चाइना सिरीज़ से चूकीं साइना

साइना नेहवाल

भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल अब चाइना मास्टर सुपर सिरीज़ में हिस्सा नहीं ले पाएंगी.

लेकिन इसके पीछे की वजह का उनके स्वास्थ्य या फ़िटनेस से कोई लेना-देना नहीं है. बस, विभागीय लापरवाही और समय पर सूचना न दे पाने के कारण साइना एक अच्छा मौक़ा चूक गई हैं.

समय पर सहमति नहीं भेज पाने के कारण साइना को इस टूर्नामेंट में खेलने का मौक़ा नहीं मिलेगा. चाइना मास्टर सिरीज़ 15 सितंबर से शुरू होगी.

साइना के लिए यह टूर्नामेंट अहम था लेकिन उन्होंने टूर्नामेंट के लिए आवेदन भेजने की अंतिम तिथि के बाद अपनी सहमति भेजी थी. जून में इंडोनेशियन ओपन जीतने वाली साइना को इस टूर्नामेंट में भी कामयाबी की आस थी.

उन्होंने बीबीसी से बातचीत में कहा, "मेरे लिए इस टूर्नामेंट में जाना महत्वपूर्ण था क्योंकि यहाँ के प्रदर्शन से मेरे अंक बढ़ते और इससे मेरा क्रम सुधरता पर अब ऐसा नहीं हो पाएगा."

पर इस लापरवाही के लिए साइना किसी एक को ज़िम्मेदार नहीं ठहराती हैं. उन्होंने कहा, "मैं यही कहूंगी कि सभी की ग़लती थी. हमें किसी ने समय पर जानकारी नहीं दी. हम भी समय पर जानकारी नहीं दे सके. किसी एक को दोष नहीं देना चाहुंगी पर अंत में नुकसान तो खिलाड़ी का ही होता है. नुकसान तो उसे ही उठाना पड़ता है."

साइना ने लिया सबक

जानकार कहते हैं कि बैडमिंटन एसोसिएशन के अधिकारियों की इस बारे में ज़्यादा ज़िम्मेदारी बनती है. खिलाड़ियों के लिए आसान नहीं है कि वे खुलकर एसोसिएशन की लापरवाही के बारे में बोल सकें.

साइना को दुख है कि वो इस टूर्नामेंट में नहीं जा सकेंगी. उन्होंने बीबीसी से कहा कि पिछले कुछ महीनों में अच्छे खेल की बदौलत उन्होंने कई प्वाइंट बनाए थे पर और प्वाइंट बनाने का एक सुनहरा मौका उन्होंने खो दिया है.

साइना ने हाल में हैदराबाद में हुई विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप में अच्छा प्रदर्शन किया था.

वो इसके क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने में कामयाब रही थीं. भारत की ओर से वो पहली महिला बनीं जो क्वार्टर फ़ाइनल तक पहुंच पाई हो. हालांकि उनका विजय अभियान वहीं थम गया और वो आगे न जा सकीं.

साइना नेहवाल चीन की वांग लिन से 21-16, 21-19 से हार गईं.

संबंधित समाचार