ललित मोदी को कारण बताओ नोटिस

  • 27 जून 2009
ललित मोदी
Image caption मोदी पर आरोप है कि वो अदालत को बिना सूचित किए विदेश चले गए हैं.

राजस्थान हाईकोर्ट ने इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल के चेयरमैन ललित मोदी को कथित धोखाधड़ी के एक मामले में कारण बताओ नोटिस जारी किया है.

ललित मोदी पर आरोप है कि वो अदालत को बिना सूचित किए विदेश चले गए हैं, जबकि वो एक मुक़दमे में अग्रिम ज़मानत पर हैं.

ग़ौरतलब है कि एक स्थानीय नागरिक संजय बत्रा ने ललित मोदी पर जयपुर धमाकों के पीड़ितों के साथ धोखाधड़ी का इल्जा़म लगाते हुए जयपुर में प्राथमिकी दर्ज कराई थी.

इस मामले में अदालत ने मोदी को अग्रिम ज़मानत दे रखी है. मोदी फ़िलहाल आईपीएल के दूसरे सीज़न के सिलसिले में दक्षिण अफ़्रीक़ा में हैं.

शुक्रवार को संजय बत्रा के वकील अजय जैन ने अदालती नोटिस का विवरण देते हुए बताया, "हाई कोर्ट ने मोदी को कारण बताओ नोटिस जारी करके पूछा है कि क्यों नहीं उनकी अग्रिम ज़मानत की सुविधा को समाप्त कर दिया जाए, क्योंकि वो अदालत को बिना सूचित किए विदेश में हैं."

मामला

संजय बत्रा के अनुसार ललित मोदी ने जयपुर बम धमाकों के पीड़ितों को विश्वास दिलाया था कि वो उनके लिए छह करोड़ रुपए मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा कराएंगे.

लेकिन परिवादी का कहना है कि धमाकों के पीड़ितों को यह सहायता राशि नहीं मिली है और मोदी का ये क़दम राजस्थान की जनता के साथ धोखा है.

हालांकि मोदी इन आरोपों को ग़लत बताते रहे हैं और उनका कहना था कि इन आरोपों का कोई आधार नहीं है.

पिछले साल 13 मई को जयपुर में सिलसिलेवार बम धमाके हुए थे जिनमें अनेक लोग मारे गए थे.

उस समय आईपीएल क्रिकेट के पहले सीज़न का मैच भारत के विभिन्न शहरों में खेला जा रहा था.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार