आख़िरकार हमने ये कर दिखाया. हम बहुत खुश हैं कि आज हम ये ट्रॉफ़ी हाथ में उठा सके."

मॉर्गन ने अपने साथी खिलाड़ियों को इस जीत का श्रेय दिया और कहा कि ये कड़ी मेहनत से संभव हो सका है.

इमेज कॉपीरइट Reuters/Peter Cziborra

वहीं, हारने वाली टीम न्यूज़ीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने कहा, "हम टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करना चाहते थे. हमें लगा कि रन बनाना चुनौतीपूर्ण होगा. हम सोच रहे थे कि वर्ल्ड कप फ़ाइनल के लिए 240-250 रन काफ़ी होंगे. ये बेहतरीन खेल रहा. इसमें हमारे लिए कई सकारात्मक चीज़ें रहीं."

उन्होंने कहा, "वो (स्टोक्स की दुर्घटनावश हुई बाउंड्री) अफ़सोस जनक रही. आप उम्मीद करते हैं कि वो ऐसे वक्त पर ना हो."

इमेज कॉपीरइट Reuters/Peter Cziborra

मैच ख़त्म होने के बाद #CWC19Final ट्रेंड करने लगा और लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया दी.

जिस वक्त वर्ल्ड कप का ये रोमांचक मुक़ाबला चल रहा था, ठीक उसी वक्त विंबलडन का ख़िताबी मुकाबला भी खेला जा रहा था. जिसमें नोवाक जोकोविच ने रोजर फ़ेडरर को हरा दिया.

दर्शकों की नज़र दोनों ही खेलों पर बनी हुई थी, इस बीच विंबलडन ने आईसीसी को एक दिलचस्प ट्वीट किया.

फ़ाइनल मुकाबला तो इंग्लैंड ने जीता, लेकिन तारीफ़ न्यूज़ीलैंड के खेल की भी खूब हुई.

क्रिकेट वर्ल्ड कप ने ट्वीट कर इंग्लैंड को वर्ल्ड चैंपियन बताया और साथ ही कहा, "एक विजेता, लेकिन दो चैंपियन टीमें".

ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे ने ट्वीट कर इंग्लैंड की टीम को बधाई दी.

वहीं भारत के ही पूर्व क्रिकटर गौतम गंभीर ने कहा, "खेल के विजेता का फ़ैसला सबसे ज़्यादा बाउंड्री लगाने वाले के आधार पर हुआ. आईसीसी का ये बेतुका नियम है. टाई होना चाहिए था. मैं दोनों टीमों को बधाई दूंगा जिन्होंने बेहतरीन फ़ाइनल खेला. दोनों विजेता हैं."

पूर्व भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह ने ट्वीट किया, "मैं उस नियम से सहमत नहीं हूं. लेकिन नियम तो नियम होते हैं. इंग्लैंड को आख़िरकार वर्ल्ड कप जीतने की बधाई. मेरी सहानुभूति कीवियों के साथ है, जो आख़िर तक लड़े. बढ़िया खेल."

वहीं विरेंद्र सेहवाग ने लिखा, "भारत में न्यूज़ीलैंड के कई प्रशंसक हैं, आज उन्होंने अपनी खेल भावना से और भी कई प्रशंसक बना लिए."

इंग्लैंड पहली बार विश्व कप जीता है. ये भी दिलचस्प है कि 23 साल बाद वनडे वर्ल्ड कप को नया चैंपियन मिला है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार