आईपीएल 2021: कार्तिक त्यागी ने ऐसे बढ़ाई राजस्थान रॉयल्स की कीर्ति

कार्तिक त्यागी

इमेज स्रोत, IPL

ट्वेन्टी-ट्वेन्टी मैच को लेकर हमेशा से ये कहा जाता है कि कभी-कभी एक ओवर पूरे मैच का पाला बदल सकता है. वो चाहे अंतरराष्ट्रीय मैच हो या इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल), ऐसे कई मौक़े देखने को मिले हैं.

लेकिन ऐसा शायद ही हो कि इतनी गेंद और इतने विकेट के रहते कोई टीम आसान सा लगने वाला मैच गँवा दे. मंगलवार को राजस्थान रॉयल्स और पंजाब किंग्स के मैच में ये सब कुछ हुआ.

आतिशी बल्लेबाज़ी देखने को मिली, तो अप्रत्याशित गेंदबाज़ी भी देखने को मिली. चौके-छक्के लगे, तो किसी ओवर में रन बनाना मुश्किल हुआ.

लेकिन मैच के आख़िरी ओवर में जो हुआ, वो पंजाब के लिए किसी दुस्वप्न की तरह था, तो राजस्थान के लिए ये राहत की साँस लेकर आया.

कोविड के कारण इस साल का आईपीएल पूरा नहीं हो पाया था. अब ये संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में खेला जा रहा है. 19 सितंबर से दोबारा शुरू हुए आईपीएल का ये मैच हाई स्कोरिंग मैच था.

पहले बल्लेबाज़ी करते हुए राजस्थान रॉयल्स ने 20 ओवरों में 185 रन बनाए. यशस्वी जायसवाल ने सर्वाधिक 49 रन बनाए. पंजाब के लिए सबसे सफल गेंदबाज़ साबित हुए अर्शदीप सिंह, जिन्होंने 32 रन देकर पाँच विकेट लिए. जबकि मोहम्मद समी ने 21 रन देकर तीन विकेट लिए.

पंजाब के लिए ये बड़ी चुनौती थी. लेकिन कप्तान केएल राहुल और मयंक अग्रवाल ने अपनी टीम को बेहतरीन शुरुआत दी.

दोनों के बीच पहले विकेट के लिए 120 रनों की साझेदारी हुई. केएल राहुल 49 रन बनाकर आउट हुए. जल्द ही मयंक अग्रवाल भी 67 रन बनाकर आउट हो गए. लेकिन दोनों ने अपनी टीम को काफ़ी मज़बूत स्थिति में ला दिया था. 13 ओवर की समाप्ति पर पंजाब का स्कोर था दो विकेट पर 126 रन.

उम्मीद

इमेज स्रोत, @KartikTyagi

इस समय पिच पर मौजूद थे निकोलस पूरन और एडेन मार्करम. उस समय ऐसा लग रहा था कि पंजाब की टीम आसानी से मैच जीत जाएगी. शायद इसी कारण ये दोनों बल्लेबाज़ बेफ़िक्र होकर खेलने लगे कि जीत तो हो ही जाएगी और यही आगे चलकर उनके लिए भारी साबित हुआ.

18वें ओवर की समाप्ति पर पंजाब का स्कोर था दो विकेट पर 178 रन. यानी पंजाब को दो ओवर में आठ रनों की आवश्यकता थी. किसी भी टी-20 मैच के लिए ये काफ़ी आसान लक्ष्य था. लेकिन 19वें और 20वें ओवर ने मैच का पासा पलट दिया.

19वाँ ओवर किया मुस्तफ़िज़ुर रहमान ने. मुस्तफ़िज़ुर ने इस ओवर में तरह-तरह के प्रयोग की. क्रीज़ के कोने से गेंद डाली और वाइड यॉर्कर भी फेंके. पंजाब इस ओवर में भी मैच जीत सकता था. लेकिन मुस्तफ़िज़ुर ने इस ओवर में सिर्फ़ चार रन बनने दिए.

यानी आख़िरी ओवर में पंजाब को जीत के लिए सिर्फ़ चार रन चाहिए थे. उत्तर प्रदेश के रहने वाले 'नौसिखिया' गेंदबाज़ 20 वर्षीय कार्तिक त्यागी. कार्तिक त्यागी को आईपीएल का बहुत ज़्यादा अनुभव भी नहीं है. पहला आईपीएल मैच उन्होंने पिछले साल ही खेला था.

लेकिन शायद अपनी निश्चित हार को देखते हुए कप्तान संजू सैमसन ने उन्हें गेंद थमा दी. कार्तिक को भी नहीं पता था कि वे इतिहास का हिस्सा बनने जा रहे हैं. पंजाब को जीतने के लिए छह गेंद पर चार रन चाहिए थे और आठ विकेट उनके पास थे. लेकिन आख़िरी ओवर में जो हुआ, उसके बाद कार्तिक त्यागी मैच के हीरो बन गए.

पहली गेंद पर कोई रन नहीं बना. तो दूसरी गेंद पर एक रन बना. तीसरी गेंद पर विकेट मिला. चौथी गेंद पर फिर कोई रन नहीं बन पाया और पाँचवीं गेंद पर एक और विकेट. आख़िरी गेंद पर पंजाब को तीन रन चाहिए थे और कार्तिक त्यागी ने कोई रन नहीं बनने दिया. और स्टैंड से देखते रह गए कप्तान केएल राहुल. निराश और हताश.

सराहना

इमेज स्रोत, IPL

जबकि राजस्थान के कैंप में ख़ुशी की लहर दौड़ गई. उनकी टीम में एक और हीरो पैदा हुआ और वो था कार्तिक त्यागी. कार्तिक को प्लेयर ऑफ़ द मैच का पुरस्कार भी मिला और सोशल मीडिया पर उनकी जमकर तारीफ़ भी हुई.

मैच के बाद कार्तिक त्यागी ने कहा कि वो आईपीएल के पहले लेग के दौरान घायल हो गए थे और जब तक वे फ़िट होते, कोविड के कारण मैच स्थगित हो गए थे. उस समय उन्हें काफ़ी बुरा लगा था. लेकिन अब उन्हें बहुत अच्छा लग रहा है.

कार्तिक ने कहा, "मैं भाग्यशाली हूँ कि मुझे इस मैच में एक बड़ी भूमिका निभाने का मौक़ा मिला."

दूसरी ओर राजस्थान रॉयल्स के कप्तान संजू सैमसन ने कहा, "ये काफ़ी मज़ेदार है कि हम ये भरोसा करते रहे कि हम जीत सकते हैं. मैंने इसी उम्मीद में मुस्तफ़िज़ुर और त्यागी के ओवर्स बचा रखे थे. क्रिकेट एक मज़ेदार खेल है. हमें भरोसा करना चाहिए और संघर्ष करते रहना चाहिए."

कॉपी: पंकज प्रियदर्शी

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)