#ENGvsNZ: विश्व कप फ़ाइनल के ओवर जिन्होंने मैच पलटा

  • 15 जुलाई 2019
इंग्लैंड इमेज कॉपीरइट Getty Images

लॉर्ड्स के मैदान पर विश्व कप 2019 में इंग्लैंड ने न्यूज़ीलैंड को रोमांचक मुक़ाबले में सुपर ओवर तक चले मैच में हरा दिया. लेकिन यह मैच सांसें अटका देने वाला रहा.

न्यूज़ीलैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करते हुए आठ विकेट के नुक़सान पर 241 रन बनाए. इसके जवाब में खेलने उतरी इंग्लैंड टीम भी पूरे 50 ओवरों में 241 रन ही बना सकी.

इसके बाद मैच सुपर ओवर में चला गया लेकिन सुपर ओवर तक मैच ले जाने में न्यूज़ीलैंड के बल्लेबाज़ों की ख़ासी भूमिका रही.

शुरुआत में इंग्लैंड के लिए यह जीत बड़ी आसान लग रही थी लेकिन न्यूज़ीलैंड की सधी गेंदबाज़ी और फ़ील्डिंग ने इंग्लैंड को जीत से थोड़ा दूर कर दिया था.

इंग्लैंड को 12 ओवरों में जीत के लिए 24 रनों की दरकार थी और उस समय बेन स्टोक्स 62 रन और लियाम प्लंकेट नौ रन बनाकर क्रीज़ पर थे. 49वां ओवर जेम्स नीशम को दिया गया.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सबसे रोमांचक मोड़

पहली गेंद नीशम ने प्लंकेट को डाली उन्होंने उस पर दौड़कर एक रन लिया. इसकी बाद दूसरी गेंद पर स्टोक्स ने नीशम की यॉर्कर को स्क्वेयर लेग पर खेलेत हुए एक रन लिया.

तीसरी गेंद पर नीशम ने प्लंकेट को 10 रनों पर कैच आउट करा दिया.

मैच का सबसे रोमांचक मोड़ 49वें ओवर की चौथी गेंद पर देखने को मिला जब स्टोक्स के खेले गए शॉट को बोल्ट ने कैच लिया लेकिन वह बाउंड्री पार कर गए. इसके बाद मैच में जीत के लिए कम रनों की ज़रूरत थी.

पांचवीं गेंद पर स्टोक्स ने दौड़कर एक रन लिया. वहीं, नीशम ने अपनी स्विंग करती छठी गेंद पर आर्चर को क्लीन बोल्ड कर दिया.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

आख़िरी ओवर में चाहिए थे 15 रन

मैच के सबसे अहम और 50वें ओवर की ज़िम्मेदारी ट्रेंट बोल्ट को दी गई. उस समय क्रीज़ पर स्टोक्स जमे हुए थे. बोल्ट की यॉर्कर को स्टोक्स ने खेला लेकिन उस पर कोई रन नहीं ले सके.

दूसरी गेंद पर भी स्टोक्स कोई रन नहीं ले सके.

तीसरी गेंद बोल्ट ने यॉर्कर डाली जिसे मिड विकेट पर स्टोक्स ने छक्के के लिए भेज दिया.

चौथी गेंद बोल्ट ने फ़ुल टॉस डाली जिसे स्टोक्स ने डीप मिड विकेट की ओर खेल दिया. दौ रन दौड़कर लिए गए जबकि ओवरथ्रो पर चौका चला गया. इस तरह से इस गेंद पर छह रन आए.

इसके बाद इंग्लैंड को जीत के लिए दो गेंदों में 3 रनों की ज़रूरत थी. लेकिन पांचवीं गेंद पर दो रन लेने के चक्कर में आदिल रशीद रन आउट हो गए. अब अगली और आख़िरी गेंद पर जीत के लिए दो रनों की ज़रूरत थी.

बोल्ट ने स्टोक्स को मिडल में फ़ुल टॉस गेंद डाली जिस लॉन्ग ऑन पर उन्होंने खेल दिया. दो रन लेने के चक्कर मार्क वुड रन आउट हो गए. इसके बाद मैच टाई हो गया और सुपर ओवर में पहुंच गया.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सुपर ओवर में इंग्लैंड पहले खेलने उतरा

नियम के अनुसार बाद में खेलने वाली टीम इंग्लैंड पहले बल्लेबाज़ी करने उतरी.

सुपर ओवर की ज़िम्मेदारी न्यूज़ीलैंड ने ट्रेंट बोल्ट को दी. पहली गेंद पर स्टोक्स ने दौड़कर तीन रन लिए. दूसरी गेंद पर जोस बटलर ने बोल्ट को खेलते हुए एक रन लिया.

तीसरी गेंद पर स्टोक्स ने गैप निकालते हुए गेंद चौके के लिए सीमा रेखा के पार भेजी. चौथी गेंद को बोल्ट ने ऑफ़ में खेला लेकिन न्यूज़ीलैंड के फ़ील्डर्स ने उसे रोक लिया.

पांचवीं गेंद पर स्टोक्स ने दौड़कर दो रन लिए. स्टोक्स ने छठी गेंद को भी चौके के लिए भेजा और इस तरह सुपर ओवर में इंग्लैंड ने बिना विकेट खोए 15 रन बनाए और जीत के लिए न्यूज़ीलैंड को 16 रनों का लक्ष्य दिया.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सबसे अधिक बाउंड्री पर जीता इंग्लैंड

इंग्लैंड के जवाब में न्यूज़ीलैंड की ओर से गप्टिल और नीशम बल्लेबाज़ी करने आए जबकि गेंदबाज़ी का ज़िम्मा जोफ़्रा आर्चर को दिया गया.

आर्चर ने पहली गेंद ही वाइड डाल दी. इसके बाद डाली गेंद पर नीशम ने दौड़कर दो रन लिए.

दूसरी गेंद पर नीशम ने छक्का लगाया जिसके बाद चार गेंदों में न्यूज़ीलैंड को जीत के लिए सिर्फ़ सात रनों की ज़रूरत थी.

आर्चर की तीसरी गेंद पर मिस फ़िल्डिंग का फ़ायदा लेते हुए नीशम ने दो रन लिए जिसके बाद जीत के लिए तीन गेंदों में पांच रनों की ज़रूरत थी.

चौथी गेंद पर आर्चर ने नीशम को गेंद डाली और उन्होंने 2 रन दिए. पांचवीं गेंद पर आर्चर ने नीशम को गेंद डाली जिसके बाद उन्होंने सिर्फ़ एक रन लिया.

आख़िरी गेंद पर न्यूज़ीलैंड को जीत के लिए दो रन चाहिए थे लेकिन गप्टिल एक रन ही ले सके और अंतिम गेंद पर वह रन आउट हो गए.

इस बार भी मैच टाई हो गया लेकिन सबसे अधिक बाउंड्री लगाने के आधार पर इंग्लैंड को विजेता घोषित किया गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार