डेयरडेविल्स को करारी हार

  • 9 अक्तूबर 2009
Image caption गंभीर केवल चार रन ही बना पाए

चैम्पियंस लीग ट्वेन्टी-20 प्रतियोगिता में दिल्ली डेयरडेविल्स के अभियान की शुरुआत करारी हार से हुई है.

दिल्ली में खेले गए मैच में विक्टोरिया की टीम ने डेयरडेविल्स को सात विकेट से हरा दिया.

डेयरडेविल्स ने 20 ओवरों में महज़ 98 रन बनाए थे जिसे विक्टोरिया ने बड़ी ही आसानी से 20 गेंद रहते हासिल कर लिया. तीन विकेट चटकने के लिए विक्टोरिया के मैके को मैन ऑफ़ द मैच चुना गया.

दिल्ली डेयरडेविल्स ने पहले बल्लेबाज़ी की. तीसरे ही ओवर में उसे बड़ा झटका लगा जब हारवुड की गेंद पर गंभीर केवल चार रन बनाकर आउट हो गए.

इसके बाद सहवाग और दिलशान ने कुछ देर टिककर खेलने की कोशिश की लेकिन क्लिंट मैके ने जल्द ही सहवाग और ओवैस शाह को पविलियन लौटा दिया. ओवैस शाह तो खाता भी नहीं खोल पाए तो सहवाग ने 21 रन बनाए.

आसान जीत

दिलशान से कुछ उम्मीद थी लेकिन एक बार फिर मैके ने अपना कमाल दिखाया और उन्हें आउट कर दिया. वे 18 रन ही बना सके. उस समय डेयरडेविल्स का स्कोर था पांच विकेट पर 76 रन.

उसके बाद एंड्रयू मैक्नोल्ड ने और दो विकेट चटक लिए.20 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर डेयरडेविल्स केवल 98 का स्कोर खड़ा कर पाए.

आसान से लक्ष्य को हासिल करने में विक्टोरिया की टीम को ज़्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ी. सलामी बल्लेबाज़ रॉब क्विनी ने आते ही रन बटोरने शुरु कर दिए. वे 40 का स्कोर बनाकर अमित मिश्रा की गेंद पर आउट हुए. उस समय टीम का स्कोर 55 रन हो गया था.

ब्रैड हॉज नौ ही रन बना पाए तो डेविड हसी सात रन. लेकिन कैमरून व्हाइट ने स्कोर को आगे बढ़ाते हुए बलिज़र्ड के साथ मिलकर 98 के मामूली लक्ष्य को पार कर लिया.

विक्टोरिया की ओर से क्लिंट मैके ने तीन विकेट लिए तो शेन हारवुड और एंड्रूय मैकडोनल्ड ने दो-दो विकेट लिए.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार