बीबीसी फन एंड गेम्स

सानिया मिर्ज़ा
Image caption सानिया मिर्ज़ा

बीबीसी फ़न एंड गेम्स में इस हफ्ते बात हो रही है मुक्के बाज़ी की, कुश्ती की, एंड्रयू फ़्लिंटॉफ़ के टेस्ट क्रिकेट से सन्यास लेने की, महेंद्र सिंह धोनी की पढ़ाई की और सानिया मिर्ज़ा की भी.

सबसे पहले बात हो रही है मुक्के बाज़ी की. बीजिंग ओलंपिक्स के बाद भी लगातार इंडिया का नाम ऊँचा करते जा रहे हैं इंडियन ब़ॉक्सर्स. हाल ही में रशिया में एक् बॉक्सिंग चैंपियनशिप में तीन तीन इंडियन मुक्केबाज़ो ने सिल्वर मैडल जीता है. ये तीन हैं अमनदीप सिंह, अक्षय कुमार और मनप्रीत सिंह. बॉक्सिंग कोच जी. एस संधू ने कहा कि उन्हें भी इस चैंपियनशिप से इतनी उम्मीद नहीं थी.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

वैसे भारत के युवा पहलवान भी कम पीछे नहीं हैं. मनीला में हुई 'जूनियर एशियन रैसलिंग चैंपियनशिप' में भारत ने चार पाँच नही बल्कि पूरे चौदह मैडल जीते हैं. भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष जी. एस. मंडेर ने कहा कि अब भारत की निगाहें दो हज़ार बारह में लंदन में होने वाले ओलिंपिक्स खेलों पर हैं.

इंग्लैड क्रिकेट टीम के सबसे भरोसेमंद ऑल राउंडर एंड्रयू फ़्लिंटॉफ़ ने जल्द ही टेस्ट क्रिकेट से रिटायर होने का ऐलान किया है. फ़्लिंटॉफ़ ऑस्ट्रेलिया के साथ चल रही ऐशिज़ सीरीज़ के बाद टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह देंगे. उनके इस फ़ैसले से काफ़ी निराश हुए इंग्लैंड के कप्तान एंड्रयू स्ट्रॉस भी और उन्होंने कहा कि फ़्लिंटॉफ़ की कमी टीम को हमेशा ही खलेगी.

बीबीसी फ़न एंड गेम्स में ईस बार बात हो रही है दो दिग्गजों की आपसी मुलाक़ात की भी. ऑस्ट्रेलिया की क्रिकेट टीम के कप्तान रिकी पॉन्टिंग जब मिले फ़ॉर्मुला वन के ड्राईवर मार्क वेबर से मिले तो दोनों के बीच हुई ढेर सारी बातें. आखिर दोनों आस्ट्रेलिया के जो हैं. पॉन्टिंग ने वेबर से कहा कि उन्हें लगता है कि ऑस्ट्रेलिया की मोटर रेसिंग थोड़ी कमज़ोर है.

वेबर ने तुरंत इस बात पर हामी भर दी पर उन्होंने ये भी कहा कि फ़ॉर्मुला वन की ज्यादातर रेसिंग ऑस्ट्रेलिया के समय के अनुसार रात के समय में होती हैं इसलिये लोग इसमें इतनी ज्यादा दिलचस्पी नहीं लेते.

क्रिकेट में व्यस्त होने के कारण भारतीय वन डे क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी रांची के सेंट ज़ेवियर कॉलेज में अपने प्रथम वर्ष बी कॉम की परीक्षा नहीं दे पाय. धोनी के कॉमर्स टीचर गौतम रुद्रा कहते हैं कि धोनी अब भी परीक्षा दे सकते हैं. वैसे, कॉलेज के प्रिंसिपल डा. निकोलस टेटे का तो कहना है कि धोनी के लिये परीक्षा की विशेष व्यवस्था की गयी है और वे जब चाहें परीक्षा दे सकते हैं.

सानिया मिर्ज़ा की सहोराब मिर्ज़ा के साथ मंगनी की पिछले कई दिनों से चर्चा चल रही है पर बात सानिया मिर्ज़ा कि तो मंगनी के अगले दिन ही वो मौजूद थी टेनिस कोर्ट पर प्रैक्टिस के लिये. आखिर हो भी क्यों ने, सानिया हार्ड कोर्ट सीज़न में उतर रही हैं पहले लेक्सिंगटन ओपन में औऱ फिर स्टैनफ़ौर्ड कप है और उसके बाद वो भाग लेंगी यू एस ओपन में भी.

संबंधित समाचार