विराट कोहली- चेतेश्वर पुजारा दूसरी पारी में भी नाकाम

  • 23 फरवरी 2020
इमेज कॉपीरइट Getty Images

न्यूज़ीलैंड ने वेलिंगटन टेस्ट की दूसरी पारी में भी विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा नाकाम रहे.

तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक भारत की टीम पहली पारी के आधार पर 39 रन से पिछड़ी हुई है और उसके छह विकेट बाक़ी है.

दिन का खेल ख़त्म होने तक भारत ने दूसरी पारी में चार विकेट पर 144 रन बना लिए थे. भारत की ओर से मयंक अग्रवाल ने सबसे ज़्यादा 58 रन बनाए.

कप्तान विराट कोहली महज 19 रन बना सके जबकि पहली पारी में उनके बल्ले से महज दो रन निकले थे. जबकि चेतेश्वर पुजारा ने पहली पारी की तरह की 11 रन बनाए.

तीसरे दिन स्टंप्स के समय अजिंक्य रहाणे 22 और हनुमा विहारी 11 रन बनाकर खेल रहे हैं.

न्यूज़ीलैंड की ओर से ट्रेंट बोल्ट ने चार में से तीन विकेट चटकाए.

इससे पहले न्यूज़ीलैंड की पहली पारी 348 रनों पर समाप्त हुई.

तीसरे दिन खेल के पहले सत्र में न्यूज़ीलैंड की ओर से आलराउंडर कायल जैमिसन ने 44 रनों की तेज तर्रार पारी खेली. 45 गेंदों पर जेमिसन ने 44 रन बनाए, जिसमें चार छक्के शामिल थे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

डेब्यू करते हुए नंबर नौ बल्लेबाज़ के तौर पर जेमिसन का ये स्कोर किसी भी कीवी बल्लेबाज़ के लिए सबसे सबसे ज़्यादा है.

जेमिसन ने इससे पहले गेंदबाज़ी करते हुए 39 रन देकर चार विकेट चटकाए.

दूसरे दिन क्रीज पर नाबाद रहे कोलिन डि ग्रैंडहोम ने भी उपयोगी 43 रनों का योगदान दिया. नौवें विकेट के तौर पर जब वे पवेलियन लौटे तब तक न्यूज़ीलैंड का स्कोर 300 के पार पहुंच चुका था.

ग्रैंडहोम ने आठवें विकेट में जेमिसन के साथ 71 अहम रन जोड़े. जबकि बोल्ट और एजाज़ पटेल ने 10वें विकेट के लिए 38 रन जोड़े.

वहीं 11वें नंबर पर बल्लेबाज़ी करने उतरे ट्रेंड बोल्ट ने 24 गेंदों पर 38 रन बनाए. बोल्ट ने अपनी पारी में पांच चौके और एक छक्का जमाया.

भारत की ओर से ईशांत शर्मा सबसे कामयाब गेंदबाज़ साबित हुए. उन्होंने 22.2 ओवरों में 68 रन देकर पांच विकेट चटकाए. जबकि आर अश्विन को तीन विकेट मिले.

इससे पहले भारत ने वेलिंगटन टेस्ट की पहली पारी में 165 रन बनाए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे