फ़ेडरर और सरीना तगड़े दावेदार

  • 31 अगस्त 2009

सोमवार से साल की आख़िरी ग्रैंड स्लैम टेनिस प्रतियोगिता यूएस ओपन शुरू हो रही है.

Image caption पिछले साल के चैम्पियन हैं फ़ेडरर और सरीना

इस प्रतियोगिता में निगाहें दुनिया के नंबर वन खिलाड़ी रोजर फ़ेडरर पर होगी, जो लगातार छठी बार ख़िताब जीतने के लिए कोर्ट पर उतरेंगे.

पहले दौर में उनका मुक़ाबला वाइल्ड कार्ड के ज़रिए प्रतियोगिता में प्रवेश पाने वाले अमरीका के डेविन ब्रिटन से होगा.

इस साल फ़्रेंच ओपन और विंबलडन का ख़िताब जीत चुके फ़ेडरर अगर यूएस ओपन भी जीत जाते हैं तो वे लगातार छह बार यूएस टेनिस चैम्पियनशिप जीतने वाले बिल टिल्डेन के रिकॉर्ड की बराबरी कर लेंगे.

हालाँकि बिल टिल्डेन का ये रिकॉर्ड 1920 के दशक का है, जब ये प्रतियोगिता पेशेवर नहीं हुई थी.

पिछले साल उपविजेता रहे ब्रिटेन के एंडी मरे को यूएस ओपन में दूसरी वरीयता दी गई है. माना जा रहा है कि इस बार भी वे फ़ेडरर को कड़ी चुनौती दे सकते हैं.

घुटने की चोट के कारण स्पेन के रफ़ाएल नडाल विंबलडन में नहीं खेल पाए थे. लेकिन यूएस ओपन में वे उतर रहे हैं. पहले ही दौर में उनका मुक़ाबला फ़्रांस के रिचर्ड गास्के से है.

इस प्रतियोगिता में नोवाक जोकोविच को चौथी और अमरीका के पूर्व यूएस चैम्पियन एंडी रॉडिक को पाँचवीं वरीयता दी गई है.

महिला वर्ग

महिलाओं के वर्ग में अमरीका की सरीना विलियम्स अपने ख़िताब की रक्षा के लिए कोर्ट पर उतरेंगी. हालाँकि उन्हें इस प्रतियोगिता में दूसरी वरीयता दी गई है.

Image caption सफ़ीना को शीर्ष वरीयता मिली हुई है

महिलाओं के वर्ग में शीर्ष वरीयता मिली है दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी रूस की दिनारा सफ़ीना को. सफ़ीना अब तक एक भी ग्रैंड स्लैम ख़िताब नहीं जीत पाई हैं.

सरीना की बहन वीनस को प्रतियोगिता में तीसरी वरीयता मिली है. अगर दोनों विलियम्स बहनें शुरुआती दौर में अपना-अपना मैच जीत जाती हैं तो दोनों का मुक़ाबला सेमी फ़ाइनल में हो सकता है.

इस प्रतियोगिता में पूर्व चैम्पियन रूस की मारिया शरापोवा और पूर्व नंबर वन बेल्जियम की किम क्लाइस्टर्स भी कोर्ट पर उतर रही हैं. क्लाइस्टर्स क़रीब ढाई साल बाद टेनिस कोर्ट पर इसी महीने लौटी हैं.

भारतीय चुनौती

हमेशा की तरह इस बार भी इस प्रतियोगिता में लिएंडर पेस, महेश भूपति और सानिया मिर्ज़ा भारत की ओर से चुनौती पेश करेंगे.

Image caption सानिया डबल्स मुक़ाबले में भी उतरेंगी

लेकिन सोमदेव देवबर्मन ने भी इस प्रतियोगिता के लिए क्वालीफ़ाई किया है. पहले दौर में सानिया मिर्ज़ा का मुक़ाबला बेलारूस की ओल्गा गोवोर्तसोवा के साथ होगा.

दूसरी ओर सोमदेव देवबर्मन पहले दौर में पुर्तगाल के फ़्रेडरिको गिल से भिड़ेंगे.

पुरुषों के डबल्स मुक़ाबले में भारत के महेश भूपति और बहामास के मार्क नोल्स की जोड़ी को तीसरी वरीयता मिली है.

जबकि भारत केलिएंडर पेस और चेक गणराज्य के लूकास ड्लोही को चौथी वरीयता दी गई है.

महिलाओं के डबल्स में भारत की सानिया मिर्ज़ा इटली की फ़्रांसेस्का शियावोन के साथ उतरेंगी.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार