पीवी सिंधु बनीं पहली बीबीसी इंडियन स्पोर्ट्सवुमन ऑफ़ द इयर

पीवी सिंधु

इमेज स्रोत, Shi Tang/Getty Images

भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु को वोटिंग के ज़रिए बीबीसी इंडियन स्पोर्ट्सवुमन ऑफ़ द इयर 2019 चुना गया है.

बीते साल पीवी सिंधु (पुसरला वेंकट सिंधु) ने स्विट्ज़रलैंड में बैडमिंटन की विश्व चैंपियनशिप जीती थी. ऐसा करने वाली वो पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनी थीं.

अवॉर्ड जीतने पर सिंधु ने कहा, "मैं बीबीसी इंडियन स्पोर्ट्सवुमन ऑफ़ द इयर टीम को धन्यवाद देना चाहूँगी. मैं बहुत ख़ुश हूँ कि मुझे ये अवॉर्ड मिला है. मैं बीबीसी इंडिया को भी इस बेहतरीन पहल के लिए धन्यवाद देना चाहूँगी और शुक्रिया मेरे फ़ैन्स का भी."

पीवी सिंधु के नाम विश्व चैंपियनशिप के पाँच मेडल हैं. वह ओलंपिक में बैडमिंटन के एकल मुक़ाबले में रजत पदक जीतने वाली भी पहली खिलाड़ी हैं.

सिंधु ने ख़ुशी जताते हुए कहा, "मैं ये अवॉर्ड अपने समर्थकों और फ़ैन्स को समर्पित करना चाहूँगी जिन्होंने हमेशा मेरा समर्थन किया है और मेरे लिए वोट किया. बीबीसी इंडियन स्पोर्ट्सवुमन ऑफ़ द इयर जैसे अवॉर्ड्स हमें प्रोत्साहित करते हैं कि हम और बेहतर करें. सभी युवा महिला खिलाड़ियों को मेरा यही संदेश होगा कि बतौर महिला हमें अपने आप में भरोसा करना है. सफलता की कुंजी कड़ी मेहनत है. मुझे भरोसा है कि जल्दी ही और भी भारतीय महिलाएँ देश के लिए पदक जीतेंगी."

इस मौके पर केंद्रीय खेल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) किरण रिजिजू ने कहा, "खेल की प्रगति होगी तो भारत की प्रगति होगी. खेलों से जुड़ी महिलाओं को सम्मानित करना एक अच्छी पहल है. विश्व में बीबीसी की पहचान है. मुझे उम्मीद है कि इसका अच्छा प्रभाव पड़ेगा. हमें ऐसा माहौल तैयार करना चाहिए जहाँ युवा खिलाड़ी बड़े सपने देख सकें."

पीवी सिंधु सिर्फ़ 17 साल की उम्र में ही सितंबर 2012 में बीडब्ल्यूएफ़ विश्व रैंकिंग में टॉप 20 खिलाड़ियों में शामिल हो गई थीं.

पिछले चार साल से वह लगातार टॉप 10 खिलाड़ियों में शामिल रही हैं. ज़बरदस्त स्मैश लगाने वाली सिंधु से भारतीय टोक्यो ओलंपिक में बड़ी उम्मीदें लगाए हुए हैं.

अवॉर्ड कार्यक्रम दिल्ली में प्रमुख खिलाड़ियों, पत्रकारों और जानी-मानी हस्तियों की मौजूदगी में सम्पन्न हुआ.

इमेज कैप्शन,

भारत का नाम रोशन करने वाली एथलीट पीटी ऊषा को खेल में योगदान और खिलाड़ियों को प्रेरणा देने के लिए इस मौक़े पर लाइफ़टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित किया गया

पीटी ऊषा को लाइफ़टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड

कई अंतरराष्ट्रीय मुक़ाबलों में भारत का नाम रोशन करने वाली एथलीट पीटी ऊषा को खेल में योगदान और खिलाड़ियों को प्रेरणा देने के लिए इस मौक़े पर लाइफ़टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित किया गया.

पूरे खेल जीवन में पीटी ऊषा ने 100 से ज्यादा अंतरराष्ट्रीय मेडल और अवॉर्ड जीते हैं.

भारतीय ओलंपिक महासंघ ने पीटी ऊषा को सदी की सर्वश्रेष्ठ महिला खिलाड़ी के तौर पर सम्मानित किया था.

ऊषा 1984 के लॉस एंजेलेस ओलंपिक में महिलाओं की 400 मीटर बाधा दौड़ में सेकेंड के 100वें हिस्से से काँस्य पदक से चूक गईं थीं.

बीबीसी इंडियन स्पोर्ट्सवुमन ऑफ़ द यर

फ़रवरी 2020 में इस पहले बीबीसी इंडियन स्पोर्ट्सवुमन ऑफ़ द इयर के पाँच फ़ाइनलिस्ट के नाम घोषित किए गए थे.

उन पाँचों में धाविका दुती चंद, मुक्केबाज़ मैरीकॉम, पहलवान विनेश फोगाट, पैरा बैडमिंटन खिलाड़ी मानसी जोशी और बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु शामिल थीं.

देश के अलग-अलग हिस्सों से प्रमुख लोगों के पैनल ने इन खिलाड़ियों को नामित किया था.

इसके बाद तीन फ़रवरी 2020 से 24 फ़रवरी 2020 के बीच लोगों ने अपनी पसंदीदा खिलाड़ी के लिए वोट किया.

इमेज कैप्शन,

बीबीस में भारतीय भाषाओं की प्रमुख रूपा झा

बीबीसी का वादा

अवॉर्ड सेरेमनी के मौक़े पर बीबीसी के डायरेक्टर जनरल टोनी हॉल ने कहा, ''आज की शाम एक वादा है. वादा ये है कि बीबीसी खेलों में भारतीय महिला खिलाड़ियों की बात करेगा, उनके मुद्दे उठाएगा.''

बीबीसी में भारतीय भाषाओं की प्रमुख ने सभी खिलाड़ियों को बधाई दी और महिला खेलों में बीबीसी की पहल जारी रखने का वादा किया.

उन्होंने कहा, "महीनों की मेहनत और टीम वर्क बाद हम अपने पहले अवॉर्ड तक पहुंचे. पीवी सिंधु और पीटी ऊषा को हार्दिक बधाई. मानसी जोशी, मैरी कॉम और विनेश फोगाट आप हमारी हीरो हैं.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)