ऑस्ट्रेलिया ने फिर जीती चैंपियंस ट्राफी

  • 6 अक्तूबर 2009
Image caption शेन वॉट्सन को अपने शतक के लिए मैन ऑफ़ द मैच पुरस्कार दिया गया

ऑस्ट्रेलिया ने न्यूज़ीलैंड की टीम को छह विकेट से हराकर चैंपियंस ट्रॉफी प्रतियोगिता जीत ली है.

ऑस्ट्रेलिया की टीम ने 2006 में जीता हुआ ख़िताब बरकरार रखा है. जबकि इस जीत के साथ ही ऑस्ट्रेलिया चैंपियंस ट्रॉफी दो बार जीतने वाली पहली टीम बन गई है.

दक्षिण अफ्रीका के सेन्चुरियन मैदान पर खेले गए फाइनल मुकाबले में न्यूज़ीलैंड के कप्तान ब्रेन्डन मैकुलम ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाज़ी करने का फैसला लिया था.

हालांकि सलामी बल्लेबाजों के ख़राब प्रदर्शन के कारण न्यूज़ीलैंड की टीम मैच पर अपनी पकड़ बनाने में विफल रही. चार रन प्रति ओवर की औसत से बल्लेबाज़ी करते हुए न्यूज़ीलैंड की टीम ने अपने 50 ओवर में 9 विकेट खो कर 200 रन ही बनाए.

मध्यक्रम के बल्लेबाज़ गुप्तिल ने 84 गेंदों में 40 रन बनाकर न्यूज़ीलैंड की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाए. जबकि ऑस्ट्रेलिया की ओ़र से हौरित्ज़ ने तीन और ब्रेट ली ने दो विकेट झटके.

हालांकि ऑस्ट्रेलिया की पारी की शुरुआत भी खराब ही रही और उनके सलामी बल्लेबाज़ टॉम पेन और कप्तान रिकी पोंटिंग एक-एक रन बनाकर ही पैवेलियन वापस लौट गए पर शेन वॉट्सन ने ऑस्ट्रेलिया की पारी सभालते हुए एक निर्णायक पारी खेली. शेन वॉट्सन मैच की आखिरी गेंद तक क्रीस पर डटे रहे और उन्होंने नाबाद रहते हुए 105 रन बनाए.

शेन वॉट्सन ने इसी के साथ इस प्रतियोगिता में अपना लगातार दूसरा शतक जड़ा.

क्रेग व्हाइट ने 60 रन बनाकर शेन वॉट्सन का बखूबी साथ दिया और ऑस्ट्रेलिया ने 46वें ओवर में 4 विकेट के नुकसान पर ही 200 रनों का लक्ष्य पार कर के प्रतियोगिता जीत ली.

अपनी टीम को जीत दिलाने के बाद शेन वॉट्सन ने कहा , "मुझे पता था की अगर मै मैच के 40वें ओवर तक भी बल्लेबाज़ी करता रहा तो फिर मैच जीता जा सकता है."

Image caption रिक्की पोंटिंग की टीम ने लगातार दूसरी बार चैंपियंस ट्राफी प्रतियोगिता जीती है

मैन ऑफ़ द मैच का पुरस्कार भी ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज़ शेन वॉट्सन को अपने निर्णायक शतक की वजह से दिया गया.

जबकि लगातार दूसरी बार चैंपियंस ट्राफी विजेता बनने के बाद ऑस्ट्रेलिया के कप्तान रिकी पोंटिंग ने कहा, "पिछले एक महीने से हमारी टीम बहुत अच्छा क्रिकेट खेल रही है. हालांकि कुछ उतार-चढाव भी आए लेकिन हम अभी भी दुनिया की शीर्ष टीम हैं. मुझे गर्व इस बात का भी है की हमने अलग अलग परिस्थितियों में अपने को ढाल कर बेहतरीन खेल दिखाया है. "

न्यूज़ीलैंड की टीम को मैच से पहले ही एक करारा झटका लगा था क्योंकि मासपेशियों में खिंचाव के चलते उनके कप्तान डैनियल वेटोरी फाइनल मुकाबला नहीं खेल सके.

वेटोरी की जगह कप्तानी सँभालने वाले ब्रेन्डन मैकुलम ने मैच हारने के बाद कहा , "हमारे लिए डैनियल का न खेलना बड़ा नुकसानदेह रहा. इस मैच में कम रन बनाना ही हार की एक वजह रही. हालांकि हमारे गेंदबाजों ने काफी प्रयास किए पर लक्ष्य ही थोड़ा कम था."

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान रिकी पोंटिंग को इस प्रतियोगिता के सर्वश्रेष्ठ खिलाडी के पुरस्कार से नवाज़ा गया. चैंपियंस ट्राफी में पहली बार दिया जाने वाला गोल्डन बैट पुरस्कार भी रिकी पोंटिंग को पूरे टूर्नामेंट के दौरान 288 रन बनाने के कारण मिला.

संबंधित समाचार