IPL 2020: निकोलस पूरन ने किंग्स इलेवन पंजाब की लाज रख ली

केएल राहुल

इमेज स्रोत, BCCI/IPL

एक के बाद एक लगातार चार मैचों में हार की आख़िर क्या वजह है? क्या इस हार का सिलसिला अगले मैच में टूट पाएगा? क्या बल्लेबाज़ों के बल्ले चलेंगे और गेंदबाज़ अपना हुनर दिखा पाएंगे?

ये वो सवाल हैं जो किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान केएल राहुल और उनकी पूरी टीम के मन में उठ रहे होंगे और उन्हें बेहद परेशान कर रहे होंगे. इन सवालों के उठने और उनसे होने वाली परेशानी की वजह बहुत साफ़ है.

इंडियन प्रीमियर लीग के तेरहवें सीज़न की अंक-तालिका में दो अंकों के साथ सबसे नीचे है किंग्स इलेवन पंजाब जो एक के बाद एक लगातार चार मैच हार चुकी है.

पहले राजस्थान रॉयल्स, फिर मुंबई इंडियंस, उसके बाद चेन्नई सुपरकिंग्स और अब सनराइज़र्स हैदराबाद के हाथों किंग्स इलेवन पंजाब को हार का कड़वा घूंट पीना पड़ा है.

गुरुवार को दुबई में हुए मुक़ाबले के स्कोर कार्ड पर नज़र डालें तो आप पाएंगे कि निकोलस पूरन को छोड़कर किंग्स इलेवन पंजाब का कोई बल्लेबाज़ 11 रन से अधिक नहीं बना पाया. वहीं तीन खिलाड़ी ऐसे भी थे जो अपना खाता भी नहीं खोल पाए.

इमेज स्रोत, BCCI/IPL

टीम के कुल स्कोर 132 रनों में से यदि निकोलस पूरन के 77 रन हटा दिए जाएं तो किंग्स इलेवन पंजाब की स्थिति बेहद दयनीय नज़र आती है.

दूसरे शब्दों में ये कहा जा सकता है कि निकोलस पूरन ने अपने 77 रनों से सनराइज़र्स हैदराबाद के ख़िलाफ़ किंग्स इलेवन की इज्ज़त बचा ली.

पूरे मुक़ाबले में सनराइज़र्स हैदराबाद के ख़िलाफ़ सात छक्के लगे जो सिर्फ़ निकोलस पूरन के बल्ले से निकले थे.

कप्तान केएल राहुल और मयंक अग्रवाल की जोड़ी किंग्स इलेवन पंजाब को ठोस शुरुआत देने में नाकाम साबित हो रही है.

इमेज स्रोत, BCCI/IPL

बल्लेबाज़ों के बाद यदि गेंदबाज़ों पर नज़र दौड़ाई जाए तो स्कोर कार्ड बताता है कि किंग्स इलेवन पंजाब के हर गेंदबाज़ ने जमकर रन लुटाए.

मोहम्मद शमी, जिन्हें आख़िरी ओवर में एक विकेट नसीब हुआ, उससे पहले चार ओवर में 40 रन दे चुके थे.

शेल्डन कॉट्रेल तीन ओवर में 33 रन देकर एक विकेट भी हासिल नहीं कर पाए. मुजीबुर रहमान चार ओवर में 39 रन देकर एक अदद विकेट के लिए तरसते रह गए.

ग्लेन मैक्सवेल भी 26 रन देकर दो ओवर में कोई विकेट अपने नाम नहीं कर सके.

रवि बिश्नोई ने 3 और अर्शदीप सिंह ने 2 विकेट चटकाए. रनों के हिसाब से ये दोनों बाक़ी गेंदबाज़ों के मुक़ाबले क़िफ़ायती भी साबित हुए.

रवि बिश्नोई काफ़ी देर बाद डेविड वॉर्नर और जॉनी बेयरेस्टो पर क़ाबू पा सके, तब तक दोनों मिलकर टीम का स्कोर 160 रन तक पहुंचा चुके थे.

इमेज स्रोत, BCCI/IPL

छोड़कर पॉडकास्ट आगे बढ़ें
पॉडकास्ट
बात सरहद पार

दो देश,दो शख़्सियतें और ढेर सारी बातें. आज़ादी और बँटवारे के 75 साल. सीमा पार संवाद.

बात सरहद पार

समाप्त

किंग्स इलेवन पंजाब का कोई गेंदबाज़ यदि डेविड वॉर्नर और जॉनी बेयरेस्टो की जोड़ी को जल्दी तोड़ पाता, तो मैच का रुख़ बदल भी सकता था.

लगातार चार मैचों में हार का मुंह देखने वाले कप्तान केएल राहुल का मानना है कि 'किंग्स इलेवन पंजाब का हर खिलाड़ी प्रतिभाशाली है.'

मैच के बाद कप्तान केएल राहुल बोले, ''मयंक अग्रवाल का रन आउट होना अच्छी शुरुआत नहीं थी. ये डिजास्टर था. ये उन दिनों में से एक दिन था जब हम, कभी भी गेंद हवा में मारते, वो फील्डर के हाथ में चली जाती.''#

''पिछले पांच मैचों में हम अपनी गेंदबाज़ी से जूझते रहे, जो इस बार अच्छी रही. लड़कों ने हिम्मई दिखाई, जिस तरह उन्होंने बल्लेबाज़ी की शुरुआत की थी, लग रहा था 230 से ज्यादा रनों की चुनौती मिलेगी....''

लेकिन जो टीम 202 रनों के लक्ष्य का पीछा नहीं कर सकी, वो 230 की चुनौती से भला कैसे पार पाती?

बहरहाल, किंग्स इलेवन पंजाब का अगला मुक़ाबला 10 अक्टूबर को होगा. सामने होगी कोलकाता नाइट राइडर्स जिसने अब तक सिर्फ़ एक मैच हारा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)