अश्विन, रोहित और अक्षर के लिए यादगार मैच में इंग्लैंड परास्त, भारत ने किया हिसाब बराबर

आर अश्विन

दूसरा टेस्ट

भारत: 329 और 286

इंग्लैंड: 134 और 164

नतीजा: भारत 317 रनों से जीता

चेन्नई में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ दूसरा टेस्ट मैच भारत ने 317 रनों से जीत लिया है.

भारत ने जीत के लिए इंग्लैंड के सामने 482 रन का बड़ा लक्ष्य रखा था, लेकिन इंग्लैंड की पूरी टीम 164 रन बनाकर आउट हो गई.

इस जीत के साथ ही चार टेस्ट मैचों की सिरीज़ 1-1 से बराबर हो गई है. पहला टेस्ट इंग्लैंड ने जीता था. भारत की ओर से इस मैच के स्टार रहे आर अश्विन, रोहित शर्मा और अक्षर पटेल.

रोहित शर्मा ने पहली पारी में शानदार 161 रन बनाए, जिससे भारत को अहम बढ़त मिली. जबकि अश्विन ने इस मैच में कुल आठ विकेट लिए और दूसरी पारी में 106 रन बनाए.

जबकि अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे अक्षर पटेल ने कुल सात विकेट लिए. दूसरी पारी में उन्होंने सबसे ज़्यादा पाँच विकेट लिए. उन्होंने ये कमाल अपने पहले टेस्ट में ही कर दिखाया.

भारत ने अपनी पहली पारी में 329 रन बनाए थे, जवाब में इंग्लैंड की टीम 134 रन बनाकर ही आउट हो गई थी. इस तरह भारत को पहली पारी के आधार पर 195 रनों की बढ़त हासिल कर ली थी.

दूसरी पारी में भारत ने अश्विन के शानदार शतक की बदौलत 286 रन बनाए और इंग्लैंड को चेन्नई की घूमती पिच पर 482 रनों का लक्ष्य दिया.

प्रतिक्रिया

मैच के बाद इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने कहा- भारत को जीत का श्रेय मिलना चाहिए. उन्होंने हर क्षेत्र में हमें मात दी. हमें थोड़ी शिक्षा भी मिली.

रूट ने कहा, "हमें सीखना होगा. हमें कभी कभी इस तरह की स्थितियों का सामना करना पड़ता है. हमें इन परिस्थितियों में रन बनाने और विकेट लेने का रास्ता निकालना होगा. अब सिरीज़ 1-1 से बराबर है. अभी दो टेस्ट मैच होने बाक़ी हैं. अभी हम सिरीज़ में बने हुए हैं."

भारत के कप्तान विराट कोहली ने कहा- बिना दर्शकों के पहले टेस्ट में खेलना थोड़ा अजीब था. इस मैच में दर्शकों की उपस्थिति एक बड़ा अंतर साबित हुई. बल्ले के साथ हमारा योगदान उत्कृष्ट था. दोनों ही टीमों के लिए स्थिति चुनौतीपूर्ण थी. लेकिन हमने इससे बाहर निकलने का जज्बा दिखाया. ये हमारे लिए एक आदर्श मैच था.

इस मैच में गेंद और बल्ले से शानदार प्रदर्शन करने वाले आर अश्विन को मैन ऑफ़ द मैच का पुरस्कार मिला. उन्होंने कहा- ये पहले टेस्ट के मुक़ाबले अलग विकेट था. इस पिच पर विकेट लेना उतना आसान नहीं था, जितना दिख रहा था. हमें विकेट लेने के लिए संयम भी दिखाना पड़ा और दिमाग़ भी लगाना पड़ा."

इस जीत के साथ ही विराट कोहली ने घरेलू मैदान पर भारत के लिए सबसे ज़्यादा टेस्ट जीतने के महेंद्र सिंह धोनी के रिकॉर्ड की बराबरी भी कर ली है. दोनों ने अपनी कप्तानी में घरेलू मैदान पर 21-21 टेस्ट जीते हैं.

इंग्लैंड की दूसरी पारी

दूसरी पारी में इंग्लैंड की शुरुआत कोई अच्छी नहीं रही.

लॉरेंस 26 और बर्न्स 25 रन बनाकर आउट हुए. लीच अपना खाता भी नहीं खोल पाए और सिबली ने सिर्फ़ तीन रन बनाए.

जबकि बेन स्टोक्स भी आठ रन ही बना पाए. कप्तान जो रूट ने थोड़ा बहुत संघर्ष किया और उन्हें 33 रन बनाए. उन्हें अक्षर पटेल ने आउट किया.

मोईन अली ने आख़िर में कुछ चौके छक्के लगाए और सर्वाधिक 43 रन बनाए. इंग्लैंड की पूरी टीम 164 रन बनाकर आउट हो गई.

इस पारी में अक्षर पटेल ने पाँच विकेट लिए. पहले टेस्ट में उन्होंने ये कमाल किया है. अश्विन को तीन और कुलदीप यादव को दो विकेट मिले.

बेहतरीन अश्विन

इस टेस्ट में भारत के लिए स्टार बनाकर सामने आए हैं आर अश्विन.

उन्होंने इंग्लैंड की पहली पारी में सिर्फ़ 43 रन देकर पाँच विकेट लिए.

इसी के साथ उन्होंने हरभजन सिंह के 265 टेस्ट विकेट का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया. अब स्पिनरों में उनसे आगे सिर्फ़ अनिल कुंबले हैं.

गेंद से बेहतरीन प्रदर्शन के बाद अश्विन ने भारत की दूसरी पारी में बल्ले से भी कमाल दिखाया.

एक समय भारत की स्थिति काफ़ी ख़राब थी. भारत के छह विकेट 106 रन पर ही गिर गए थे.

उस समय अश्विन ने विराट कोहली के साथ मिलकर एक अविस्मरणीय पारी खेली. उन्होंने बल्लेबाज़ी के लिए मुश्किल पिच पर दिखा दिया कि अगर संयम से खेलें तो शतक भी लगाया जा सकता है.

उन्होंने कोहली के साथ सातवें विकेट के लिए 96 रनों की साझेदारी भी की. इसके बाद उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में अपना पाँचवाँ शतक पूरा किया.

वे 106 रन बनाकर आउट हुए और भारत को बड़ी बढ़त दिलाने में अहम भूमिका निभाई.

इस टेस्ट में क्या रहा ख़ास

पहला टेस्ट बुरी तरह गँवाने के बाद भारतीय टीम इस मैच में उतरी थी. लेकिन बल्लेबाज़ी करने के फ़ैसले के साथ ही भारत ने इस मैच में पकड़ बनानी शुरू कर दी.

कई मैचों में नाकाम रहे रोहित शर्मा ने इस टेस्ट में शतक लगाकर वापसी की.

भारत के 329 रनों के स्कोर में रोहित शर्मा का योगदान 161 रनों का था. अजिंक्य रहाणे ने भी पहली पारी में वापसी की और 67 रन बनाए.

जबकि ऋषभ पंत ने अर्धशतकीय पारी खेलते हुए 58 रन बनाए और नाबाद रहे.

इंग्लैंड की ओर से भारत की पहली पारी में मोईन अली ने चार विकेट लिए लेकिन वे काफ़ी महंगे साबित हुए. जबकि स्टोन ने तीन विकेट लिए.

इंग्लैंड ने जब अपनी पहली पारी शुरू की, तो चेन्नई की घूमती विकेट ने उनका स्वागत किया. इंग्लैंड की टीम कभी भी संभल नहीं पाई और 134 रन पर ही सिमट गई.

अश्विन ने पाँच विकेट लिए, जबकि ईशांत शर्मा और अपना पहला टेस्ट खेल रहे अक्षर पटेल ने दो-दो विकेट लिए.

भारत की दूसरी पारी की शुरुआत अच्छी नहीं रही और विकेट लगातार गिरते रहे. आर अश्विन के शतक के अलावा कप्तान विराट कोहली ने अच्छी पारी खेली और 62 रन बनाए.

इस बार इंग्लैंड की ओर से मोईन अली और लीच ने चार-चार विकेट लिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)