मोदी नई पारी खेलने के लिए तैयार

नरेन्द्र मोदी
Image caption नरेन्द्र मोदी गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन के नये अध्यक्ष हैं.

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन जीसीए के नए अध्यक्ष बन गए हैं. मंगलवार को जीसीए की वार्षिक जनरल मीटिंग में मोदी को अध्यक्ष मनोनीत किया गया.

इसके साथ ही जीसीए पर कांग्रेस का कब्ज़ा ख़त्म हो गया. पिछले सोलह साल से जीसीए के अध्यक्ष कांग्रेस नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री नरहरि अमीन थे.

अपने चुनाव के बाद नरेंद्र मोदी ने पत्रकारों को बताया कि वो जीसीए के काम-काज में पेशेवर रवैया लाने की कोशिश करेंगें.

अपने निर्विरोध चुनाव के लिए मोदी ने जीसीए के सदस्यों का धन्यवाद करते हुए कहा कि आने वाले महीनों में वो गुजरात में क्रिकेट के हालात सुधारने की पूरी कोशिश करेंगे.

प्रतिक्रिय

हालांकि जीसीए पर उनका एकछत्र राज अब नहीं रहा लेकिन पूर्व अध्यक्ष नरहरि अमीन ने बीबीसी को बताया कि एसोसिएशन और राज्य में क्रिकेट की भलाई के लिए वो मोदी को पूरा सहयोग देंगे.

साथ ही अमीन ये भी कहते हैं कि ये आने वाला वक्त बताएगा कि राज्य की ज़िम्मेदारियों के बीच मुख्यमंत्री गुजरात क्रिकेट के लिए कितना समय दे पाएँगे.

गुजरात के गृह राज्य मंत्री अमित शाह और नरहरि अमीन के बीच पिछले काफी समय से जीसीए पर कंट्रोल करने के लिए खींचातानी चल रही थी. हाल ही में जीसीए का हिस्सा, सेंट्रल बोर्ड ऑफ क्रिकेट ऑफ अहमदाबाद( सीबीसीए), के चुनावों में अमित शाह के गुट की भारी जीत हुई जिसके बाद जून में अमीन ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया.

क्रिकेट और राजनेता

क्रिकेट और राजनीति का पुराना संबंध है. केंद्रीय मंत्री शरद पवार बीसीसीआई अध्यक्ष रह चुके हैं. अरुण जेटली, ज्योतिरादित्य सिधिंया, फारुख अबदुल्लाह और राजीव शुक्ला भी अपने-अपने राज्यों की क्रिकेट एसोसिएशनों से जुड़े हुए हैं.

पूर्व क्रिकेटर अरुण लाल कहते हैं कि राजनेताओं का खेल में दखल सिर्फ क्रिकेट तक ही सीमित नहीं है. उन्होंने बीबीसी को बताया कि ऐसा शायद राजनेताओं की ऊंची पहुंच की वजह से है और इससे फेडरेशन्स को कुछ हद तक फायदा ही हो रहा है.

लेकिन अरुण लाल मानते हैं कि खेल के प्रशासन की ज़िम्मेदारी खिलाड़ी ही बेहतर संभाल सकते हैं क्योंकि वो खेल के बारे में ज़्यादा जानते हैं.