मुंबई में भारत मज़बूत स्थिति में

  • 5 दिसंबर 2009
भारतीय टीम

मुंबई टेस्ट में श्रीलंका के कप्तान कुमार संगकारा मैच बनाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं लेकिन भारत का पलड़ा भारी है.

चौथे दिन के खेल की समाप्ति पर श्रीलंका ने अपनी दूसरी पारी में छह विकेट के नुक़सान पर 274 रन बना लिए हैं.

लेकिन श्रीलंका की टीम भारत को पहली पारी के आधार पर मिली बढ़त से अब भी 59 रन पीछे हैं.

श्रीलंका के कप्तान कुमार संगकारा शानदार शतक लगा चुके हैं और अब भी पिच पर डटे हुए हैं.

साथी नहीं

लेकिन टीम का उनका कोई भी साथी लंबे समय तक उनका साथ नहीं निभा पा रहा है. उनके साथ नुवान कुलशेखर नौ रन बनाकर नाबाद हैं.

Image caption संगकारा ने 21वाँ टेस्ट शतक लगाया

चौथे दिन का खेल जब शुरू हुआ, उस समय श्रीलंका की टीम का स्कोर था बिना किसी नुक़सान के 11 रन.

लेकिन खेल शुरू होने के थोड़ी देर बाद ही भारत को तिलकरत्ने दिलशान का अहम विकेट मिल गया. पहली पारी में शतक लगाने वाले दिलशान इस बार 16 रन ही बना सके.

उनका विकेट मिला भज्जी को. परनविताना और कप्तान संगकारा टीम का स्कोर 119 तक ले गए. लेकिन इसी स्कोर पर श्रीसंत ने परनविताना को एलबीडब्लू आउट कर दिया.

पारी लड़खड़ाई

परनविताना ने 54 रन बनाए. इसके बाद श्रीलंका की पारी लड़खड़ा गई. महेला जयवर्धने ने 12 रन बनाए तो समरवीरा अपना खाता भी नहीं खोल पाए.

Image caption ज़हीर ख़ान ने दो विकेट लिए

एंजेलो मैथ्यूज पहली पारी में शतक से चूक गए थे. लेकिन इस पारी में उनका योगदान सिर्फ़ पाँच रनों का रहा.

प्रसन्ना जयवर्धने भी 32 रन बनाकर आउट हो गए. भारत की ओर से ज़हीर ख़ान और प्रज्ञान ओझा ने दो-दो विकेट लिए. श्रीसंत और हरभजन सिंह को एक-एक विकेट मिला.

श्रीलंका की टीम ने पहली पारी में 393 रन बनाए थे. जवाब में भारत नौ विकेट पर 726 रन बनाकर पारी समाप्त घोषित कर दी थी.

इस तरह पहली पारी के आधार पर भारत को 333 रनों की महत्वपूर्ण बढ़त हासिल हुई थी.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार