बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन पर आईसीसी ने लगाई पाबंदी

  • 30 अक्तूबर 2019
शाकिब अल हसन इमेज कॉपीरइट AFP/Getty Images

बांग्लादेश क्रिकेट टीम के कप्तान और दुनिया के नंबर 1 वनडे ऑलराउंडर शाकिब अल हसन पर इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने दो साल की पाबंदी लगा दी है. उन पर ये कार्रवाई 'भ्रष्ट आचरण के लिए की गई पेशकश' की जानकारी आईसीसी नहीं देने पर की गई है.

पाबंदी के दौरान शाकिब किसी भी तरह की क्रिकेट में हिस्सा नहीं ले सकेंगे.

हालांकि इनमें से एक साल की पाबंदी को तब निलंबित कर दिया गया जब उन्होंने आईसीसी के एंटी करप्शन (भ्रष्टाचार रोधी) कोड के उल्लंघन को लेकर लगाए गए तीन आरोपों को मंजूर कर लिया.

आईसीसी के मुताबिक शाकिब पर 'जनवरी 2018 में बांग्लादेश, श्रीलंका और जिम्बाब्वे ट्राई सिरीज़ और आईपीएल 2018 के दौरान भ्रष्टाचार के लिए की गई पेशकश का पूरा ब्योरा एसीयू को नहीं देने, जनवरी 2018 में हुई दूसरी पेशकश का ब्योरा नहीं देने और 26 अप्रैल 2018 को सनराइजर्स हैदराबाद और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच हुए आईपीएल मैच को लेकर की गई पेशकश का ब्योरा एसीयू को नहीं देने' का आरोप था.

इमेज कॉपीरइट Press Association

अगले साल कर सकते हैं वापसी

आईसीसी के मुताबिक, "शाकिब अल हसन ने एंटी करप्शन ट्रिब्यूनल की सुनवाई के दौरान आरोपों को मंजूर कर लिया. प्रतिबंध के दौरान अगर वो शर्तों का पालन करते हैं तो 29 अक्टूबर 2020 में इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी कर सकते हैं."

ख़ुद पर लगाई गई पाबंदी को लेकर शाकिब ने कहा, "मैं जिस खेल से प्यार करता हूं, उससे प्रतिबंधित किए जाने पर यकीनन बहुत दुखी हूं. लेकिन मुझे हुई पेशकश की रिपोर्ट नहीं किए जाने को लेकर लगाए प्रतिबंध को मैं पूरी तरह से मंजूर करता हूं."

आईसीसी के जनरल मैनेजर (इंटग्रिटी) एलेक्स मार्शल ने कहा, "शाकिब अल हसन बहुत अनुभवी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर हैं. वो कई जागरुकता सत्र में शामिल हुए हैं और जानते हैं कि कोड के तहत उनकी जिम्मेदारियां क्या हैं. उन्हें ऐसी हर पेशकश की जानकारी देनी चाहिए थी."

शाकिब अल हसन ने साल 2006 में पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेला था. वो 206 वनडे, 76 ट्वेंटी-20 और 56 टेस्ट मैच खेल चुके हैं. उन्होंने टेस्ट में 210 और वनडे में 260 विकेट लिए हैं. वहीं टेस्ट में 3862 और वनडे में 6323 रन बनाए हैं.

सौरव गांगुली क्या बीसीसीआई के 'दाग़' धो पाएंगे?

सरफ़राज़ अहमद की कप्तानी से छुट्टी क्यों हो गई?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार