रोमांचक मुक़ाबले में भारत हारा

पोंटिंग
Image caption पोंटिंग ने बेहतरीन बल्लेबाजी़ की और 74 रन बनाए

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच वडोदरा में खेले गए पहले रोमांचक वनडे मैच में भारत को हार का सामना करना पड़ा है.

भारत की हार महज़ चार रनों से हुई.

आख़िरी ओवरों में हरभजन सिंह और प्रवीन कुमार की आतिशी बल्लेबाज़ी और 84 रनों की साझेदारी ने भारत को जीत के करीब ला दिया था.

भारतीय खिलाड़ियों ने 40वें ओवर में सात विकेट पर 201 रन बनाए थे जिसके बाद हरभजन और प्रवीन कुमार ने जीत की आस दिलाई जो मैच के आख़री गेंद तक बाक़ी रही लेकिन अंतत: भारत की हार हुई.

भारत के लिए सबसे दुख की बात 49वें ओवर में हरभजन सिंह का आउट होना था. हरभजन अर्धशतक बनाने से भी चूक गए. उन्होंने 49 रन बनाए.

आख़िरी ओवर में भारत के सामने जीत के लिए नौ रनों की आवश्यकता थी, लेकिन प्रवीन कुमार और आशीष नेहरा की जोड़ी इसतक पहुंचने में असफल रही.

माइकल हसी को मैन ऑफ़ दी मैच का पुरस्कार मिला.

विशाल लक्ष्य

भारत के सामने ऑस्ट्रेलिया ने जीत के लिए 293 रनों का लक्ष्य रखा, जिसका पीछा करते हुए भारतीय खिलाड़ियों ने निर्धारित 50 अवरों में आठ विकेट के नुक़सान पर 288 रन बनाए.

वैसे भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही, जब टीम का स्कोर 50 रन पर भी नहीं पहुँचा था कि सहवाग और सचिन पवेलियन लौट चुके थे. विरेंद्र सहवाग ने 13 तो सचिन तेंदुलकर ने 14 रनों का योगदान दिया.

तीसरे विकेट पर बल्लेबाज़ी करने आए गौतम गंभीर ने पारी संभाली, उन्होंने 85 गेंदों पर 68 रन बनाए. हालाँकि इस बीच 21वें ओवर में 103 रन पर भारत का तीसरा विकेट विराट कोहली के रूप गिर गया. कोहली ने 30 रनों का योगदान दिया.

चौथे विकेट के रुप में गंभीर का भी विकेट गिर गया, उस समय भारत का स्कोर 167 रन था. गंभीर के आउट होने के बाद जल्दी जल्दी और तीन विकेट गिए गए. कप्तान धोनी ने 34, रैना ने नौ और जडेजा ने पाँच रनों का योगदान दिया. सातवे विकेट के रुप में 201 रनों के योग पर जडेजा का विकेट गिरा था.

ऑस्ट्रेलिया की गेंदबाज़ी काफ़ी सधी हुई रही. वॉस्टन और जोहांसन ने दो-दो और ब्रेट ली, सिड्डल और वोग और हौरिट्ज़ ने एक-एक विकेट लिए.

ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ी

ऑस्ट्रेलिया के 292 रनों में पोंटिंग और हसी ने क्रमश 74 और 73 रन बनाए.

ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करने का फ़ैसला किया.लेकिन दूसरे ही ओवर में उसे झटका लगा जब शेन वाटसन नेहरा की गेंद पर पाँच रन बनाकर आउट हो गए.

इसके बाद कप्तान रिकी पोंटिंग और टिम पेन ने मिलकर खेल को आगे बढ़ाया और स्कोर को 100 के पार ले गए. पेन ने अपना अर्धशतक भी पूर किया.

दोनों के बीच अच्छे साझेदारी चली लेकिन जैसे ही पेन का अर्धशतक पूरा हुआ वे ईशांत शर्मा की गेंद पर आउट हो गए. उन्होंने नौ चौके लगाए.

लेकिन पोंटिंग डटे रहे और खूब चौके-छक्के लगाए. वे 30वें ओवर में 74 के स्कोर पर रविंदर जडेजा की गेंद का शिकार बने. उस समय ऑस्ट्रेलिया का स्कोर था तीन विकेट पर 151 रन.

लेकिन आउट होने से पहले पेन और पोंटिंग ने ऑस्ट्रेलिया को अच्छी स्थिति तक पहुंचा दिया था.

पोंटिंग के बाद कैमरून व्हाइट और माइक हसी ने कमान संभाली और अपनी टीम के लिए जल्दी-जल्दी रन बटोरे. कैमरून 43वें ओवर में 50 रन बनाकर नेहरा की गेंद पर आउट हो गए. अंतिम ओवरों में माइक हसी ने अच्छे खेल का प्रदर्शन किया और 50वें ओवरों में 73 रन ठोके. पूरी टीम ने 50 ओवरों में आठ विकेट पर 292 रन बनाए

दोनों देशों के बीच सात एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला का ये पहला मैच.ऑस्ट्रेलिया की टीम विश्व रैंकिंग में नंबर एक पर है.

संबंधित समाचार