सच हुआ धोनी का सपना

धोनी
Image caption धोनी ने माना कि स्थान बनाए रखना कठिन

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा है कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष स्थान हासिल करने से उनका सपना तो ज़रूर पूरा हुआ है लेकिन यह स्थान बनाए रखना काफ़ी कठिन है.

भारत ने मुंबई टेस्ट में श्रीलंका को एक पारी और 24 रनों से हराकर न सिर्फ़ दो टेस्ट मैचों की सिरीज़ 2-0 से जीती बल्कि टेस्ट रैंकिंग में टॉप स्थान भी हासिल कर लिया.

मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कप्तान धोनी ने कहा, "यह एक सपना था, जो पूरा हुआ है. दरअसल हमें तो हर मैच अच्छे से खेलना है, रैंकिंग तो अपने आप बन जाती है. ये पिछले 18 महीनों से अच्छे खेल का नतीजा है. इस दौरान हमने जितने भी टेस्ट मैच खेले, अच्छे से खेले. यह पूरी टीम की कोशिश का फल है."

हालाँकि धोनी ने यह भी स्वीकार किया कि नंबर वन स्थान बनाए रखना काफ़ी कठिन है, ख़ासकर ऐसी स्थिति में जब भारतीय टीम को छह महीने में सिर्फ़ दो टेस्ट मैच खेलने हैं.

गदगद सचिन

दूसरी ओर नंबर वन रैंकिंग हासिल करने से गदगद मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने कहा है कि मौजूदा भारतीय टीम अब तक की सर्वश्रेष्ठ रही भारतीय टीमों में से एक है.

तेंदुलकर ने इस स्थिति तक पहुँचने के लिए टीम के मौजूदा कोच गैरी कर्स्टन की तो सराहना की है, टीम के गेंदबाज़ी कोच रहे वेंकटेश प्रसाद और फ़ील्डिंग कोच रहे रॉबिन सिंह के योगदान को भी याद किया.

वेंकटेश प्रसाद और रॉबिन सिंह को ट्वेन्टी-20 विश्व कप के बाद अक्तूबर में हटा दिया गया था.

सचिन ने कहा, "इसका श्रेय टीम के कोच गैरी कर्स्टन, उनके सहयोगी पैडी अप्टन के साथ-साथ वेंकटेश प्रसाद और रॉबिन सिंह को भी जाता है. टीम ने भी मिल-जुलकर अच्छा प्रदर्शन किया."

सचिन ने कहा कि पूरा देश अपनी टीम को टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर देखना चाहता था, इसलिए इस स्थान पर आकर काफ़ी अच्छा महसूस हो रहा है.

भारत की राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने भारतीय टीम को बधाई दी है. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष शशांक मनोहर ने भी भारतीय टीम को बधाई दी है.

संबंधित समाचार