मोहम्मद आमिर का 27 की उम्र में टेस्ट से संन्यास, लसिथ मलिंगा ने भी छोड़ा वनडे क्रिकेट

  • 26 जुलाई 2019
मोहम्मद आमिर इमेज कॉपीरइट Getty Images

तारीख़ 26 जुलाई. दिन शुक्रवार. यह वो दिन है जब भारतीय उपमहाद्वीप के दो तेज़ गेंदबाज़ के क्रिकेट करियर में एक बड़ा बदलाव आने जा रहा है.

एक तरफ हैं पाकिस्तान के तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद आमिर तो दूसरी और हैं श्रीलंकाई तेज़ गेंदबाज़ लसिथ मलिंगा.

आमिर ने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी है तो वहीं मलिंगा ने वनडे क्रिकेट को अलविदा कर दिया है.

2010 में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले चुके मलिंगा जहां टी20 क्रिकेट में खेलना जारी रखेंगे वहीं आमिर सफ़ेद गेंद से खेले जाने वाले दोनों अंतरराष्ट्रीय फॉर्मेट (वनडे, टी20) में खेलते रहेंगे.

ये दोनों ही नाम किसी परिचय का मोहताज नहीं हैं. मलिंगा जहां अपने सटीक यार्कर के लिए जाने जाते हैं वहीं मैदान में आमिर की गेंदबाज़ी का ख़ौफ़ बल्लेबाज़ों पर साफ़ दिखता आया है.

आमिर ने 2009 में 17 साल की उम्र में श्रीलंका के ख़िलाफ़ अपना पहला टेस्ट खेला था.

उन्होंने 36 टेस्ट मैचों में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व किया और 37.40 की औसत से 119 विकेट लिए.

27 साल के आमिर ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के जरिये अपने संन्यास की घोषणा की.

इसके बाद आमिर ने अपने ट्वीट में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड, प्रधानमंत्री और पूर्व कप्तान इमरान ख़ान, पूर्व क्रिकेटरों वसीम अकरम, शाहिद आफ़रीदी, वक़ार यूनिस और मोहम्मद यूसुफ और अपने प्रशंसकों को हमेशा समर्थन देने के लिए धन्यवाद दिया.

अपने वीडियो में आमिर ने कहा, "बहुत कम लोग होते हैं जिनका टेस्ट क्रिकेट खेलने का सपना पूरा होता है. मेरे लिए यह बहुत सम्मान की बात थी कि मैंने टेस्ट क्रिकेट में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व किया. मैंने टेस्ट क्रिकेट में बहुत से अच्छे प्रदर्शन भी किये, 14 मैचों में 51 विकेट लेने वाला सबसे युवा पाकिस्तानी क्रिकेटर बना, लॉर्ड्स में छह विकेट लिए, नंबर-1 टेस्ट टीम का हिस्सा रहा, मैं उस टीम का भी हिस्सा रहा जिसने वेस्टइंडीज में 26 साल बाद टेस्ट सिरीज़ में जीत दर्ज की."

इमेज कॉपीरइट facebook/Official.Lasith.Malinga

"टेस्ट क्रिकेट में मैंने रिकॉर्ड भी बनाये. लेकिन अब मैं टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले रहा हूं. आपको पता है कि मैंने पांच साल तक क्रिकेट नहीं खेली. फिर आ कर बॉडी को रिकवर करना, ट्रेन करना बहुत मुश्किल होता है. फिर मैंने आते ही लगातार तीन साल तक क्रिकेट खेली. वनडे, टेस्ट और टी20. मेरी बॉडी को रेस्ट भी नहीं मिला. उसमें मैं चोटिल भी हुआ, फिटनेस के मसले भी आये."

इमेज कॉपीरइट TWITTER/Mohammad Amir

"फिर मुझे लगा कि आपको यह चयन करना होगा क्योंकि दिन-ब-दिन मेरी उम्र बढ़ती ही जाएगी और तेज़ गेंदबाज़ का करियर बहुत लंबा नहीं होता है. इस तरह से बहुत सारी चीज़ों को देखते हुए मुझे लगा कि वक्त आ गया है मुझे यह चयन कर लेना चाहिए कि मुझे कहां फोकस करना चाहिए. तो मैं अब सफ़ेद गेंद पर फ़ोकस करना चाहता हूं और इसीलिए टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले रहा हूं."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

आमिर के रिटायरमेंट पर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के मैनेजिंग डायरेक्टर वसीम ख़ान ने कहा, "पाकिस्तान क्रिकेट में हाल के दिनों में आमिर बाएं हाथ के सबसे रोमांचक और प्रतिभाशाली तेज़ गेंदबाजों में से एक रहे हैं. उन्होंने प्रतिकूल परिस्थितियों को मात देते हुए क्रिकेट में वापसी की और एक बेहतर इंसान के रूप में भी मजबूत हो कर मैदान पर वापस लौटे. मैदान पर उनका प्रदर्शन और उनके व्यक्तित्व की कमी ड्रेसिंग रूप में भी खलेगी."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

आमिर का टेस्ट करियर

आमिर अपना आखिरी टेस्ट मैच दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ जनवरी 2019 में खेले, जहां उन्होंने चार विकेट लिए.

अपने टेस्ट करियर के दौरान आमिर ने चार बार पारी में पांच विकेट लेने का कारनामा किया.

इस दौरान 2017 में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ किंग्सटन टेस्ट में 44 रन पर 6 खिलाड़ियों को आउट करने की पारी में उनका सर्वक्षेष्ठ टेस्ट प्रदर्शन रहा.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

आमिर के टेस्ट करियर का सबसे निराशाजनक पल तब आया जब 2011 में दो अन्य क्रिकेटरों के साथ स्पॉट फ़िक्सिंग के मामले में उन्हें जेल की सज़ा हुई. तीन महीने जेल में रहने और क्रिकेट में पांच साल का प्रतिबंध झेलने के बाद आमिर एक बार फिर जनवरी 2016 में टीम में लौटे.

तब से उन्होंने सफ़ेद गेंद से बहुत शानदार गेंदबाज़ी की है और इस दौरान पाकिस्तान 2017 में चैंपियंस ट्रॉफ़ी विजेता भी बना.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

लसिथ मलिंगा का वनडे क्रिकेट को अलविदा

क्रिकेट के साथ-साथ अपने विचित्र बॉलिंग एक्शन और घुंघराले बालों के लिए भी ख़बरों में रहे लसिथ मलिंगा ने बांग्लादेश के ख़िलाफ़ शुक्रवार को ही अपना आखिरी वनडे मैच खेला.

अपने आखिरी मैच में मलिंगा ने 9.4 ओवरों में 38 रन देकर तीन विकेट लिये और श्रीलंका की 91 रनों से जीत में अहम योगदान दिया. इस दौरान उन्होंने दो ओवर मेडेन भी फेंके.

अपने आखिरी मैच से एक दिन पहले मलिंगा ने कहा था कि उन्हें 2020 में होने वाले वर्ल्ड टी20 में खेलने की उम्मीद है.

उन्होंने कहा था, "मैं अगले वर्ल्ड टी20 में श्रीलंका का प्रतिनिधित्व करना चाहता हूं. आशा है मुझे इसका मौका मिलेगा लेकिन अगर कोई मुझसे बेहतर खिलाड़ी मुझसे बेहतर है तो मुझे बाहर होने में कोई परेशानी नहीं होगी."

श्रीलंका के लिए 30 टेस्ट और 225 वनडे मैच खेल चुके मलिंगा का करियर बहुत शानदार रहा. मलिंगा फिलहाल टी20 मैच खेलते रहेंगे.

मलिंगा ने जहां वनडे में अपने सटीक यार्कर से 338 विकेट चटकाये वहीं टेस्ट में उन्होंने 101 विकेट लिये.

2004 में अपना क्रिकेट करियर शुरू करने वाले मलिंगा की बीते 15 वर्षों तक श्रीलंकाई टीम के ख़तरनाक गेंदबाज़ों में गिनती होती रही.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

मलिंगा क्रिकेट के इतिहास में ऐसे एकमात्र क्रिकेटर हैं जिन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में चार गेंदों पर चार विकेट लिये हैं. उन्होंने यह कारनामा 2007 में दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ किया था.

इतना ही नहीं, वनडे क्रिकेट में तीन बार हैट्रिक लेने का कारनामा करने वाले भी वो एकमात्र क्रिकेटर हैं. उन्होंने आईसीसी वर्ल्ड कप में दो बार हैट्रिक लेने का कारनामा भी किया है और ऐसा करने वाले भी वो एकमात्र क्रिकेटर हैं.

अपने वनडे करियर के दौरान उन्होंने सबसे तेज़ 50 विकेट (32 मैचों में) लेने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया था.

यह वही मैच था जिसमें उन्होंने लगातार चार गेंदों पर चार विकेटें चटकाई थीं.

हालांकि बाद में यह रिकॉर्ड टूटता चला गया और फिलहाल अजंथा मेंडिस के नाम यह रिकॉर्ड है, जिन्होंने 19 वनडे में 50 विकेट लिये हैं.

गेंदबाज़ी के साथ साथ मलिंगा को उनकी कप्तानी के लिए याद किया जायेगा. वो अपनी टीम को टी20 का वर्ल्ड चैंपियन बना चुके हैं. उनकी कप्तानी में 2014 का वर्ल्ड टी20 श्रीलंका ने जीता था.

इस फॉर्मेंट में वो श्रीलंका की तरफ से सर्वाधिक विकेट (97) लेने वाले गेंदबाज़ भी हैं.

हालांकि 2015 में चोटिल होने की वजह से उन्होंने कप्तानी छोड़ने का फ़ैसला किया. लेकिन 2016 और फिर 2018 में उन्हें एक बार फिर टीम का बागडोर सौंपी गयी.

भारतीय क्रिकेटर क्या बोले?

वनडे से मलिंगा के संन्यास पर भारत के तेज़ गेंदबाज़ जसप्रीत बुमराह ने ट्वीट किया, "क्रिकेट के लिए आपने जो कुछ किया उसके लिए धन्यवाद. मैंने हमेशा आपकी प्रशंसा की है और आगे भी करता रहूंगा."

पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने भी मलिंगा को शुभकामनाएं दीं.

मुंबई इंडियंस के वर्तमान कप्तान रोहित शर्मा ने लिखा, "अगर मुझे मुंबई इंडियंस के लिए बीते एक दशक के किसी एक मैच विनर का चयन करना हो तो निश्चित ही यह शख्स उसमें शीर्ष पर होगा. तनाव की स्थिति से उबार कर मुझे बतौर कप्तान राहत देते हैं और उम्मीदों पर हर वक्त खड़ा उतरते हैं. टीम में उनकी ऐसी ही भूमिका ही थी."

आईसीसी ने मलिंगा के आखिरी मैच के बाद उनके परिवार की तस्वीर पोस्ट की.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार