पहला टी-20 श्रीलंका के नाम

श्रीलंकाई टीम
Image caption श्रीलंका ने भारत को 29 रनों से हराया

नागपुर में खेले गए पहले टवेन्टी-20 मैच में भारत 29 रनों से हार गया है. भारत निर्धारित 20 ओवरों में नौ विकेट खोकर 186 रन ही बना सका.

इससे पहले भारत ने टॉस जीतकर फ़ील्डिंग करने का फ़ैसला किया.

श्रीलंका ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए भारत के सामने जीत के लिए 216 रनों का लक्ष्य रखा था.

भारत की ओर से गौतम गंभीर के सिवा किसी भी खिलाड़ी ने बहुत अच्छा प्रदर्शन नहीं किया है. उन्होंने टी-20 का दूसरा सबसे तेज़ अर्धशतक 19 गेंदों में पूरा किया. उन्होंने 22 गेंदों पर 55 रनों का योगदान दिया.

सस्ते में पाँच विकेट

Image caption गौतम गंभीर ने टी-20 में दूसरा सबसे तेज़ अर्धशतक जड़ा है

भारतीय पारी की शुरुआत सहवाग और गंभीर ने की. पहला विकेट सहवाग के रुप में जल्दी ही गिर गया था. उन्होंने 14 गेंदों में 26 रन बनाए, उन्हें कुलसेखरा ने आउट किया.

जब भारत का दूसरा विकेट गौतम गंभीर के रुप में 93 रन पर गिरा , तो उस समय भारत मज़बूत स्थिति मे था, लेकिन उसके बाद छह रन ही बने थे कि धोनी भी आउट हो गए. फिर ये सिलसिला और तेज़ हो गया.

धोनी के बाद पाँच रन बनने ही थे कि रोहित शर्मा पविलियन लौट गए तो एक रन बाद ही युवराज सिंह ने भी अपना विकेट खो दिया. अगले दस रन बाद पठान ने अलविदा कहा और फिर क्या था सुरेश रैना भी नहीं चल सके. अर्थात भारत के 93 और 129 रन के बीच पाँच विकेट गिरे. रैना ने 21 और नेहरा ने 22 रनों का योगदान दिया.

धोनी ने बहुत ही ख़राब खेल का प्रदर्शन किया, उन्होंने 12 गेंदों में नौ रन बनाए.

भारत की ओर से गौतम गंभीर टी-20 में दूसरा सबसे तेज़ अर्धशतक बनकर एडी मैथ्यूज़ के गेंद पर आउट हुए, उन्होंने 19 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया. गंभीर ने 26 गेंदों में 55 रनों का योगदान दिया. जिसमें 11 चौके शामिल हैं.

दिलचस्प बात ये है कि जबतक गंभीर क्रीज़ थे तो ऐसा लग रहा था कि ये मैच भारत आसानी से जीत जाएगा, लेकिन उनके आउट होने के साथ ही हार के आसार दिखने लगे.

श्रीलंका की ओर से सबसे अच्छी गेंदबाज़ी जयसूर्या की रही, उन्होंने चार ओवर में 19 रन देकर दो विकेट लिए, एडी मैथ्यूज़ ने भी दो विकेट चटकाए, जबकि कुलसेखरा, पुष्पकुमार और दिशान तिलतरत्ने के हिस्से में एक-एक विकेट आया.

अच्छी बल्लेबाज़ी

इससे पहले श्रीलंका ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए निर्धारित 20 ओवरों में 215 बनाए. श्रीलंका ने ये स्कोर पाँच विकेट के नुक़सान पर बनाया.

श्रीलंका की ओर से सबसे बेहतरीन बल्लेबाज़ी कुमार संगाकार ने की और उन्होंने 37 गेंदों का सामना करके 78 रन बनाए. संगकाराने 11 चौकों और दो छक्कों की मदद से ये रन जुटाए.

Image caption संगकारा ने 78 रनों का योगदान दिया

टी-20 में ये उनका सबसे बड़ा स्कोर है. वो अपनी पारी की आख़िरी गेंद पर रन आउट हो गए.

श्रीलंका की ओर से कापुगेदरा, दिलशान तिलकरत्ने और जयसूर्या ने अच्छी बल्लेबाज़ी की.

पहले विकेट के रुप में जयसूर्या ने 26 रनों को योगदान दिया. वहीं दूसरे विकेट के रुप में तिलकरत्ने ने 34 रनों का योगदान दिया. दूसरा विकेट उस समय गिरा जब टीम का स्कोर 117 रन था.

तीसरा विकेट जल्दी गिर गया. टीम का स्कोर 126 रन पहुँचा था कि माहेला जयवर्धने के रुप में तीसरा विकेट गिर गया.

चौथा विकेट उस समय गिरा जब टीम का स्कोर 195 रन था. कापुगेदरा ने 20 गेदों में 47 रनों का योगदान दिया. जिसमें उनके सात चौके और एक छक्के शामिल हैं.

पाँचवा विकेट तब गिरा जब आख़िरी गेंद पर संगकारा रन आउट हो गए. सबसे बड़ी साझेदारी दिलशान और संगकारा की रही. उन्होंने 74 रनों की साझेदारी की.

पाँचवां ओवर सबसे महंगा साबित हुआ है. इस ओवर में श्रीलंका ने पाँच चौकों की मदद से 22 रन बनाए. आख़िरी ओवर में भी श्रीलंका ने 20 रन जोड़े.

भारतीय खिलाड़ियों ने ख़राब फ़ील्डिंग का प्रदर्शन किया. चौथे ओवर में उस समय जयसूर्या को एक जीवनदान मिला जब युवराज उनका एक आसान कैच पकड़ने में असफल रहे.

भारत की ओर से सबसे अच्छी गेंदबाज़ी रोहि्त शर्मा की रही, उन्होंने तीन ओवर में 22 रन देकर एक विकेट लिया. डिंडा, पठान और नेहरा ने एक-एक विकेट लिए.

संबंधित समाचार