सचिन ने सुझाया नया वनडे फ़ार्मूला

  • 5 सितंबर 2009
सचिन तेंदुलकर
Image caption सचिन ने नया फ़ार्मूला सुझाकर बहस खड़ी कर दी है

मास्टर ब्लास्टर के एक बयान ने क्रिकेट जगत में हलचल पैदा कर दी है.

पर हलचल पैदा करनेवाली बात टीम के चयन, खिलाड़ियों आदि से संबंधित नहीं है. सचिन ने वनडे क्रिकेट के फ़ार्मूले को ही बदलकर खेलने की सलाह दे डाली है.

एक निजी टेलीविज़न चैनल, टाइम्स नाउ के साथ अपनी बातचीत में सचिन के कहा है कि वनडे क्रिकेट के खेल को दो-दो पारियों में बांटकर खेला जाना चाहिए.

उन्होंने सुझाया कि दोनों पारियों में हर टीम को 25-25 ओवर के खेल का मौका मिले. इससे ज़्यादा संतुलित स्थिति में मैच खेले जा सकेंगे.

उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि कभी कभी डे-नाइट मैच होने की स्थिति में या मौसम प्रतिकूल होने की सूरत में टीमों के प्रदर्शन पर असर पड़ता है. अगर ऐसी स्थिति में वनडे को दो पारियों में बांटकर खेलने के विकल्प को देखा जाए तो यह ज़्यादा संतुलित तरीका होगा.

सचिन शुक्रवार को मुंबई में एक ब्रांड प्रमोशन के कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे थे. मौका था उनके बल्ले पर अंतरराष्ट्रीय ब्रांड एडिडास के ब्रांड को लगाने का. इसके बाद एक निजी चैनल से बातचीत के दौरान उन्होंने यह बात कही.

बहस

सचिन ने वनडे क्रिकेट के लिए यह नया फ़ार्मूला ऐसे वक़्त में सुझाया है जब टेस्ट क्रिकेट से दूर होते दर्शकों और ट्वेंटी-20 क्रिकेट की लोकप्रियता के बीच क्रिकेट के भविष्य को लेकर अलग अलग तर्क रखे जा रहे हैं.

हालांकि बातचीत के दौरान तेंदुलकर ने कहा कि वे 50 ओवर वाली व्यवस्था को पसंद करनेवाले क्रिकेटर हैं.

पर दो-दो पारियों में टीमों को वनडे खेलने देने की बात कहकर सचिन ने क्रिकेट प्रशंसकों और क्रिकेट जगत के लोगों को बीच बहस को एक नया मोड़ ज़रूर दे दिया है.

सचिन की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया करते हुए जहाँ एक शीर्ष क्रिकेटर कह रहे हैं कि मध्यक्रम के लिए यह एक अच्छा मौका देने वाली बात होगी वहीं एक दूसरे खिलाड़ी के मुताबिक सचिन की सोच उनकी व्यक्तिगत राय है पर भारतीय क्रिकेट बोर्ड को इस दिशा में आगे नहीं बढ़ना चाहिए.

अपनी प्रतिक्रिया में सचिन से बातचीत करने वाले चैनल से पूर्व क्रिकेटर कपिल देव ने कहा कि टेस्ट, वनडे और ट्वेंटी-20, इन तीनों तरह के खेल में सभी का अपना स्थान और महत्व है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार