सचिन का एक और रिकॉर्ड

  • 5 नवंबर 2009
सचिन तेंदुलकर
Image caption तेंदुलकर के रिकॉर्डों की फ़ेहरिस्त लंबी होती जा रही है

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने एकदिवसीय मैचों में 17 हज़ार रन पूरे कर लिए हैं.

हैदराबाद में खेले जा रहे एकदिवसीय मैच में उन्होंने बेन हिलफ़ेनहाउस की गेंद पर तीन रन बनाकर ये आँकड़ा पार किया.

उनके ये स्कोर छूते ही पूरे स्टेडियम में लोग जोश से भर गए और तालियाँ बजाकर उनका स्वागत किया.

मोहाली वनडे मैच में वो 40 के निजी स्कोर पर आउट हो गए थे और इस मैच में उन्हें महज़ सात रनों की ज़रूरत थी.

सचिन ने 17 हज़ार रनों की इस यात्रा में हैदराबाद वनडे से पहले तक 44 शतक और 91 अर्द्धशतक जड़े हैं.

वनडे में निजी स्कोर के मामले में सचिन अपने प्रतिद्वन्द्वियों से कहीं आगे हैं.

सचिन के बाद दूसरे नंबर पर श्रीलंका के सनत जयसूर्या हैं जिन्होंने 13,377 रन बनाए हैं.

तीसरे नंबर पर ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पॉन्टिंग 12,286 रनों के साथ हैं.

सचिन के इतने रनों के साथ ही उल्लेखनीय ये भी है कि उन्होंने लगभग 44 रनों के औसत से ये रन बनाए हैं.

सचिन ने ये रिकॉर्ड अपने क्रिकेट करियर 20वें साल में बनाया है और हैदराबाद वनडे उनका 435वाँ एकदिवसीय मैच है.

सचिन का ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध भी प्रदर्शन अच्छा रहा है. उन्होंने 66 एकदिवसीय मैचों में 2800 से ज़्यादा रन बनाए हैं, जिनमें हैदराबाद वनडे से पहले तक आठ शतक शामिल हैं.

उधर टेस्ट में भी सचिन का कोई मुक़ाबला नहीं है. उन्होंने 159 मैचों में 12,773 रन बनाए हैं.

उसमें 42 शतक और 53 अर्द्धशतक शामिल हैं.

मगर इन सभी रिकॉर्डों के बीच सचिन हमेशा कहते रहे हैं कि उनके लिए ज़्यादा ज़रूरी भारत को मैचों में जीत दिलवाना है इसलिए हैदराबाद वनडे में टीम को जीत दिलाकर ही शायद सचिन वास्तव में ये ख़ुशी मना सकेंगे.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार